Headline • महेंद्र सिंह धोनी ने कहा रिटायर होने तक नहीं बताउंगा अपना सक्सेस मंत्र• अक्षय कुमार ने लिया प्रधानमंत्री का इंटरव्यू, पीएम ने जीता यूजर्स का दिल • अफ्रीका में लॉन्‍च किया दुनिया का पहला मलेरिया का टीका• CJI के खिलाफ आरोप: CBI, IB और दिल्ली पुलिस के ऑफिसर तलब• श्रीलंका में सीरियल ब्लास्ट की जिम्मेदारी, आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली• सीएम सहित रेलवे स्टेशनो को मिली आतंकवाद की धमकी• धोनी की बैटिंग देख विराट बोले- धोनी ने तो हमें डरा ही दिया था• पीएम मोदी के अनुरोध पर शाहरुख खान ने एक मजेदार विडियो बना लोगों से की वोटिंग की अपील • श्रीलंका सीरियल ब्लास्ट: श्रीलंका में अब तक बम धमाकों में मरने वालों की संख्‍या 290 पहुंची • राहुल गांधी का ऐलान सरकार बनी तो राष्ट्रीय बजट के साथ किसानों के लिए करेंगे दूसरा बजट पेश• चुनावी माहौल में ट्विंकल खन्ना ने ली अरविंद केजरीवाल पर चुटकी• बाटला हाउस का जिक्र कर पीएम मोदी ने सादा कांग्रेस पर निशाना • यूएई में आज पहले हिंदू मंदिर का शिलान्यास समारोह• रेल हादसा: कानपुर के पास पूर्वा एक्सप्रेस पटरी से उतरी 100 के करीब लोग घायल • लोकसभा चुनाव 2019: बसपा सुप्रीमो मायावती ने मुलायम के बाद अब आजम खां को दिया समर्थन • विराट सेना' का आज कोलकाता से 'करो या मरो' का मुकाबला• कलंक' स्टार वरुण धवन ने कहा, मुझे असफलता से डर नहीं लगता• सूडान में कैदियों की रिहाई और कर्फ्यू समाप्‍त होने पर अमेरिका ने कि प्रशंसा• 24 साल बाद एक मंच पर दिखें माया-मुलायम• रूस के वैज्ञानिकों का दावा 42 हजार साल पहले दफन घोड़े में मिला खून, अब बनाएंगे क्‍लोन • दिनोंदिन आलिया भट्ट और रणबीर कपूर का मजबूत होता रिश्‍ता रह सकते है लिव-इन पर • पश्चिम बंगाल में वोटिंग के दौरान बीजेपी-टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच हुई हिंसा • लीबिया की राजधानी त्रिपोली में गृहयुद्ध की जंग में 205 की मौत, 913 के करीब घायल • लोकसभा चुनाव 2019 के दूसरे चरण की 95 सीटों पर वोटिंग जारी• PM मोदी की फिल्‍म 'पीएम नरेंद्र मोदी' का ट्रेलर यूट्यूब से हटा


आगराः यहां तैनात यूपी पुलिस के दरोगा ने अपनी जांबाजी से सभी को आश्चर्यचकित कर दिया। जांबाज दरोगा ने अपनी जान पर खेलकर गौ वंश की जान बचाई। उनके इस साहसिक कार्य के लिए खूब प्रशंसा हो रही है।

करीब 100 फीट गहरे पुराने कुएं में गौवंश गिर गया था। गौवंश को बचाने के लिए दरोगा अकेले गहरे कुए में उतर गए। 

चौकी इंचार्ज कपिल नैन ने करीब डेढ़ घंटे के रेस्क्यू के बाद गौवंश की जान बचाई। रात में टॉर्च के साथ अकेले कुएं में उतरे दरोगा कपिल नैन की बहादूरी की चर्चा पूरे शहर में हो रही है। 

पूरा मामला चौकी क्षेत्र इटौरा का है। यहां एक कुएं में एक गौवंश गिर गया था। लोगों ने इसकी सूचना चौकी प्रभारी कपिल नैन को दी। वे तुरंत टॉर्च लेकर कुएं की ओर गए और खुद ही रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया। लोगां ने पूरे रेस्क्यू ऑपरेशन का वीडियो बनाया। 

 

पीलीभीतः यहां आज तहसील दिवस के दौरान एक बड़ा  हादसा होते होते रह गया। तहसील बीसलपुर में एसडीएम जनससमयाएं सुन रही थीं और जिलाधिकारी वहां पहुंचने वाले थे तभी एक लाचार पीड़ित ने रिश्वतखरो से तंग आकर तहसील परिसर में ही अपने ऊपर मिट्टी का तेल छिड़ककर और खुद को जलाने का प्रयास किया। वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे आग लगाने से बचा लिया। घटना सुनते ही वहां मौजूद अधिकारियों की सांसे थम गई। वे तत्काल इसे सुलटाने में लग गये। 

पीलीभीत के नगर पंचायत बरखेडा के वार्ड नं0 4 कुन्दरपुर गौटिया के रहने वाले लालाराम ने बताया कि वो एक गरीब मजदूर है उसके साथ उसकी लाचार दिव्यांग पत्नी रहती है। बीते दिनों प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना अर्न्तगत उसने अपना मकान बनवाने के लिये आवेदन किया था।

उसके आवेदन को पास करने के लिये वार्ड मेम्बर उर्मिला देवी के देवर राधेश्याम जोकि नगर पंचायत में ही सफाईकर्मी भी है, ने अपने व चेयरमेन के नाम पर 15 प्रतिशत कमीशन मांगा।

आरोप है कि नगर पंचायत चेयरमेन इदरीसन बेगम के पति पूर्व चेयरमेन व सपा नेता जमील अहमद जोकि नगर पंचायत का पूरा काम देखते है, से जब उन्होने बताया तो वो बोले कि बिना कमीशन कोई काम नहीं होता। अगर 25 हजार रुपये नहीं दोगे तो तुम्हारे खाते में धनराशि नहीं भेजी जायेगी।

इसके बाद से पीडित लालाराम ने कई जगह अपनी फरियाद की अर्जी दाखिल की लेकिन इस गरीब की एक ना सुनी गयी और आखिरकार आज उसने जिन्दगी से तंग आकर खुद पर तेल छिड़ककर आग लगाने का प्रयास किया।

पीड़ित लालाराम को वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने बचा लिया। अब उसने जिला प्रशासन को चेतावनी दी है कि अगर उसकी सुनवाई नहीं हुयी तो वो 24 सितम्बर को सपरिवार आत्मदाह कर लेगा।

पूरे घटनाक्रम पर एसडीएम बीसलपुर वंदना त्रिवेदी के पसीने छूट गये और उन्होने बीडीओ बरखेडा को तत्काल जांच के आदेश दिये। लेकिन जब मीडिया ने उनसे सवाल किया तो उन्होने चुप्पी साध ली।

 

गोरखपुरः उत्तर प्रदेश की योगी सरकार स्वास्थ्य महकमा को मजबूत करने के लिए करोड़ों रुपए खर्च कर रही है। लेकिन उस पैसों पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की लूट-खसोट मची हुई है।

इसकी बानगी गोरखपुर में देखी गई। मुख्यमंत्री के गृह जनपद गोरखपुर के जिला अस्पताल में करोड़ों की लागत से इमरजेंसी के बाहर आरो प्लांट लगाया गया है ताकि आने वाले मरीज और उनके परिजन को शुद्ध पेयजल उपलब्ध हो सके।

लेकिन गोरखपुर जिला स्वास्थ्य अधिकारी इस करोड़ों रुपए की वन ए आर ओ प्लांट को कूड़ेदान बना करके रख दिया है। इसकी टोटी से पानी भले ही न आता हो मगर बेसिन शराबियो के लिए मयखाना जरूर बन गया है। आप देख सकते हैं कि बेसिन में शराब की बोतल रखी हुई है। 

बेसिन को पान का पीकदान बना कर रख दिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शहर का जब यह हाल है तो अन्य जिले के अधिकारी किस तरह से सरकार की मिशन स्वच्छता का पलीता लगा रहे हैं, यह समझा जा सकता है। 

हॉस्पिटल के अंदर प्रवेश करते ही जहां मरीज और उनके परिजनों को होना चाहिये वही लगभग आधा दर्जन दोपहिया वाहन चालक इस भीषण गर्मी में पंखे के नीचे आराम फरमा रहे हैं।

महाराजगंज से गोरखपुर जिला अस्पताल दवा करवाने आया मरीज का कहना है कि घंटो से हॉस्पिटल का चक्कर लगाने के बाद भी दवा नहीं मिली।

बता दें कि एक दिन पहले ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर जिला अस्पताल का निरीक्षण किया था। सीएम के दौरे के दौरान सब कुछ ठीक पाया गया लेकिन जैसे ही सीएम का दौरा खत्म हुआ, फिर से  अस्पताल बदहाली की ओर चला गया।

 

वाराणसीः सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि काशी के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक भावनात्मक रिश्ता है। काशी के आध्यात्मिक और सांस्कृतिक परिवेश को बनाए रखते हुए बौद्धिक विकास के सभी सुविधाओं से युक्त काशी के निर्माण के लिए जिस प्रकार के कार्यक्रम और योजनाएं पिछले 4 वर्षों में आई है और तीव्र गति से सब योजनाएं आगे बढ़ी हैं।

उन्होंने कहा कि आज गांव-गांव तक बिजली पहुंचाने का काम युद्धस्तर पर चल रहा है इसके लिए हम लोगों ने आदरणीय प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में 72000 से अधिक मजेरो तक 52 लाख घरों तक सौभाग्य योजना के तहत बिजली कनेक्शन पहुंचाने का कार्य किया है। 

योगी ने कहा कि आज आंखों के उपचार के लिए अब दक्षिण भारत नहीं जाना होगा क्योंकि आधुनिक नेत्र केंद्र के रुप में बीएचयू में नेत्र संस्थान को आधुनिक स्वरूप देने और बेहतर उपचार की व्यवस्था के लिए नेत्र संस्थान का गठन किया गया है। न्यू इंडिया के संकल्प को पूरा करने के लिए अपने आप को संकल्पित करते हैं। 

 

मेरठः लगातार हत्याओं का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार को 50 हजार के इनामी बदमाश ने हत्या की वारदात को अंजाम दे डाला। 2 साल पहले सोनू ने डबल मर्डर किया था। प्रेम सिंह और उनकी पत्नी की हत्या की थी। डबल मर्डर के बाद से ही उसके घर में पुलिस का पहरा था। 50 हजार का इनामी ने घर मे सो रहे एक युवक की हत्या कर  आसानी से फरार हो गया।

मामला है हस्तिनापुर के अलीपुर मोरना का है। दरअसल, थाना हस्तिनापुर में राजा नाम के एक व्यक्ति की उस समय हत्या कर दी गयी, जब वह छत पर सोया हुआ था। राजा वाल्मीकि राफन गांव का रहने वाला था , वह जॉनी नामक व्यक्ति के घर पर ही रहकर उसकी खेती बाड़ी का काम देखता था। जॉनी पुत्र स्व प्रेमसिंह उसके बगल में चारपाई पर सो रहा था।

माना जा रहा है कि सोनू जॉनी की हत्या करने के लिए ही आया था लेकिन गलती से राजा को गोली मार दी। राजा की मौके पर ही मौत हो गई।

फायर की आवाज सुनते ही जॉनी छत से कूद गया, जिससे उसके पैर में चोट आई है। जॉनी ने बताया कि सोनू पुत्र धरम सिंह निवासी अलीपुर मोरना से उसकी दुश्मनी चल रही थी। उसने और उसके साथियों ने ही इस घटना को अंजाम दिया। 

पहले जानी के भाई जोगेंद्र ने वर्ष 2009 में सोनू के पिता धर्म सिंह की हत्या कर दी थी। इस हत्या के बदले में सोनू ने वर्ष 2017 में जानी की मां मुनेश व पिता प्रेम सिंह की हत्या की थी, जिसमें वह अभी तक फरार है और उस पर 50 हजार का इनाम है।

जब जानी के मां बाप की हत्या हुई थी, तो जानी उस समय जेल में था। अभी कुछ दिन पूर्व जमानत पर बाहर आया। सोनू को डर है कि जानी अपने मां- बाप की हत्या का बदला लेने के लिए उसकी हत्या कर सकता है। इसलिए वह जानी की हत्या के फिराक में था। 

घटना स्थल का निरीक्षण करने के बाद एसएसपी ने सोनू की गिरफ्तारी के लिए क्राइम ब्रांच व अन्य टीमें लगा दी है। 

 

:
:
: