Headline • चीन के लिए जासूसी कर रहें पूर्व सीआइए अफसर को अमेरिका ने को सुनाई 20 साल की सजा• PM पद के लिए राहुल गांधी का मिला जेडीएस प्रमुख देवगौड़ा का समर्थन• लोकसभा चुनाव 2019: पीएम मोदी और अमित शाह की पहली संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस • समलैंगिक विवाह को ताइवान ने दिया वैधानिक दर्जा • साध्‍वी प्रज्ञा पर बोले पीएम मोदी ''मैं उन्‍हें कभी माफ नही कर पाऊंगा''• ऑस्ट्रिया सरकार ने प्राथमिक स्कूलों की लड़कियों के हिजाब पर प्रतिबंध लगाने का कानून पारित किया• लोकसभा चुनाव 2019: चुनाव आयोग पर बरसीं ममता बनर्जी, चुनाव आयोग को BJP का भाई बताया • राहुल का पीएम मोदी पर हमला पीएम सोचते हैं एक व्यक्ति देश चला सकता है• बंगाल में अमित शाह की रैली के दौरान हिंसा के विरोध में जंतर-मंतर पर भाजपा का प्रदर्शन• बंगाल में रोड शो से पहले मोदी-शाह के पोस्टर उतरे • मैं कभी PM के परिवार का नहीं करूंगा अपमान: राहुल गांधी• भारत को ही क्‍यों बेच रहा एफ-21 लड़ाकू विमान अमेरिका • बिहार में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर सादा निशाना• PM मोदी पर मायावती के विवादित बयान पर जेटली का हमला किसी पद के लायक नहीं बसपा सुप्रीमो• विकीलीक्‍स संस्‍थापक जुलियन असांजे के खिलाफ स्‍वीडन में दोबारा खुल सकता है यौन उत्‍पीड़न मामला• ममता के घर में अमित शाह की दहाड़ हिम्मत है तो करो मुझे गिरफ्तार• ट्विटर ने हटाए कई पाकिस्‍तानी अकाउंट, पाक सरकार ने लगाए थे देश नियमों के उल्‍लंघन का आरोप• कोई भी देश कमजोर सरकारों के होते शक्तिशाली नहीं बन सकता: PM मोदी• भारतीय सीमा में घुसे पाकिस्तानी मालवाहक विमान को वायुसेना ने जयपुर एयरपोर्ट पर उतरवाया• फ्रांस के स्‍कूल में भेड़ों का दाखिला • सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या भूमि विवाद की मध्यस्थता प्रक्रिया के लिए 15 अगस्त तक का समय बढ़ाया • दक्षिण चीन सागर में अमेरिका, भारत, जापान और फिलीपींस ने मिलकर किया सैन्य अभ्यास• प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान AAP उम्मीदवार आतिशी ने लगाए गौतम गंभीर पर आरोप• पीएम मोदी द्धारा पूर्व पीएम राजीव गांधी पर दिये गये बयान के बचाव में उतरी कांग्रेस• आईपीएल 2019: मुंबई के खिलाफ हार के बाद भड़के धोनी


वाराणसीः देशभर में एससी-एसटी एक्ट में संशोधन को लेकर सवर्ण समाज के भारत बंद का कई शहरों में असर देखने को मिला।

पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी कई स्थानों पर सवर्ण समाज के लोगों का प्रदर्शन किया। वाराणसी के नेशनल हाईवे-2 पर सवर्ण समाज के लोगों ने एक्ट के विरोध में हाईवे को जाम कर दिया  ।

सवर्ण समाज के लोगों द्वारा जाम लगाने के बाद हाईवे पर वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। देखते ही देखते वहां सवर्ण समाज के लोगों ने टायर में आगजनी कर दी और हाईवे पर ही धरने पर बैठ गए।

एससी एसटी एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों ने नेशनल हाईवे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सवर्ण समाज के लोगों द्वारा हाईवे जाम करने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस फोर्स ने लोगों को काफी समझाने की कोशिश की लेकिन उसके बावजूद प्रदर्शन कर रहे लोग समझने को तैयार नहीं थे।

मजबूरीवश प्रशासन को प्रदर्शन कर रहे लोगों को हिरासत में लेना पड़ा। प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना था कि एससी एसटी एक्ट के खिलाफ जिस तरह से नेशनल हाईवे को जाम किया गया, यह केंद्र के लिए एक चेतावनी है।

अगर इसमें बदलाव नहीं किया गया तो और भी बड़ा आंदोलन करने के लिए वे मजबूर होंगे। इसके लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार होगी। 

उधर, पुलिस कप्तान का कहना है कि जो भी कानून का उल्लंघन करेगा, उस पर कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल नेशनल हाईवे टू को सुचारु रुप से संचालित कर दिया गया है। 

 

संबंधित समाचार

:
:
: