Headline • पहले वाशिंगटन अपनी स्थिति बदले, फिर होगी परमाणु वार्ता: उत्तर कोरिया• करारी हार के बाद कांग्रेस में इस्तीफों की लगी कतार• लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद राहुल गांधी दे सकते हैं इस्तीफा• पीएम मोदी का लोकसभा चुनाव के शानदार प्रदर्शन पर ट्वीट साथ+सबका विकास+सबका विश्वास=विजयी भारत। • लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: अमेठी में राहुल और स्मृति के बीच कड़ी टक्कर• लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: राजनीति में गंभीर की शानदार पारी, बड़ी जीत की ओर • लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: PM मोदी की सुनामी लहर में ढहा UPA• फ्रांस में भारतीय वायु सेना के राफेल कार्यालय पर कुछ अज्ञात लोगों द्वारा की गई तोड़फोड़ • चुनाव आयोग ने वीवीपीएटी की पर्चियों के ईवीएम से मिलान को लेकर विपक्षी दलों की मांग को किया खारिज • लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का पार्टी कार्यकर्ताओं को संदेश फर्जी एग्जिट पोल से न हों निराश• ब्राजील के बार में हमलावरों ने की अंधाधुंध फायरिंग, 11 लोगों की हुई • कांग्रेस ने नकारा एग्जिट पोल कहा इसके विपरीत होगा चुनाव परिणाम • एग्जिट पोल में एक बार फिर मोदी सरकार, चुनाव आयोग से किया आग्रह • चीन के लिए जासूसी कर रहें पूर्व सीआइए अफसर को अमेरिका ने को सुनाई 20 साल की सजा• PM पद के लिए राहुल गांधी को मिला जेडीएस प्रमुख देवगौड़ा का समर्थन• लोकसभा चुनाव 2019: पीएम मोदी और अमित शाह की पहली संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस • समलैंगिक विवाह को ताइवान ने दिया वैधानिक दर्जा • साध्‍वी प्रज्ञा पर बोले पीएम मोदी ''मैं उन्‍हें कभी माफ नही कर पाऊंगा''• ऑस्ट्रिया सरकार ने प्राथमिक स्कूलों की लड़कियों के हिजाब पर प्रतिबंध लगाने का कानून पारित किया• लोकसभा चुनाव 2019: चुनाव आयोग पर बरसीं ममता बनर्जी, चुनाव आयोग को BJP का भाई बताया • राहुल का पीएम मोदी पर हमला पीएम सोचते हैं एक व्यक्ति देश चला सकता है• बंगाल में अमित शाह की रैली के दौरान हिंसा के विरोध में जंतर-मंतर पर भाजपा का प्रदर्शन• बंगाल में रोड शो से पहले मोदी-शाह के पोस्टर उतरे • मैं कभी PM के परिवार का नहीं करूंगा अपमान: राहुल गांधी• भारत को ही क्‍यों बेच रहा एफ-21 लड़ाकू विमान अमेरिका


बागपतः जिले में इन दिनों वायरल के साथ एक और बीमारी ने लोगों को दहशत में जीने को मजबूर कर रखा है। इस बीमारी का नाम है गलघोंटू।

गांव में बीते एक सप्ताह के अंदर तीन मासूम बच्चों की मौत हो चुकी है जिसके पीछे ग्रामीण गलघोंटू बीमारी को कारण मान रहे हैं। अभी भी दो दर्जन से ज्यादा बच्चे और बड़े गांव में बीमार चल रहे जिनमें कुछ वायरल बुखार तो कुछ गलघोंटू बीमारी से पीड़ित है।

एक गांव में हुई तीन बच्चों की मौत से स्वास्थ्य विभाग में भी हड़कम्प मचा हुआ है और स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव मे कैम्प किए हैं। खुद सीएचसी अधीक्षक कमान संभाले हुए हैं। 

अभी तक सैकड़ों लोगों की जांच की जा चुकी है। डॉक्टर बच्चों की मौत के पीछे गलघोंटू की बात से इनकार कर रही है। ब्लड के नमूने जांच के लिए भेजे गए है जिनके बाद ही कन्फर्म होने की बात कह रहे हैं। 

बागपत जिला मुख्यायल से महज 4 किलोमीटर दूर निरोजपुर गुर्जर गांव में एक सप्ताह के अंदर 3 बच्चे मौत के आगोश में समा चुके हैं। इसके पीछे ग्रामीण  गलघोंटू को कारण बता रहे हैं। 

 

संबंधित समाचार

:
:
: