Headline • अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट पर PM मोदी से की अपील दिल्ली को दे पूर्ण राज्य का दर्जा • भारत और सऊदी अरब ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की• जयपुर सेंट्रल जेल में मारा गया पाकिस्तानी कैदी• नवजोत सिंह सिद्धू के शो से बाहर होने पर कपिल शर्मा का बयान• तमिलनाडु में भाजपा संग एआईएडीएमके गठबंधन हुआ तय • इमरान खान की भारत को धमकी बिना साबुत किया हमला तो खुला जवाब देंगे• अलीगढ़ हिंदू छात्र वाहिनी कार्यकर्ताओं का धारा 370 को हटाने को लेकर प्रदर्शन• कुलभूषण जाधव मामले की सोमवार से सुनवाई शुरू• उत्तराखंड पुलिस की कश्मीरी छात्रों से सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयान न देने की अपील • पुलवामा एनकाउंटर: मेजर समेत 4 जवान शहीद, 2 आतंकी ढेर• राजस्‍थान का गुर्जर आंदोलन शनिवार को खत्म• पुलवामा आतंकी हमले पर सर्वदलीय बैठक शुरू• PM मोदी का ऐलान: आतंकियों की बहुत बड़ी गलती चुकानी होगी कीमत• गांधीजी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा सचिव पूजा पांडे को मिली जमानत• कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती विस्फोट 41 सीआरपीएफ जवानों की मौत• राजीव सक्सेना को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 22 फरवरी तक मिली अंतरिम जमानत • सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल और एलजी विवादों पर अपना फैसला सुनाया• केसरी: अक्षय कुमार अभिनीत ऐतिहासिक ड्रामा का पहला झलक वीडियो रिलीज़ • पीएम मोदी ने हरियाणा में की विकास परियोजनाओं की शुरुआत • राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मोदी सरकार पर जुबानी जंग • मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में SC ने राव के माफ़ी नामे को किया अस्वीकार लगाया 1 लाख का जुर्माना• आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर आंदोलन उग्र • शराब पर राजनीति: त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुख्यमंत्री पद का इस्तीफा देने की मांग• आ रही हूँ यूपी लूटने- वाराणसी में प्रियंका वाड्रा के खिलाफ लगाए गए पोस्टर• PM मोदी ने 300 करोड़ के भोजन वितरण पर मथुरा वासियो को किया सम्बोधित


संभलः तीन तलाक और हलाला पीड़िता पर तेजाब से हमला करने के मामले में पुलिस ने 24 घंटे के भीतर सफलता हासिल कर ली है। पीड़िता के भाई और बहनोई ने मिलकर तेजाबी हमले की स्क्रिप्ट लिखी थी।

जनपद संभल के सदर कोतवाली इलाके में रविवार को तीन तलाक और हलाला पीड़िता पर तेजाब से हमले की वारदात झूठी साबित हुई है। जहां एसपी की मौजूदगी में पीड़िता के भाई ने स्वीकार किया कि बहन द्वारा पति और ससुरालियों पर दर्ज कराये गए मुकदमे में ससुराल पक्ष के लोगों की गिरफ्तारी न होने से बहनोई के घर झूठी स्क्रिप्ट तैयार की गई थी।

इसके बाद उसने बैटरी का तेजाबयुक्त पानी की कुछ छींटे  अपनी बहन ने अपने ऊपर डाल दी थी। फिर पुलिस से लेकर मीडिया के सामने तक एसिड अटैक की कहानी सुनाई थी। 

संभल सदर कोतवाली इलाके के मुरादाबाद रोड पर रविवार देर शाम तीन तलाक और हलाला पीड़िता पर े एसिड अटैक की खबर ने पुलिस के सामने एक बड़ी चुनौती पेश की थी। महिला के आरोपों के बाद मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने मामले की जांच शुरु की तो नई परतें खुलती गईं।  

दरअसल मुरादाबाद जिले के मैनाठेर थाना क्षेत्र के एक गांव की तीन तलाक व हलाला पीड़िता ने एक सितंबर को पति, ससुर, ममेरे ससुर और दो मौलवियों के खिलाफ तीन तलाक और फिर जबरन हलाला कराने का मामला दर्ज कराया था। यह रिपोर्ट नखासा थाने में दर्ज कराई गई थी। 

इसी बीच तीन तलाक पीड़िता ने रविवार देर शाम को ससुराल पक्ष के जेठ सहित दो लोगों पर तेजाब से हमला करने का आरोप लगाया। पीड़िता ने पुलिस और मीडिया के सामने एसिड अटैक की घटना के बारे के बारे में बताया तो पुलिस ने भाई की तहरीर पर ससुरालवालों के खिलाफ मुकदमा कर लिया। बाद में पुलिस ने जांच की तो घटना फर्जी पाई गई। 

पुलिस ने पीड़िता के भाई और बहनोई से पूछताछ की तो कहानी खुल गई। दोनों ने एसपी यमुना प्रसाद के सामने खुद के द्वारा बहन पर तेजाबी हमले की बात मान ली और स्वीकार किया कि बहन द्वारा पहले से पति और ससुरालियों पर दर्ज मुक़दमे में गिरफ्तारी के दवाब के लिए ये स्क्रिप्ट तैयार की गयी थी। 

एसपी यमुना प्रसाद ने बताया कि महिला के भाई ने स्वीकार किया कि उसने रास्ते में अपनी बहने के कहने पर उस पर पानी मिला बैटरी के तेजाब की कुछ छींट फेंकी थी। इसके बाद उसने तेजाब से हमला होने की शिकायत की। 

संतकबीरनगरः जिले की खलीलाबाद सीट से बीजेपी विधायक जय चौबे ने जब अपने क्षेत्र में गंदगी देखी तो उनका गुस्सा सातवें आसमान पर चढ़ गया। गंदगी देख इतन गुस्साए कि मौके पर ही नगरपालिका कर्मचारी को मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने की चेतावनी दे दी।  वहीं ईओ को उनके प्रोटोकोल की याद दिलाते हुए जमकर फटकार लगाई।

दरअसल पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी के के मौके पर खलीलाबाद नगर पालिका क्षेत्र के मड़या वार्ड में विधायक दिग्विजय नारायण जय चौबे ने स्वच्छता अभियान कार्यक्रम रखा था। लेकिन जब विधायक मौके पर पहुंचे तो वहां पर गंदगी देखकर उनका पारा चढ़ गया।

मौके पर उन्होंने नगर पालिका के एक कर्मचारी को जमकर फटकार लगाई इतना ही नहीं चेतावनी भी दी कि अभी सुधर जाओ नहीं तो 1 घंटे लगेंगे मुकदमा दर्ज करवाकर सीधा जेल भिजवा देंगे। बस समय का अभाव है। 

वहीं नगरपालिका कर्मचारी से निपटने के बाद विधायक  खलीलाबाद नगर पालिका की ईओ बीना सिंह पर भी भड़क गए। कार्यक्रम में ईओ बीना सिंह नहीं पहुंची थीं। जिसके बाद जब यह सूचना ईओ को मिली तो ईओ बीना सिंह आनन-फानन में मौके पर पहुंची, जहां विधायक जय चौबे ने ईओ बिना सिंह को भी जमकर फटकार लगाई और उन्हें प्रोटोकाल की याद दिलाई। 

विधायक ने सवाल किया कि जानकारी होने के बाद भी आखिर कार्यक्रम में क्यों नहीं पहुंची, जबकि मोबाइल पर भी कार्यक्रम का मैसेज दिया गया था। इस पर  ईओ सफाई देती नजर आईं। उनका कहना है कि उनको कोई मैसेज़ नही मिला।

फिलहाल विधायक जय चौबे ने साफ लहज़े में कहा कि अब वह हर हफ्ते वार्डों का निरीक्षण करेंगे और अगर कहीं भी गंदगी दिखी तो सीधा कर्मचारी पर मुकदमा दर्ज होगा और जेल जाएंगे। सफाई कर्मचारियों को सरकार वेतन देती है जबकि वार्डों की नालियां जाम पड़ी हैं और हर तरफ गंदगी का अंबार है।

मुरादाबाद. यूपी के मुरादाबाद में महिला की गोली मारकर हत्या कर दी गयी।महिला की हत्या का आरोप उसके ससुरालियों पर लगा है। सूचना पर पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है साथ ही चार ससुरालियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

-जानकारी के मुताबिक, यह मामला मूंढापांडे थाना क्षेत्र के नाजरपुर गांव का है। 

-यहां सुनीता नाम की महिला अपने पति की मौत के बाद चार बच्चियों संग ससुराल में रह रहीं थी।

-बताया जा रहा है कि पिछले कुछ समय से जमीन और पैसों के बंटवारे को लेकर सुनीता का अपने ससुराल वालों से झगड़ा चल रहा था और ससुराली सुनीता को ससुराल छोड़कर मायके में रहने की धमकी दे रहें थे।

-आज सुबह जब सुनीता अपनी बच्चियों संग कमरे में थी उसी वक्त उसकी गोली मार कर हत्या कर दी गयी।

-हत्या की जानकारी मायके वालों को सुनीता की बड़ी बेटी ने फोन कर दी। जिसके बाद सुनीता के मायके वाले मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी गयी।

-मौके पर पहुंची पुलिस ने सुनीता के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही घटनास्थल का मुआयना कर साक्ष्य संकलन भी किया।

 -सुनीता के परिजनों का आरोप है की सुनीता की हत्या उसकी सास,ससुर और देवर ने मिलकर की है और हत्या करने के बाद सभी ससुराली घर छोड़कर फरार हो गए है।

-सुनीता के परिजनों के मुताबिक सुनीता के पति की मौत के बाद उसके ससुराली लगातार सुनीता को ससुराल छोड़ने और जमीन जायजाद में बंटवारा ना देने की धमकी देते थे जिसका सुनीता लगातार विरोध कर रहीं थी।

 -फिलहाल, पुलिस ने सुनिता के परिजनों की तहरीर पर पुलिस तीन ससुरालियों समेत चार लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है साथ ही आरोपियों की तलाश में लगातार दबिश दी जा रहीं है।

-सीओ हाइवे राजेश कुमार के मुताबिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है और आरोपियों के संभावित ठिकाने पर पुलिस टीमें भेजी गई है। सुनीता की मौत के बाद उसके परिजन चारों बच्चियों को अपने साथ घर ले गए है।

 

वाराणसी : बीती रात काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के सर सुंदरलाल चिकित्सालय में जूनियर डॉक्टरों और तीमारदारों के बीच हुए हाथापाई हंगामे और फिर बवाल के बाद नाराज जूनियर डॉक्टर सुबह सवेरे बिना किसी नोटिस के हड़ताल पर चले गए। 

-BHU के सर सुन्दरलाल चिकित्यालय में अचानक हड़ताल पर गए जूनियर डॉक्टरों के बाद अस्पताल की चिकित्सीय व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गयी। 

-मरीज के साथ उनके परिजन भी इलाज के लिए अस्पताल में भटकते दिखे।

-बता दें कि लॉ फैकल्टी का एक पूर्व छात्र जो अपने रिश्तेदार का इलाज कराने सरसुंदर लाल चिकित्सालय पहुंचा था, उसकी जूनियर डॉक्टरों से किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई. बात इतनी बढ़ गई कि दोनों में हाथापाई शुरू हो गई।

-इसके बाद पूर्व छात्र के समर्थन में बिड़ला छात्रावास के छात्र इस मामले में कूद पड़े हैंऔर बवाल बढ़ गया। 

-वहीं सुबह होते ही जूनियर डॉक्टर बिना किसी सूचना के हड़ताल पर चले गए लेकिन इस बात को लेकर बीएचयू के एम एस इंकार कर रहे है और मीडिया के कैमरे पर हड़ताल को लेकर कुछ भी नहीं कह रहे। 

 

गाजियाबाद : दिल्ली से सटे गाजियाबाद में एक दलित परिवार के घर पर दबंगों ने हमला कर दिया और जमकर तोड़फोड़ की। पीड़िता ने इसकी शिकायत पुलिस को दी है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।  आरोप है कि रविवार की शाम कुछ अज्ञात लोग सोसायटी के दबंगों के साथ आए और खुद को आवास विकास का कर्मचारी बताने लगे । इसके बाद दलित की झुग्गी और ठीये को अवैध बता कर तोड़ दिया। दलित का सामान भी तोड़ दिया गया और वहां मौजूद रुपए भी लूट लिए गए।

-दरअसल, यह मामला  मामला गाजियाबाद के पॉश इलाके वसुंधरा का है।

-आरोप है कि यहां पर रहने वाले एक दलित परिवार पर सोसायटी के कुछ दबंग लोगों ने अज्ञात लोगों के साथ मिलकर हमला कर दिया।

-पीड़ित का आरोप है कि सोसाइटी में पिछले 17 सालों से कपड़े प्रेस करने का काम करता है। जिस जगह पर वह, यह काम करता है ,वह उसे सोसाइटी से ही मिली है और मामला कोर्ट में विचाराधीन है।

-आरोप है कि आरडब्लूए से जुड़े हुए कुछ दबंग लोग उस पर घरों में झाड़ू पोछा और गाड़ियां साफ करने का दबाव बनाते हैं। इसके एवज में वह उसे कुछ भी नहीं देते हैं । यही नहीं दलित को सोसाइटी में रहने के एवज में उससे एक लाख रुपये की मांग दबंगो की तरफ से की जाती है।

-जब पीड़ित ने यह सब कुछ करने से इंकार कर दिया, तो दबंगों का कहर उस पर फूट पड़ा।

-आरोप है कि कुछ लोग रविवार की शाम को आए, और पुलिस की मौजूदगी में ही दलित के घर में तोड़फोड़ शुरू कर दी। और पूरे सामान भी नष्ट कर दिया। घर में रखे हुए रुपए भी दबंग लूट कर ले गए।

-पीड़ित ने पूरे मामले में पुलिस को शिकायत दी गई है और पुलिस आरोपों की जांच की बात कह रही है।

-एनसीआर में आवास विकास कि दर्जनों ऐसी इमारतें हैं, जो अवैध रूप से बनी हुई है। लेकिन अब तक उन पर कोई कार्यवाही नहीं हुई। मगर एक दलित की झुग्गी झोपड़ी तोड़ने के लिए आवास विकास की कथित टीम रविवार को भी काम करने पर लग गई।

इससे कहीं ना कहीं भ्रष्टाचार की बू आती है। बहराल पूरा मामला जांच का विषय है और इस बात की भी जांच की जाएगी कि जो लोग मकान तोड़ने के लिए आए थे, वह वाकई आवास विकास से थे भी या नहीं ।लेकिन उनके साथ मौजूद दबंगों ने जो मारपीट दलित परिवार के साथ की है, और उसका घर  तोड़ा है। उस पर कब तक कार्यवाही होगी। यह भी बड़ा सवाल है।

:
:
: