Headline • ब्राजील के बार में हमलावरों ने की अंधाधुंध फायरिंग, 11 लोगों की हुई • कांग्रेस ने नकारा एग्जिट पोल कहा इसके विपरीत होगा चुनाव परिणाम • एग्जिट पोल में एक बार फिर मोदी सरकार, चुनाव आयोग से किया आग्रह • चीन के लिए जासूसी कर रहें पूर्व सीआइए अफसर को अमेरिका ने को सुनाई 20 साल की सजा• PM पद के लिए राहुल गांधी को मिला जेडीएस प्रमुख देवगौड़ा का समर्थन• लोकसभा चुनाव 2019: पीएम मोदी और अमित शाह की पहली संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस • समलैंगिक विवाह को ताइवान ने दिया वैधानिक दर्जा • साध्‍वी प्रज्ञा पर बोले पीएम मोदी ''मैं उन्‍हें कभी माफ नही कर पाऊंगा''• ऑस्ट्रिया सरकार ने प्राथमिक स्कूलों की लड़कियों के हिजाब पर प्रतिबंध लगाने का कानून पारित किया• लोकसभा चुनाव 2019: चुनाव आयोग पर बरसीं ममता बनर्जी, चुनाव आयोग को BJP का भाई बताया • राहुल का पीएम मोदी पर हमला पीएम सोचते हैं एक व्यक्ति देश चला सकता है• बंगाल में अमित शाह की रैली के दौरान हिंसा के विरोध में जंतर-मंतर पर भाजपा का प्रदर्शन• बंगाल में रोड शो से पहले मोदी-शाह के पोस्टर उतरे • मैं कभी PM के परिवार का नहीं करूंगा अपमान: राहुल गांधी• भारत को ही क्‍यों बेच रहा एफ-21 लड़ाकू विमान अमेरिका • बिहार में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर सादा निशाना• PM मोदी पर मायावती के विवादित बयान पर जेटली का हमला किसी पद के लायक नहीं बसपा सुप्रीमो• विकीलीक्‍स संस्‍थापक जुलियन असांजे के खिलाफ स्‍वीडन में दोबारा खुल सकता है यौन उत्‍पीड़न मामला• ममता के घर में अमित शाह की दहाड़ हिम्मत है तो करो मुझे गिरफ्तार• ट्विटर ने हटाए कई पाकिस्‍तानी अकाउंट, पाक सरकार ने लगाए थे देश नियमों के उल्‍लंघन का आरोप• कोई भी देश कमजोर सरकारों के होते शक्तिशाली नहीं बन सकता: PM मोदी• भारतीय सीमा में घुसे पाकिस्तानी मालवाहक विमान को वायुसेना ने जयपुर एयरपोर्ट पर उतरवाया• फ्रांस के स्‍कूल में भेड़ों का दाखिला • सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या भूमि विवाद की मध्यस्थता प्रक्रिया के लिए 15 अगस्त तक का समय बढ़ाया • दक्षिण चीन सागर में अमेरिका, भारत, जापान और फिलीपींस ने मिलकर किया सैन्य अभ्यास


बदायूं: घटिया क्वालिटी की सोलर लाइट लगवा कर जनपद बदायूं में भ्रष्टाचार का बड़ा खेल खेला जा रहा है। गांवों में सत्ताधारी दल के नेता अधिकारियों पर दबाव डाल कर चाइनीज लाइटें लगवा रहे हैं, जिसकी कीमत मात्र 9 से 10 हज़ार है।

जबकि शासनादेश है कि ग्राम पंचायतों में सिर्फ नेडा द्वारा दी जा रही उच्च क्वालिटी की लाइटें ही गावों में लगवाई जानी है। इनकी कीमत 21-से 22 हजार रखी गई है। 

बदायूं में सत्ताधारी नेताओं और अधिकारियों का सोलर लाइटों में भी खेल जारी है। गांवों में शाम ढलते ही अन्धेरा छा जाता है जिसके लिए सरकार ने सोलर लाइटें लगवाने की योजना शुरु की। एक सोलर लाइट की कीमत 21 से 22 हज़ार रखी गई। शासनादेश है कि सोलर लाइट केवल नेडा से ही खरीद कर लगाई जाएंगी।

लेकिन बीजेपी के लोगों ने ग्राम प्रधानों और सचिवों पर दबाब डाल कर चाइनीज़ लाइटें लगवा दी है। चाइनीज लाइटें मार्किट में मात्र 9 से 10 हज़ार रुपये कीमत की है। घटिया क्वालिटी की लाइटें समय से पहले ही खराब हो रही है और शोपीस बन कर रह गई है।

ग्राम सचिवों ने जब घटिया क्वालिटी की सोलर लाइटें लगवाने से मना किया तो बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उन पर दबाव बनाया। ग्राम प्रधानों का कहना है कि सचिव बताता ही नहीं कि लाइट कहां से आ रही है और कौन लगवा रहा है। ग्राम निधि से उसका पैसा निकाल लिया जाता है। 

वहीं, नेडा विभाग के अधिकारी कहते है कि हमारे पास मात्र 17 लाइट लगवाने का ही प्रस्ताव आया था बाकि जो भी लाइट लग रही है वह हमारे माध्यम से नहीं लगाई गई हैं। 

संबंधित समाचार

:
:
: