Headline • 50 साल बाद पंडित दीनदयाल उपाध्याय की हत्या की हो सकती है CBI जांच• ज्वैलरी शोरूम से 50 लाख के गहने लेकर फरार हुई महिलाएं, सीसीटीवी में कैद हुई वारदात• गाजियाबाद की वसुंधरा कॉलोनी में नहीं रुक रही हैं चोरी की घटनाएं, लॉकर तोड़कर नगदी और लैपटॉप ले उडे़• स्वामी अग्निवेश ने दी आरएसएस प्रमुख को मॉब लिंचिंग पर खुली बहस की चुनौती• SC-ST एक्ट के विरोध में प्रदर्शन करने वाले 12 छात्रों के खिलाफ बीजेपी सांसद ने दर्ज कराई रिपोर्ट• लव, सेक्स एंड धोखा! दूसरे धर्म के युवक ने खुद को मराठी बताकर की शादी, न्याय के लड़की मुंबई से पहुंची मुरादाबाद• महिला के नहाते समय फोटो खींचने पर बवाल, दो पक्षों के बीच जमकर चले लाठी-डंडे, कई घायल• रानीखेत में भारत और अमेरिकी सैनिकों ने किया आतंकवादियों के खात्मे का संयुक्त अभ्यास• मायावती ने की घोषणा, छत्तीसगढ़ में अजीत जोगी की पार्टी से गठबंधन कर चुनाव लड़ेगी बसपा• मैच के बाद पाक कप्तान ने कहा, हम भुवनेश्वर की गेंदों को समझ नहीं पाए• 13 वर्षीय लड़की की जघन्य हत्या के बाद बनारस के एक इलाके में पुलिस के खिलाफ जबर्दस्त रोष• बिग बॉसः जसलिन ने सिंगल बेड लिया तो बगल वाला बेड लेने पहुंच गए अनूप जलोटा• प्रेम विवाह के तीन साल बाद ससुराल पहुंचा, शाम से कोई खोजखबर नहीं... दो दिन बाद मिली लाश•  फौजी के घर पर दबंगों ने किया कब्जा, शिकायत करने पहुंचा तो थानेदार ने थाने से भगाया• नई सरकार आने के बाद भी नहीं बदला पाक सेना का रवैया, बीएसएफ जवान के शव से की बर्बरता, आंख निकाली• मुलायम के पोते तेजप्रताप ने माना, शिवपाल के अलग होने से लोकसभा चुनाव की संभावना पर पड़ेगा प्रभाव• आयुष्मान की 'बधाई हो' का 'बधाईयां तैनू' रिलीज, हंस-हंस कर लोटपोट हो जाएंगे आप• शिक्षा विभाग को नहीं पता अटलजी का जन्म कब हुआ था, स्कूली किताब में गलत डेट डाली• कन्नौज : किशोरी की रेप के बाद हत्या, मनचले के डर से छोड़ दी थी पढ़ाई• रायबरेली के लाल ने किया कमाल, प्री रीजनल मैथमेटिक्स ओलंपियाड में हुआ चयन• अपने हक की लड़ाई से पीछे नहीं हटेंगी मुस्लिम महिलाएं, सायरा ने पीएम मोदी के प्रति जताया आभार• 'सड़क-2' का ट्रेलर रिलीज,फिर एक साथ दिखेंगे संजय दत्त और पूजा भट्ट• मौसा ने बनाया नाबालिग को अपनी हवस का शिकार, मौसी से मिलने आई थीं लड़की• पाकिस्तान पर भारत की शानदार जीत के बाद जश्न का माहौल, भुवी के घर पर जमकर हुआ नृत्य• कफन का तिरंगा ओढ़कर न्याय के लिए कलक्ट्रेट में धरने पर बैठीं शहीद की विधवा  


 

नई दिल्ली:   देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के 94 वर्ष की अवस्था में एम्स में लंबे इलाज के बाद आज कुए निधन से पूरा देश मर्माहत है उनके निधन पर देश भर में श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लगा हुआ है। 

हृदय नारायण दीक्षित, उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष

अटल बिहारी वाजपेई हमें हमेशा याद आते हैं। वह कहते थे कि तुम लेखक तो अच्छे हो लेकिन, तुम्हारी हिंदी भजन भाषा की हिंदी नहीं है तुम्हें बोलचाल की हिंदी का प्रयोग करना चाहिए। मैं भी लेखक हूं वह भी लेकर थे, मैं भी कवि हूं वह भी कभी थे और आज उनकी बहुत याद आती है। विधानसभा अध्यक्ष की आंखें वाजपेई जी को याद करते हुए छलक गई।

सतीश महाना, उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री

वाजपेई जी जब भी कानपुर आते थे प्रधानमंत्री बनने से पहले मैं उन्हें अपनी गाड़ी से ही लेकर जाता थे, चाहे उन्नाव जाना हो या किसी और जिले में वाजपेई जी के ड्राइवर के तौर पर मैं गाड़ी चलाता था। मुझे इस बात की बहुत खुशी है कि जो युगपुरुष थे मैं उनके सारथी के रूप में उनके वाहन चालक के तौर पर कई बार उनके साथ समय व्यतीत कर चुका हूं। वाजपेई जी की यादें याद करते हुए भावुक हुए सतीश महाना।

सुरेश खन्ना, यूपी कैबिनेट मंत्री

एक बार वाजपेई जी मुझसे सवाल जवाब कर रहे थे। उन्होंने मुझसे पूछा कि तुम राजनीति में क्या करने आए हो मैंने उन्हें जवाब दिया मैं प्रधानमंत्री बनना चाहता हूं। उन्होंने मेरी पीठ थपथपाई और बोले तो मंत्री बन गए हो बस प्रधान बनना बाकी है, ऐसी छवि के धनी थे वाजपेई जी।

तीरथ सिंह रावत, उत्तराखंड भाजपा के पूर्व अध्यक्ष 

अटल बिहारी वाजपेई की वजह से उत्तराखंड राज्य का निर्माण हुआ वह हमेशा पहाड़ से प्रेम करते थे आज उत्तराखंड की पूरी जनता वाजपेई जी को नमन करती हैं।

प्रीतम सिंह, उत्तराखंड कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष 

अटल जी का कांग्रेस के साथ मतभेद था लेकिन मनभेद नहीं था। इंदिरा गांधी की वह लोकसभा से प्रतिपक्ष के नेता के तौर पर तारीफ कर चुके हैं, उन्होंने इंदिरा गांधी को दुर्गा तक कहा, नरसिम्हा राव सरकार ने उन्हें भारत के प्रतिनिधि मंडल के नेता के तौर पर यूनाइटेड नेशंस भेजा। आज पूरा देश वाजपेई जी को नमन कर रहा है। राहुल गांधी के साथ होने वाली हमारी बैठक वाजपेई जी के निधन के बाद टल गई है अभी बैठक आज की जगह कल सुबह होगी।

धन सिंह रावत, उत्तराखंड सरकार में मंत्री  

अटल बिहारी वाजपेई की विचारधारा उनके सिद्धांत हमेशा अमर रहेंगे। मुख्यमंत्री और कैबिनेट की सलाह के बाद बतौर शिक्षामंत्री यह मेरी कोशिश होगी कि आने वाली पीढ़ी भी वाजपेई जी के विचारों से प्रेरणा लें। उत्तराखंड में कांग्रेस की सरकार और एनडी तिवारी के मुख्यमंत्री होने के बावजूद उन्होंने प्रदेश के विकास के लिए औद्योगिक पैकेज दिया उत्तराखंड की जनता वाजपेई जी को कभी भूल नहीं पाएगी।

गणेश जोशी, मसूरी से बीजेपी विधायक

वाजपेई जी हमेशा पहाड़ से प्रेम करते थे। 1986 में जब वाजपेई जी मसूरी क्षेत्र जैन धर्मशाला पहुंचे मैंने उन्हें कहा कि हमारा प्रदेश हमारा क्षेत्र सैनिकों की भूमि है और सैनिकों के लिए वन रैंक वन पेंशन लागू होना चाहिए। तब वाजपेई जी ने कहा कि जब बीजेपी की सरकार बनेगी यह मांग पूरी होगी और आज यह मांग पूरी हो चुकी है।

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: