Headline • धोनी ने आलोचकों को दिया बल्ले से जमकर जवाब • रूसी विमान युद्धाभ्यास के दौरान जापान सागर पर आपस में टकराए • कंगना करणी सेना से नाराज बोली मैं भी राजपूत हूं बर्बाद कर दुंगी तुम्‍हें• मिशन 2019: चुनाव आयोग मार्च में कर सकता है। लोकसभा चुनाव का एलान • ममता की महारैली में विपक्ष का जमावड़ा, पहुंचे बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा• मेघालय, कोयला खदान से 35 दिनों के बाद 200 फीट की गहराई से निकला मजदूर का शव • भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को स्वाइन फ्लू, एम्स में चल रहा इलाज • रुपये में मजबूती शेयर बाजार 36 हजार के पार• World Bank के प्रमुख पद की दावेदार में इंद्रा नूई का नाम आगे • कर्नाटक में राजनीतिक उठा-पटक, कांग्रेस ने 18 को बुलाई विधायकों की बैठक• विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अध्यक्ष राम जन्मभूमि मार्गदर्शक मंडल के सदस्य विष्णु हरि डालमिया का निधन• भदोही में एक निजी स्कूल वैन में लगी आग, 19 बच्चे झुलसे• मथुरा के यमुना एक्सप्रेस वे पर, रफ्तार का कहर 3 की मौत• जहरीली शराब कांड का इनामी बदमाश कानपुर पुलिस की गिरफ्त में• गाजियाबाद में स्वाइन फ्लू की दस्तक, स्वास्थ्य विभाग अलर्ट• प्रयागराज में हर्ष फायरिंग दौरान, एक को लगी गोली• पेट्रोल-डीजल के दामों ने फिर दिया झटका, क्या रहे आपके शहर के दाम• RRB ग्रुप डी आंसर की जारी 14 से 19 जनवरी तक दर्ज कराएं अपनी आपत्ति• सवर्णों को 10% आरक्षण बिल को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती• अयोध्या विवाद संवैधानिक बेंच से जस्टिस यूयू ललित हटे, 29 जनवरी को फिर से होगी सुनवाई• जम्मू-कश्मीर के आईएएस शाह फ़ैसल ने अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए इस्तीफ़ा देने का किया ऐलान I• हाई पावर कमेटी आलोक वर्मा पर आगे का फैसला लेगी। कमेटी में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़के व जस्टिस एके सीकरी उपस्थित रहेंगे।• सीएम योगी से मिलने के बाद बोलीं विवेक तिवारी की पत्नी- सरकार पर भरोसा और बढ़ गया• राजकपूर की पत्नी कृष्णा राज कपूर का 87 साल की उम्र में निधन• गाजियाबाद: आपसी झगड़े में BSF जवान ने दूसरे को मारी गोली, एक की मौत


 

नई दिल्ली:   देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के 94 वर्ष की अवस्था में एम्स में लंबे इलाज के बाद आज कुए निधन से पूरा देश मर्माहत है उनके निधन पर देश भर में श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा हुआ है। 

हृदय नारायण दीक्षित, उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष

अटल बिहारी वाजपेई हमें हमेशा याद आते हैं। वह कहते थे कि तुम लेखक तो अच्छे हो लेकिन, तुम्हारी हिंदी भजन भाषा की हिंदी नहीं है तुम्हें बोलचाल की हिंदी का प्रयोग करना चाहिए। मैं भी लेखक हूं वह भी लेकर थे, मैं भी कवि हूं वह भी कभी थे और आज उनकी बहुत याद आती है। विधानसभा अध्यक्ष की आंखें वाजपेई जी को याद करते हुए छलक गई।

सतीश महाना, उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री

वाजपेई जी जब भी कानपुर आते थे प्रधानमंत्री बनने से पहले मैं उन्हें अपनी गाड़ी से ही लेकर जाता थे, चाहे उन्नाव जाना हो या किसी और जिले में वाजपेई जी के ड्राइवर के तौर पर मैं गाड़ी चलाता था। मुझे इस बात की बहुत खुशी है कि जो युगपुरुष थे मैं उनके सारथी के रूप में उनके वाहन चालक के तौर पर कई बार उनके साथ समय व्यतीत कर चुका हूं। वाजपेई जी की यादें याद करते हुए भावुक हुए सतीश महाना।

सुरेश खन्ना, यूपी कैबिनेट मंत्री

एक बार वाजपेई जी मुझसे सवाल जवाब कर रहे थे। उन्होंने मुझसे पूछा कि तुम राजनीति में क्या करने आए हो मैंने उन्हें जवाब दिया मैं प्रधानमंत्री बनना चाहता हूं। उन्होंने मेरी पीठ थपथपाई और बोले तो मंत्री बन गए हो बस प्रधान बनना बाकी है, ऐसी छवि के धनी थे वाजपेई जी।

तीरथ सिंह रावत, उत्तराखंड भाजपा के पूर्व अध्यक्ष 

अटल बिहारी वाजपेई की वजह से उत्तराखंड राज्य का निर्माण हुआ वह हमेशा पहाड़ से प्रेम करते थे आज उत्तराखंड की पूरी जनता वाजपेई जी को नमन करती हैं।

प्रीतम सिंह, उत्तराखंड कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष 

अटल जी का कांग्रेस के साथ मतभेद था लेकिन मनभेद नहीं था। इंदिरा गांधी की वह लोकसभा से प्रतिपक्ष के नेता के तौर पर तारीफ कर चुके हैं, उन्होंने इंदिरा गांधी को दुर्गा तक कहा, नरसिम्हा राव सरकार ने उन्हें भारत के प्रतिनिधि मंडल के नेता के तौर पर यूनाइटेड नेशंस भेजा। आज पूरा देश वाजपेई जी को नमन कर रहा है। राहुल गांधी के साथ होने वाली हमारी बैठक वाजपेई जी के निधन के बाद टल गई है अभी बैठक आज की जगह कल सुबह होगी।

धन सिंह रावत, उत्तराखंड सरकार में मंत्री  

अटल बिहारी वाजपेई की विचारधारा उनके सिद्धांत हमेशा अमर रहेंगे। मुख्यमंत्री और कैबिनेट की सलाह के बाद बतौर शिक्षामंत्री यह मेरी कोशिश होगी कि आने वाली पीढ़ी भी वाजपेई जी के विचारों से प्रेरणा लें। उत्तराखंड में कांग्रेस की सरकार और एनडी तिवारी के मुख्यमंत्री होने के बावजूद उन्होंने प्रदेश के विकास के लिए औद्योगिक पैकेज दिया उत्तराखंड की जनता वाजपेई जी को कभी भूल नहीं पाएगी।

गणेश जोशी, मसूरी से बीजेपी विधायक

वाजपेई जी हमेशा पहाड़ से प्रेम करते थे। 1986 में जब वाजपेई जी मसूरी क्षेत्र जैन धर्मशाला पहुंचे मैंने उन्हें कहा कि हमारा प्रदेश हमारा क्षेत्र सैनिकों की भूमि है और सैनिकों के लिए वन रैंक वन पेंशन लागू होना चाहिए। तब वाजपेई जी ने कहा कि जब बीजेपी की सरकार बनेगी यह मांग पूरी होगी और आज यह मांग पूरी हो चुकी है।

 

संबंधित समाचार

:
:
: