Headline • राजस्‍थान का गुर्जर आंदोलन शनिवार को खत्म• पुलवामा आतंकी हमले पर सर्वदलीय बैठक शुरू• PM मोदी का ऐलान: आतंकियों की बहुत बड़ी गलती चुकानी होगी कीमत• गांधीजी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा सचिव पूजा पांडे को मिली जमानत• कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती विस्फोट 41 सीआरपीएफ जवानों की मौत• राजीव सक्सेना को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 22 फरवरी तक मिली अंतरिम जमानत • सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल और एलजी विवादों पर अपना फैसला सुनाया• केसरी: अक्षय कुमार अभिनीत ऐतिहासिक ड्रामा का पहला झलक वीडियो रिलीज़ • पीएम मोदी ने हरियाणा में की विकास परियोजनाओं की शुरुआत • राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मोदी सरकार पर जुबानी जंग • मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में SC ने राव के माफ़ी नामे को किया अस्वीकार लगाया 1 लाख का जुर्माना• आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर आंदोलन उग्र • शराब पर राजनीति: त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुख्यमंत्री पद का इस्तीफा देने की मांग• आ रही हूँ यूपी लूटने- वाराणसी में प्रियंका वाड्रा के खिलाफ लगाए गए पोस्टर• PM मोदी ने 300 करोड़ के भोजन वितरण पर मथुरा वासियो को किया सम्बोधित • आंध्र प्रदेश में PM का विरोधी पोस्टरों से स्वागत, उपवास पर बैठे चंद्रबाबू नायडू • J&K: हिमस्‍खलन के बाद फसे पुलिसकर्मियों की तलाश जारी • SC ने तेजस्वी यादव को पटना में सरकारी बंगला खाली करने का दिया आदेश • इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश के राज्य कर्मचारियों की हड़ताल को अवैध ठहराया • राहुल गांधी ने राफेल डील को लेकर PM मोदी पर सादा निशाना • ममता के धरने में शामिल होने वाले अधिकारियों पर गिर सकती है गाज• मुजफ्फरपुर आश्रय गृह में यौन उत्पीड़न: सुप्रीम कोर्ट ने बिहार से दिल्ली ट्रांसपर किया मामला• शेर से भिड़ा युवक, आत्मरक्षा के लिए शेर को ही मार डाला• PM मोदी 15 फरवरी को पहली स्वदेशी इंजन रहित वंदे भारत एक्सप्रेस को दिखाएंगे हरी झंडी • मनी लॉन्ड्रिंग केस: रॉबर्ट वाड्रा आज फिर पहुंचे ED दफ्तर


देहरादूनः उत्तराखण्ड के हाईप्रोफाइल एनएच 74 घोटाले में 545 दिनों की एसआईटी जांच के बाद आखिरकार मंगलवार को त्रिवेंद्र सरकार ने दो आईएएस अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया। बताया जाता है कि सरकार ने यह कार्रवाई एनएच 74 घोटाले में जांच रिपोर्ट के आधार पर की है। 

सरकार के फैसले के बाद से ही देहरादून से लेकर जिला मुख्यालय रुद्रपुर में अधिकारियों में हडकंम्प मचा हुआ है। गौरतलब है कि मार्च 2017 में कुमाऊ कमिश्नर को शिकायत मिल रही थी कि एनएच-74 में भूअधिग्रहण को लेकर बड़ा गोलमाल चल रहा है, जिसको लेकर 1 मार्च को तत्कालीन कुमाऊं कमिश्नर डी सिन्थिल पांड्यन उधम सिंह नगर जिला मुख्याल पहुंचे थे।

उन्होंने अधिकारियों संग बैठक कर एनएच-74 में वर्ष 2011 से 2016 की फाइलों को तलब किया जिसके बाद एक जांच कमेटी बैठाई गई। 8 दिनों के भीतर जांच रिपोर्ट देने को कहा गया जांच के दौरान टीम को करोड़ की हेर फेर के अहम दस्तावेज हाथ लगे जिसके बाद कुमाऊ कमिश्नर के निर्देश के बाद 10 मार्च को अपर जिलाधिकारी प्रताप सिंह शाह द्वारा पन्तनगर थाने में मुआवजे घोटाले को लेकर मुकदमा दर्ज करवाया गया।

10 मार्च को कुमाऊ कमिश्नर द्वारा जांच रिपोर्ट शासन को भेजी गई थी। मामले में उच्च स्तरीय जांच कराने के लिए भी प्रस्ताव बनाया गया। 10 मार्च को ही कुमाऊ कमिश्नर के नेतृत्व में जांच कमेटी का गठन किया गया, जिसमें लगभग 200 करोड़ का घपला सामने आया।

18 मार्च को सीएम त्रिवेंद्र रावत ने मुख्यमंत्री की शपथ लेते ही आधा दर्जन पीसीएस अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया। इस मामले की जांच एसआइटी को सौंपी गई थी। साथ ही केंद्र सरकार को सीबीआई जांच की संस्तुति दी गई थी।

26 मई को एनएचआई के चेयरमैन युद्धवीर सिंह का उत्तराखंड के मुख्य सचिव एस रामास्वामी को फोन किया, जिसमे उन्होंने धमकी दी कि अगर इस तरह से एनएचआई के अधिकारियों के खिलाफ जांच चलती रही तो वह एनएचआईए के सभी प्रोजेक्ट उत्तराखंड में रोक देंगे। 

1 जून 2017 तत्कालीन कुमाऊ कमिश्नर का ट्रांसफर कर दिया गया। एसआइटी की जांच पुलिस को ट्रांसफर कर दिया गया। पुलिस कप्तान द्वारा एएसपी कमलेश उपाध्याय के नेतृत्व में एसआईटी गठित की गई।

 

हरदोई : यूपी के हरदोई जिले में चलती ट्रेन में एक युवक का स्टंट वीडियो वायरल हो रहा है। इस स्टंट को देखकर रौंगटे खड़े हो रहे हैं। इस सटंट को करते वक्त अगर जरा सी चूक होती तो जान भी जा सकती थी, लेकिन  युवक बेधड़क होकर चलती ट्रेन में स्टंट कर रहा है। वीडियो वायरल होने के बाद युवक को आरपीएफ ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। 

-आरपीएफ के मुताबिक, जो युवक वायरल वीडियो में दिखाई दे रहा है वह एक चोर है और ये कोई स्टंट नहीं है इसके चोरी करने का तरीका है । जिसके चलते ये रेलवे पुलिस के लिए एक रहस्य बना हुआ था ।

-अक्सर आरपीएफ ने चोरी की शिकायत होने पर चलती ट्रेन में सघन तलाशी की लेकिन इसके खतरनाक तरीके की वजह से पकड़ में नहीं आता था ।

-ये चलती ट्रेन में चोरी करने के बाद चलती ट्रेन में ट्रेन के नीचे छिप जाता था । लेकिन अपना वीडियो बनाना ही इसके पकड़े जाने का कारण बन गया ।

 -इस तरह का स्टंट वायरल करने के बाद जब आरपीएफ ने इस पूरे मामले की छानबीन की तो पता चला कि युवक का नाम अमित कश्यप है और वह कोतवाली हरदोई के मंगलीपुरवा मुहल्ले का रहने वाला है और इसका पेशा ट्रेनों में चोरी करने का है।

-आरपीएफ को इसकी ट्रेन के इंजन से बैटरी चोरी करने के मामले तलाश थी।

वाराणसी. उत्तर प्रदेश में सरकारी से लेकर गैर सरकारी कोई भी अब सुरक्षित नहीं रहा है शायद यही वजह है कि कभी पुलिस पर हमला हो रहा है तो कभी चलती ट्रेन में टीटीई को पीटा जा रहा है। ऐसा ही एक दबंगई का मामला आज वाराणसी में देखने को मिला है। यहां पर लखनऊ से मुगलसराय के लिए जा रही पंजाब मेल एक्सप्रेस ट्रेन में एक टीटी भूर सिंह मीणा को कुछ दबंगों ने सिर्फ इसलिए बुरी तरह से लाठी-डंडों से पीट दिया क्योंकि उसने ट्रेन में चढ़े इन युवकों से टिकट मांग ली थी। फिलहाल, जीआरपी कैंट ने तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

-घायल TTE भूर सिंह मीणा ने बताया कि वह लखनऊ में पोस्टेड है और आज पंजाब मेल ट्रेन से मुगलसराय के लिए ड्यूटी पर तैनात थे।

-इस दौरान स्लीपर क्लास में जब वह टिकट की चेकिंग कर रहे थे।इस बीच ट्रेन में सवार तीन युवक उनके सामने आए।

-उन्होंने तीनों युवकों से टिकट मांगी तो वह लोग उनसे उलझ गए। मामला कहासुनी के बाद शांत हो गया और TTE भी वहां से जाकर एसी बोगी के बाहर खड़े होकर अपना काम करने लगे।

-TTE का कहना है कि इसी बीच तीनों युवक वहां पहुंचे और हाथों में डंडा लेकर उनसे उलझ पड़े हाथापाई के बाद तीनों युवकों ने पीछे से उनके ऊपर डंडे से एक के बाद एक कई बार वार किए और चेहरे पर भी बुरी तरह से मार।

-जब तक TTE को समझ पाते तब तक तीनों युवक जंघई रेलवे स्टेशन पर उतर कर भाग निकले। 

-वहीं मामला जंघई स्टेशन का है लेकिन रास्ते में कोई बड़ा स्टेशन ना पड़ने की वजह से वह वाराणसी में उतरे और उन्होंने तीन अज्ञात युवकों के खिलाफ तहरीर दी। जिस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया।

-इस पूरे मामले में जीआरपी कैंट थाने पर तैनात SI का कहना है कि मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और तीनों युवकों की तलाश की जा रही है। 

 

बहराइच : भारत नेपाल सीमावर्ती तराई के जिला बहराइच में दिमागी बुखार का प्रकोप छाया हुआ है। जिला अस्पताल में इन दिमागी बुखार के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही हैं। हालत यह है कि बड़ी तादाद में मासूम बच्चों का इलाज फर्श पर हो रहा है। ऐसे में स्वास्थ्य महकमा मासूमों की जान से खिलवाड़ करता नजर आ रहा है। सीधे तौर पर जिला अस्पताल यह नहीं बताता है कि मष्तिष्क ज्वर के कितने मरीज़ है लेकिन मुख्य चिकित्सा अधीक्षक ने बताया 19 मरीजों के सैम्पल जांच के लिए लखनऊ भेजे गए हैं। जिस तरह मासूमों को फर्श पर लिटाकर इलाज किया जा उससे मासूमों में संक्रमण फैलने का खतरा भी बना हुआ है। लगातार हो रही बच्चों की मौत के बावजूद अस्पताल प्रशासन सबक लेने को तैयार नहीं है। 

जिला अस्पताल में मस्तिष्क ज्वर के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही हैं। इन बच्चों के उपचार को लेकर अस्पताल प्रशासन के हाथ पांव फूल रहे हैं। मासूमों के उपचार में कदम कदम पर लापरवाही बरती जा रही है। आने वाले मरीजो को स्ट्रेचर मिलना तो दूर, हाथ मे मासूम मरीज को लेकर खड़े होने वाले तीमारदारों से चिकित्साकर्मी बात तक करने को तैयार नहीं है ।

 

-अस्पताल के वार्ड में भारी उमस और गर्मी के बीच लोग मासूमों का इलाज कराने को मजबूर है। लेकिन वार्ड में फैली गंदगी से फर्स पर लिटाकर मासूमों का उपचार उनकी जिंदगी पर भारी पड़ सकती है। वार्ड में 6 वर्षीय बच्ची की इलाज के दौरान मौत भी हो गई है । मामले में जब बुजुर्ग तीमारदार से जानकारी लेने का प्रयास किया गया तो उनकी आंखें नम हो गई। लगातार हो रही मौतों के बाद भी जिला अस्पताल प्रशासन की बड़ी लापरवाही उजागर हो रही है।

-हालत यह है कि लोग जूते-चप्पलें पहन कर वार्ड में घूमते रहते है। इससे ये मासूम संक्रामक बीमारियों की चपेट में आ रहे है। 

 

 

नई दिल्ली : फर्जी लेटर ऑफ क्रेडिट से पंजाब नेशनल बैंक के अरबों रुपए निकालने के आरोपी मेहुल चोकसी  ने प्रवर्तन निदेशालय के सभी आरोपों को झूठा करार दिया है।

फ्रॉड का मामला सामने आने के बाद पहली बार वीडियो के जरिए अपना पक्ष रखा। वीडियो जारी कर चोकसी ने कहा कि ईडी ने गलत तरीके से मेरी संपत्ति को जब्त किया है। 

चोकसी ने कहा कि भारत सरकार उसे ’सॉफ्ट टार्गेट’ बना रही है, क्‍योंकि वह ब्रिटेन भाग गए अन्‍य भगोड़ों को प्रत्‍यर्पित नहीं करा पा रही है। चोकसी ने कहा भारत की बैंकिंग प्रणाली में तमाम खामियां हैं। उसने आरोप लगाया कि बैंकर ढंग से काम नहीं करते। 

चोकसी ने कहा कि पीएनबी केस में मुझे बलि का बकरा बनाया जा रहा है। भारत विजय माल्‍या और ललित मोदी के ब्रिटेन से प्रत्‍यर्पण की कोशिश में लगा है। दोनों ही भगोड़ा कानून के तहत भारत में वांछित हैं।

पीएनबी घोटाले पर चोकसी ने कहा- मुझे इस केस की ज्‍यादा जानकारी नहीं है क्‍योंकि बैंकरों से कंपनी के अफसर बातचीत करते थे। चोकसी ने यह भी कहा कि वह पीएनबी घोटाले में जरा भी भरपाई नहीं कर पाएगा क्‍योंकि वह कंगाल हो चुका है। उसकी सारी संपत्ति जब्‍त हो चुकी है।

हाल ही में मेहुल चोकसी ने रेड कार्नर नोटिस जारी करने के खिलाफ इंटरपोल से गुहार लगाई है।

चोकसी की तरफ से रेड कार्नर नोटिस पर उठाई गई आपत्तियों पर भारतीय एजेंसियों की तरफ से जवाब दिया जा चुका है। सूत्रों के अनुसार फ्रांस के लियोन में इंटरपोल कमेटी रेड कार्नर नोटिस पर अक्टूबर में फैसला लेगी। 

:
:
: