Headline • राफेल पर राहुल का पीएम मोदी पर वार, कहा- 'चौकीदार ने अनिल अंबानी से चोरी करवाई'• मैनपुरी : चाचा ने नाबालिग भतीजी के साथ किया दुष्कर्म• कच्ची शराब का विरोध करना पड़ा भारी,दबंगों ने तोड़ दिया महिला का पैर• शादी के 20 साल बाद पति ने खत भेजकर पत्नी को दिया तीन तलाक• गोरखपुर: धोखाधड़ी के मामले में भाई के साथ गिरफ्तार हुए डॉ. कफील खान• '67 साल में 65 एयरपोर्ट बने, हमने चार साल में 35 बनाए'• अमेठी : दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे राहुल गांधी, की शिव की पूजा, देखें वीडियो • 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' से सामने आया आमिर खान का लुक • पीएम मोदी ने किया सिक्किम के पहले हवाई अड्डे का उद्घाटन• अमेठी : दौरे से पहले लगे राहुल गांधी के 'शिव भक्त' वाले पोस्टर• मुरादाबाद में महिला की गोली मारकर हत्या, 4 पर मुकदमा दर्ज• गाजियाबाद : दबंगों ने किया दलित परिवार पर हमला, आरोप- झाड़ू-पोछा और गाड़ी साफ करने का दबाव बनाते हैं सोसाइटी के कुछ लोग• बुलंदशहर : खड़े ट्रक में घुसी रोडवेज बस, दो की दर्दनाक मौत, 2 दर्जन यात्री घायल• गोरखपुर : शोहदों और गुंडों का आतंक, स्कूल पर लगा ताला• अाज से दो दिवसीय अमेठी दौरे पर रहेंगे राहुल गांधी, जानिए मिनट-टू-मिनट कार्यक्रम • अस्पतालों में बच्चों की मौत पर योगी के मंत्री का शर्मनाक बयान, कहा- मां-बाप है जिम्मेदार• पत्रकार सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे 'समाचार प्लस' के CEO उमेश कुमार• पीएम मोदी ने किया दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना आयुष्मान भारत का शुभारंभ• सपा की साइकिल यात्रा के समापन पर एक साथ दिखे अखिलेश और मुलायम सिंह यादव • गोरखपुर : सीएम योगी ने किया 'आयुष्मान भारत योजना' का शुभारंभ • महंत नृत्य गोपालदास बोले- 'राम मंदिर का निर्माण नहीं कराया तो भाजपा और मोदी के लिए घातक होगा'• गोरखपुर : बाइक को टक्कर मारने के बाद जीप पलटी, 3 की दर्दनाक मौत, 5 घायल• बीजेपी के कार्यक्रम में बार-बालाओं ने किया डांस,सांसद बाबू लाल के स्वागत में लगे ठुमके• आज से शुरू होगी आयुष्मान भारत योजना,पीएम मोदी झारखंड से करेंगे शुभारंभ• आगरा में दर्दनाक सड़क हादसा, चार लोगों की मौत


देवबन्दः गैगरेप पीड़ित महिला ने इंसाफ न मिलने से परेशान होकर परिवार सहित धर्म परिवर्तन करने की चेतावनी दी है। गैगरेप पीड़ित महिला ने आरोप लगाते हुए बताया कि उसके साथ देवबंद कोतवाली में पूर्व में तैनात तीन पुलिसकर्मियों ने घर से बुलाकर कोतवाली के पीछे कमरे में ले जाकर उसके साथ गैगरेप किया।

पीड़ित महिला के साथ घर से आईं उसकी सास को पुलिस ने कोतवाली में बैठा दिया। पीड़ित महिला व उसकी सास ने आरोपियों के खिलाफ आलाधिकारियों से शिकायत की थी, पीड़ित महिला ने बताया कि जब उसकी कही सुनवाई नहीं हुई तो उसने न्यायालय का दरवाज़ा खटखटाया।

न्यायालय के आदेश पर मुकदमा दर्ज हो गया। उच्च न्यायालय ने सीबीसीआईडी  को पीड़ित महिला की जांच सौप दी। पीड़ित महिला ने आरोप लगाया है कि जांच करने आये सीबीसीआईडी के अधिकारियों ने जांच सही नहीं की।

पीड़ित महिला का कहना है कि आरोपी उसके पति को झूठे मुकदमे में फंसाने की साजिश भी कर चुके हैं। इंसाफ के लिए दर दर की ठोकरे खाने के बाद पीड़ित महिला का कहना है कि अगर उसे इंसाफ नहीं मिला तो वह अपने परिवार के साथ इस्लाम धर्म कबूल कर लेंगी। 

पीड़ित महिला ने कहा कि इस्लाम धर्म में तलाक का मामला तो है रेप का मामला तो नहीं है।

बदायूं: भारत सरकार जहां हर गांव को बिजली देने का दावा कर रही है और सौभाग्य योजना लागू कर हर घर को रोशन किया जा रहा है, वहीं बदायूं में एक गांव ऐसा भी जो बिजली के खम्बे और उसके बाद घरों में मीटर लग जाने के बाद भी विगत चार साल से बिजली की रोशनी देखने को तड़प रहा है।

वह भी जिलाधिकारी कार्यालय से महज 500 मीटर की दूरी पर। डीएम कहते है कि जनपद के सभी 2134 गांवों तक इस वर्ष के अंत तक बिजली पहुंचा दी जाएगी। 

डीएम के कार्यालय से महज 500 मीटर की दूरी पर बसा गांव मौजमपुर नेहनगर मीरा की पट्टी के ग्रामीण आजादी के 70 वर्ष के बाद भी बिजली की रोशनी देखने को तरस रहे हैं। यह हाल तब है जब भारत सरकार दावा करती है कि देश के सभी गावों में  बिजली पहुंचा दी गई है।

ग्रामीणों का कहना है कि प्रदेश में सरकार आई और गई, दावा सभी दलों के नेताओं ने किया लेकिन पूरा किसी ने नहीं किया। बसपा सरकार बनी तब गांव में खम्बे खड़े कर दिए गए थे, जब समाजवादी सरकार आई तो उन खम्बों पर बिजली के तार खींच दिए गए थे और अब बीजेपी की सरकार आई है तो घरों में उज़्जवला योजना के तहत बिजली के मीटर लगा दिए गए लेकिन बिजली नसीब फिर भी नहीं हुई। गांव की गुड्डो देवी कहती हैं कि बिजली न होने की वजह से गांव में लड़कों की शादी भी नहीं होती है बड़ी संख्या में लोग कुंवारे है। 

गांव के युवा कहते हैं कि बिजली की वजह से उनकी पढ़ाई भी नहीं हो पाती है। उन्हें अपना मोबाइल भी चार्ज करने गांव से शहर जाना पड़ता है। गांव के बच्चे भी दिए की रोशनी में शाम गुजार देते हैं। 

भीषण गर्मी में महिलाओं से लेकर बुजुर्गों के हाथों में हाथ के पंखे देखे जा सकते हैं। गांव के बच्चे भी एक हाथ में किताब और दूसरे हाथ में पंखा लेकर पढ़ाई करते हैं। 

डीएम का कहना है कि बिजली पहुंचाने का ठेका बजाज कम्पनी को किया जा चुका है और वे खुद इसकी मॉनिटरिंग कर रहे हैं। 

 

मेरठ. यूपी के मेरठ में जुए में रुपयों को लेकर विवाद में दो संप्रदाय के लोग आपस में लड़ गए। दोनों पक्षों में जमकर खूनी संघर्ष हुआ ।जिसमें आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। इतना ही नहीं बेखौफ लोग थाने पर ही भिड़ गए। जिसके बाद पुलिस ने मौके पर लाठीचार्ज कर दिया और भीड़ को दौड़ा दिया।

-दरअसल, यह घटना मेरठ के थाना देहली गेट क्षेत्र के पत्ता मोहल्ला की है।

-जहां पर कुछ दिन पहले भी इन्हीं लोगों में जुए को लेकर विवाद हुआ था। जब एक पक्ष ने दूसरे पक्ष के पिटाई कर दी थी। उसी मामले में रंजिश को लेकर आज फिर दोनों पक्ष आपस में भिड़ गए ।दोनों तरफ से लाठी डंडे चले ।दोनों की तरफ से करीब आधा दर्जन लोग घायल हो गए ।जिसके बाद कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची। लोगों ने कार्रवाई की मांग को लेकर थाने में ही हंगामा शुरू कर दिया। जिसके बाद इस मामले में सांप्रदायिक रंग ले लिया और फिर दोनों संप्रदाय के लोग थाने पर ही भिड़ गए। कुछ देर तक पुलिस तमाशबीनों की तरह दोनों पक्षों की झड़प देखती रही। लेकिन बाद में पुलिस ने लाठीचार्ज करके भीड़ को दौड़ा दिया। थाने पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया।

-वहीं दूसरे समुदाय के लोग भी कार्रवाई की मांग को लेकर अड़े रहे।

-हालांकि बड़ा सवाल यह है कि इलाके में जुए सट्टे को लेकर आए दिन बवाल रहता है। लेकिन उसके बावजूद भी पुलिस ऐसे मामलों पर लगाम कसने को तैयार नहीं है ।

हल्द्वानी. बीते सोमवार को गोरापडाव मे हुई महिला पूनम पांडे की हत्या के मामले को पुलिस मुख्यालय ने भी बडी चुनौती के रूप मे लिया है, बावजूद इसके पुलिस के हाथ अब तक खाली है, जिसके चलते आईजी लॉ एण्ड आर्डर दीपम सेठ और एसएसपी एसटीएफ रिद्धिम अग्रवाल दो दिन से हल्द्वानी में ही डेरा डाले हुए है और घटना के जल्द खुलासे को लेकर देर रात तक आईजी कुमाऊं, एसएसपी सहित पुलिस टीम के साथ मामले के पल पल की अपडेट ले रहे है।

-आईजी लॉ एण्ड आर्डर दीपम सेठ का कहना है कि पुलिस टीम द्वारा अब तक करी गई जांच लोकल लोगों के शामिल होने की तरफ इशारा कर रही है, एसओजी और एसटीएफ द्वारा एक लाख से अधिक मोबाईल फोन की कॉल डिटेल खंगाली गई है। जिसके बाद सैकड़ों लोगों से अब तक पूछताछ हो चुकी है, जिसमें पुलिस को कुछ अहम सुराग हाथ लगे है।

-वहीं मृतका के घर से चोरी हुई 64 हजार नकदी, ज्वैलरी घर से मिली है, वहीं घर से गायब स्कूटी को भी पुलिस ने जंगल से बरामद कर लिया है, सबसे अहम बात ये है की मृतका की बेटी की वीडियो जो की सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। उसकी भी एसटीएफ द्वारा गहनता से जांच की जा रही है और वीडियो वायरल करने वालों से पूछताछ कर उस स्थान को भी देखा जायेगा। जहां उस वीडियो को बनाया गया, उन्होंने जल्द घटना के खुलासे का भी दावा किया, हम आपको बता दें की घटना में 2 से 3 लोगों के होने की बात सामने आ रही है।

फर्रुखाबादः जब दूसरे शहरों में दिन में जिला आपूर्ति कार्यालय खुलता है तो यहां यह दफ्तर रात में खुलता है। पिछले तीन सालों से यूनिटों की कटिंग और आधार कार्डों के आनलाइन के नाम पर गरीब- गुरबों और विधवाओं को परेशान करने वाला जिला पूर्ति अधिकारी का दफ्तर राशन कार्डों का साफ सुथरा हिसाब नहीं बना पाया है।

ऐसे में सवाल उठता है कि ऐसा कौन सा काम है जो रात के अंधेरे में निपटाया जाता है। कलक्ट्रेट से दफ्तर के पोस्टमार्टम हाउस परिसर शिफ्ट होने के बाद पूरी तरह से आज़ाद हो चुके जिला पूर्ति अधिकारी पर किसी की नकेल नहीं है।

रात 11 बजे जिला पूर्ति अधिकारी का कार्यालय खुला मिला है। बाहर अवैध असलहों से लैस युवक पहरा दे रहे थे और अन्दर गोरख धंधा जारी था।

पोस्ट मार्टम हाउस के परिसर में चलने वाला यह फर्रुखाबाद जिला पूर्ति अधिकारी का दफ्तर है जिस पर रात में तो दूर दिन में किसी की नजर नहीं रहती। केवल यूनिट कटिंग और आधार कार्ड फीडिंग के नाम पर परेशान की जा रही महिलाएं ढूंढ़ते- ढूंढ़ते यहां आती हैं और कई दिन दौड़ कर फिर किसी क्लिक का झंझट न झेलने के लिए भगवान से प्रार्थना करती हैं।

यही दफ्तर बीती रात फिर खुला मिला है। ऐसा भी नहीं  था कि घंटे- दो घंटे का काम पिछड़ जाने पर अतिरिक्त काम करने के लिए दफ्तर खोल लिया गया हो, ऐसा भी नहीं था कि पीएम- सीएम के दौरे को लेकर कोई फाइलें सुसज्जित की जा रही हों। स्टाफ को रात के लिए रोका गया था, उससे काम भी नहीं लिया जा रहा था।

उसमें से आधा दर्जन युवा कर्मचारी अवैध असलहों से लैस होकर दफ्तर के बाहर पहरा दे रहे थे। दफ्तर से सभी से परिचित होने के बावजूद अंदर जाना खतरे से खाली नहीं था। अब देखने वाली बात यही होगी कि पिछले दिनों घोटाले की सैकड़ों फाइलों को आग के हवाले किये जाने के बाद भी चेहरा चिकना किये घूम रहे जिला पूर्ति अधिकारी पर क्या प्रशासन कोई कार्रवाई करता है या फिर यहां मनमानी करने देने के लिए आँखें घुमा लेता है।

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: