Headline • एशिया कप में अफगानिस्तान ने श्रीलंका को हराकर सभी को चौकाया• राज्यपाल ने की योगी सरकार की प्रशंसा, कहा-डेढ़ साल में बहुत बेहतर हुई है कानून-व्यवस्था• कांग्रेसियों ने लोगों को लॉलीपॉप बांटकर पीएम की 557 करोड़ की योजनाओं का उड़ाया मजाक• इलाहाबाद ने नहीं निकलेगा मुहर्रम का जुलूस, ताजिएदारों ने गड्ढों के कारण लिया फैसला• लड़कियों से जबरन सेक्स करवाता था होटल का मैनेजर, रुद्रपुर में सेक्स रैकेट का खुलासा• बीजेपी विधायक लोनी पुलिस पर लगाया परिवार को परेशान करने का आरोप, पहले भी उठाया था मुद्दा• महज 4 साल की उम्र में करता है लाजवाब घुड़सवारी, दूर-दूर से आते हैं बच्चे के हुनर को देखने• पेट्रोल पम्प मैनेजर ने दिखाया साहस, ग्रामीणों के साथ मिलकर पकड़ा लूटकर भाग रहे एक बदमाश को• प्रदर्शन कर रहे सवर्ण समाज के लोगों से बीजेपी सांसद ने कहा, आप अकेले किसी को जीता नहीं सकते हो• तेज बुखार के चलते खाना बनाने से इनकार किया तो शौहर ने दे दिया तीन तलाक, सामूहिक में हुआ था निकाह• 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' का पहला पोस्टर आया सामने, जबरदस्त लुक में नजर आएं अमिताभ बच्चन• छेड़खानी से क्षुब्द होकर लड़की ने की आत्महत्या, परिजनों की शिकायत पर रिपोर्ट दर्ज, आरोपी फरार• महिला का साहस देख सभी दंग, मारपीट के दौरान दूसरी महिला को गिराकर हाथ से तमंचा छीन लिया• सीएम योगी ने कहा-अब आंखों का जटिल ऑपरेशन भी बीएचयू में होंगे• मुरादाबादः एक और बच्चा बना आदमखोर तेंदुए का निवाला, वन विभाग की सुस्ती से ग्रामीणों में रोष• जब डायल 100 की गाड़ी खड़ी कर जमकर नाचे पुलिस वाले, वीडियो वायरल• गोरखपुर जिला अस्पताल में न सेवा, न ही सुविधा, सोमवार को ही सीएम ने किया था निरीक्षण• निकाह के लिए अलग-अलग धर्म के प्रेमी युगल को पकड़ा, लड़की का धर्म परिवर्तन कराने का आरोप• उसे पुलिस ढूंढ रही थी लेकिन वह आया और हत्या कर चला गया, मेरठ की घटना से पुलिस पर सवाल• पीएम मोदी ने काशी को दी 557 करोड़ रुपए की योजनाओं की सौगात• BHU में बोले पीएम मोदी- काशी बनेगा पूर्वी भारत का दरवाजा,दिखने लगा बदलाव• BHU में सीएम योगी ने किया जनसभा को संबोधित, जानें क्या कहा...• वाराणसी : BHU पहुंचे पीएम मोदी, 557 करोड़ की योजनाओं की देंगे सौगात• सम्मेलन में खाने की मची लूट, राजबब्बर और गुलाम नबी आजाद के सामने भिड़े कांग्रेस कार्यकर्ता• कासगंज : पुरानी रंजिश में बदमाशों ने चाचा-भतीजे को मारी गोली,एक की मौत


भारतीय स्टेट बैंक ने अपने ग्राहकों के लिए बैलेंस जाने की प्रक्रिया को ओर आसान बना दिया है। एसबीआई ने अपने ग्राहकों के लिए मिसकॉल करने पर बैलेंस जानने की सुविधा शुरू की है।


बैंक की अध्यक्ष अरुंधति भट्टाचार्य ने एसबीआईक्विक नाम की एक सुविधा की शुरूआत की है। इसके तहत बैलेंस जानने के लिए या पिछले पाँच लेनदेन की जानकारी की सुविधा मिसकॉल और एसएमएस के जरिये दी गयी है, जबकि कार्ड ब्लॉक करने, होम लोन, कार लोन और एसबीआई क्विक के बारे में जानकारी पाने के लिए एसएमएस भेजना होगा।


एसबीआई क्विक के इस्तेमाल से पहले बैंक खाते के साथ दिये गये अपने मोबाइल नंबर से एक एसएमएस भेजकर उस नंबर को इस सुविधा के लिए पंजीकृत करना होगा। पंजीकरण के लिए आरईजी लिखकर एक स्पेस देकर अपना एकाउंट नंबर 9223488888 पर भेजना होगा। पंजीकरण की पुष्टि वाला एसएमएस तुरंत उपभोक्ता के नंबर पर आ जायेगा।  बैलेंस जानने के लिए बीएएल लिखकर 9223866666 परएसएमएस भेजा जा सकता है या मिसकॉल दिया जा सकता है। पिछले पाँच लेनदेन की जानकारी के लिए 9223866666 पर एमएसटीएमटी लिखकर एसएमएस भेजा जा सकता है, या मिसकॉल दिया जा सकता है।


बैंक के मुताबिक, कार्ड ब्लॉक कराने के लिए अंग्रेजी के बड़ेअक्षरों में ब्लॉक लिखकर स्पेस देकर कार्ड नंबर के अंतिम चार अंक 567676 पर एसएमएस करना होगा। वहीं होम लोन. कार लोन और एसबीआई क्विक के लिए अंग्रेजी के कैपिटल लेटर में क्रमशरू होम. कार या हेल्प लिखकर 9223588888 पर एसएमएस करना होगा। इसके बाद उन्हें एसएमएस से जानकारी दी जायेगी और संबंधित विभाग की टीम फोन पर कॉल भी करेगी।

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: