Headline • PM मोदी का ऐलान: आतंकियों की बहुत बड़ी गलती चुकानी होगी कीमत• गांधीजी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा सचिव पूजा पांडे को मिली जमानत• कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती विस्फोट 41 सीआरपीएफ जवानों की मौत• राजीव सक्सेना को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 22 फरवरी तक मिली अंतरिम जमानत • सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल और एलजी विवादों पर अपना फैसला सुनाया• केसरी: अक्षय कुमार अभिनीत ऐतिहासिक ड्रामा का पहला झलक वीडियो रिलीज़ • पीएम मोदी ने हरियाणा में की विकास परियोजनाओं की शुरुआत • राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मोदी सरकार पर जुबानी जंग • मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में SC ने राव के माफ़ी नामे को किया अस्वीकार लगाया 1 लाख का जुर्माना• आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर आंदोलन उग्र • शराब पर राजनीति: त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुख्यमंत्री पद का इस्तीफा देने की मांग• आ रही हूँ यूपी लूटने- वाराणसी में प्रियंका वाड्रा के खिलाफ लगाए गए पोस्टर• PM मोदी ने 300 करोड़ के भोजन वितरण पर मथुरा वासियो को किया सम्बोधित • आंध्र प्रदेश में PM का विरोधी पोस्टरों से स्वागत, उपवास पर बैठे चंद्रबाबू नायडू • J&K: हिमस्‍खलन के बाद फसे पुलिसकर्मियों की तलाश जारी • SC ने तेजस्वी यादव को पटना में सरकारी बंगला खाली करने का दिया आदेश • इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश के राज्य कर्मचारियों की हड़ताल को अवैध ठहराया • राहुल गांधी ने राफेल डील को लेकर PM मोदी पर सादा निशाना • ममता के धरने में शामिल होने वाले अधिकारियों पर गिर सकती है गाज• मुजफ्फरपुर आश्रय गृह में यौन उत्पीड़न: सुप्रीम कोर्ट ने बिहार से दिल्ली ट्रांसपर किया मामला• शेर से भिड़ा युवक, आत्मरक्षा के लिए शेर को ही मार डाला• PM मोदी 15 फरवरी को पहली स्वदेशी इंजन रहित वंदे भारत एक्सप्रेस को दिखाएंगे हरी झंडी • मनी लॉन्ड्रिंग केस: रॉबर्ट वाड्रा आज फिर पहुंचे ED दफ्तर• सुष्मिता ने चुनरी चुनरी सॉन्ग पर दूल्हा और दुल्हन के साथ किया जमकर डांस • किम जोंग और डोनाल्ड ट्रंप की दूसरी शिखर वार्ता 27-28 फरवरी को वियतनाम में


इलाहाबादः कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की कैलाश मानसरोवर यात्रा पर सवाल उठाए जाने पर कांग्रेस पार्टी ने बीजेपी पर पलटवार किया। कांग्रेस प्रवक्ता ने बीजेपी के नेताओं को ढोंगी हिन्दू करार दिया है।

कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी का कहना है कि राहुल गांधी की लोकप्रियता से बीजेपी के लोग बरगला-बौखला और खिसिया गए हैं, इसलिये वह कभी राहुल गांधी पर कैलाश मानसरोवर यात्रा के दौरान होटल में नॉनवेज खाने का आरोप लगाते हैं तो कभी चीनी नेताओं से बात करने का बहाना खोजने का। 

प्रियंका चतुर्वेदी के मुताबिक़ हिंदुत्व का नारा देकर लोगों की भावनाओं से खेलने वाले बीजेपी के लोग ढोंगी हिन्दू हैं। वह न तो भक्ति में विश्वास रखते हैं और न ही उन्हें राम मंदिर में विश्वास है।

उन्होंने बीजेपी नेताओं को नसीहत देते हुए कहा है कि उन्हें शर्म आनी चाहिए और ढोंगी हिंदुत्व छोड़ देना चाहिए। प्रियंका चतुर्वेदी ने राहुल गांधी के जीजा राबर्ट वाड्रा के खिलाफ एफआईआर को बदले की भावना से प्रेरित बताया है और कहा है कि बिजनेस करना कतई गलत नहीं है।   

 

शामलीः पश्चिमी यूपी में बारिश जमकर अपना कहर बरपा रही है। सबसे ज्यादा मुसीबत बारिश के कारण हो रहे जलभराव से हो रही है। रेलवे अंडरपास अब दरिया बने हुए हैं। इस कारण शामली मुख्यालय का सम्पर्क कई गाँवों से टूट गया है।

रेलवे अंडरपास में भरे पानी मे फंसे वाहनों के रेस्क्यू की अलग अलग क्षेत्रों की 4 तस्वीरें सामने आई हैं। एक बारात की बस व स्कूल बस और एक बोलेरो कार को रेस्क्यू किया गया जबकि कई वाहन घटों तक पानी मे फंसे रहे।

इस रेस्क्यू में वाहनों को निकालने के लिए क्रेन की मदद लेनी पड़ी। पहली तस्वीर में आप देख सकते है कि ट्रैक्टर पर बैठे लोग पानी मे फंसे हुए हैं। और इन्हें निकालने वाला यहां कोई नही है। काफा देर तक यह ट्रैक्टर यूंही फंसा रहा जिसके बाद बड़ी मुश्किल से इस ट्रैक्टर को निकाल गया।

 

वहीं दूसरी तस्वीर में एक बारात की बस पानी में फंसी हुई है। पानी इतना भरा है कि बस हिल तक नहीं सकती। बस में बैठे लोगों की भी जान आफत में फंसी है। जब बस नहीं निकली तो क्रेन का सहारा लेना पड़ा।

कुछ ऐसा ही हाल एक स्कूल बस का है, जहां स्कूल बस भी पानी में इस कदर फंसी कि छात्रों को पानी के बीच से निकाला गया। छोटी गाड़ियां जैसे बुलेरो भी पानी में बुरी तरह फंसी रही। 

ये अंडरपास लोगों की सुविधाओं के लिए बनाए गए थे , लेकिन ये लोगों के लिए मुसीबत बने हुए हैं। दिल्ली सहारनपुर रेलवे लाइन से सटे गांवो का लिंक शहर से पूरी तरह से टूट गया है। 

फर्रुखाबादः सरकार वन डिस्ट्रीक्ट वन टूरिज्म योजना लागू कर हर जिले में पर्यटन को बढ़ावा देना चाहती है, पर बौद्ध सर्किट के प्रमुख तीर्थ स्थल संकिसा में जो वाकया सामने आया है वह निहायत दुखद और शर्मनाक है। एक विदेशी पर्यटक की मौत पर प्रशासन उसके शव को सील करने के लिए महिला सिपाहियों तक की व्यवस्था नहीं कर पाया। पुरुष सिपाही ने हाथ से फ्राक खींचकर जिस तरह श्रीलंकाई बुद्ध उपासिका के शव को निर्वस्त्र किया उससे न केवल एक भक्त के शव की बेअदबी हुई है बल्कि प्रशासन की सतर्कता पर एक बड़ा सवालिया निशान लगा है।

अस्पताल के पास सरकार द्वारा संचालित शव वाहन हैं लेकिन श्रीलंका के इस दुखी परिवार को महंगे रेट पर प्राइवेट एम्बुलेंस से शव को पोस्टमार्टम हाउस और बाद में दिल्ली ले जाना पड़ा। 

श्रीलंका के रांडी रिचमंडवथू दुआटेंपल कलूतारा साउथ निवासी एलएल रांदिमा समेत 83 बौद्ध श्रद्धालुओं का दल 12 अगस्त को भारत में चेन्नई पहुंचा था। यह दल देश भर में स्थित बौद्ध स्थलों के दर्शन कर रहा है।  

श्रद्धालुओं को लेकर टूरिस्ट बस श्रावस्ती से संकिसा पहुंची। यहां बस से उतरते ही युवती की हालत बिगड़ने पर उन्हें पहले पीएचसी ले जाया गया। हालत गंभीर होने पर यहां से लोहिया अस्पताल रेफर कर दिया गया। लोहिया अस्पताल में युवती को मृत घोषित कर दिया गया।

श्रीलंकाई तीर्थयात्री के शव के पंचनामा की कार्रवाई हो रही थी उस दौरान पुरुष सिपाही ने तो हद कर दी। महिला सिपाही दूर हाथ बांधे खड़ी रही और सिपाही ने महिला के शव को फ्राक पकड़कर लटकाया ।

जिससे शव निर्वस्त्र होते होते बचा। एक महिला सिपाही मौजूद तो थी पर उसने शव में हाथ तक नहीं लगाया।  बौद्ध श्रद्धालुओं के दल के गाइड शिशिर कुमार ने बताया कि अचानक तबियत बिगड़ने से मौत हो गई है।

श्रीलंकाई तीर्थ यात्री के शव को पोस्टमार्टम हाउस तक ले जाने के लिए शव वाहन उपलब्ध नहीं कराया गया। तहसीलदार प्रदीप कुमार सिंह ने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद नियमानुसार सुविधाएं उपलब्ध कराई जायेंगी। जानकारी के अनुसार शव वाहन न मिलने पर मृतका के परिजनों ने प्राइवेट अस्पताल की एम्बुलेंस को दिल्ली तक ले जाने के लिए बुक किया है।

 

नैनीतालः हल्द्वानी के पूनम पाण्डे हत्याकांड के मामले को नैनीताल हाईकोर्ट की खंडपीठ ने स्वतः संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार को आदेश जारी किए है। आदेश में कहा गया है कि मामले की जांच एसआईटी से करा कर उसकी रिपोर्ट 2 सप्ताह के भीतर कोर्ट में पेश करें। 

साथ ही हाईकोर्ट ने लगतार बढ़ रहे आपराधिक मामलों पर नाराजगी भी व्यक्त की। वहीं कोर्ट ने एसएसपी को आदेश दिए कि बढ़ रहे अपराधों को रोकने के लिए अधिक चेकपोस्ट बनाए और सही तरह से पुलिस गस्त करें।

आपको बात दें कि बीते 27 अगस्त को हल्द्वानी में बदमाशों ने घर में घुसकर लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया था।

इस दौरान बदमाशों ने पूनम पांडे और उनकी बेटी अर्शी पांडे को गोली मार दी थी, जिसकी वजह से पूनम की मौके पर ही मौत हो गई थी। वहीं उनकी बेटी गंभीर रूप से घायल हो गई थीं। जिसका एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

हाईकोर्ट की खंडपीठ ने स्वतः संज्ञान लेते हुए मामले की एसआईटी जांच के आदेश दिए हैं। 

हरिद्वारः पिछले कई वर्षों से निर्माणाधीन मुजफ्फरनगर- देहरादून नेशनल हाईवे 58 बरसात के सीजन में लगातार और जर्जर होता जा रहा है। हाइवे में गड्ढों में सड़क तलाशना मुश्किल हो रहा है। हाईवे के गड्ढों में भरे पानी में आए दिन गाड़ियां फंस रही हैं जिससे लंबा जाम भी लग रहा है।

कांग्रेस पार्टी ने भी नेशनल हाईवे की जर्जर हालत को लगातार मुद्दा बनाया हुआ है। हरिद्वार महानगर कांग्रेस कमेटी ने सिंहद्वार चौक पर पहुंचकर केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया।

कांग्रेसियों का कहना है की केंद्र सरकार बनने के बाद केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी हरिद्वार आए थे और उन्होंने कुछ ही महीनों के अंदर नेशनल हाईवे के निर्माण का कार्य पूरा होने का दावा किया था लेकिन नेशनल हाईवे के हालात बद से बदतर हो गए हैं। जिसके कारण लोगों को ना सिर्फ मुश्किलें झेलनी पड़ रही है बल्कि कई दुर्घटनाएं भी हो रही है। जब तक हाईवे बनकर तैयार नहीं हो जाता कांग्रेस लगातार सरकार को घेरती रहेगी।

नेशनल हाईवे के निर्माण में लगी कंपनी एरा की मनमानी के कारण लाखों लोगों को मुश्किलें उठानी पड़ रही है। एनएचएआई ने एरा कंपनी से टेंडर वापस लिया तो कंपनी ने न्यायालय की शरण ले ली।

न्यायालय में मामला होने के कारण हाईवे का निर्माण कार्य बीच में ही रुका हुआ है। सरकार और एरा कंपनी के बीच चल रही रस्साकशी का खामियाजा लाखों की जनता को भुगतना पड़ रहा है।

हरिद्वार के सांसद और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक का दावा है कि केंद्र में भाजपा की सरकार बनने के बाद सड़क निर्माण का कार्य आजादी के बाद सबसे ज्यादा हुआ है लेकिन एनएच-58 का मामला न्यायालय में चले जाने के कारण निर्माण कार्य में देर हो रही है।

उनका कहना है कि एनएचएआई ने टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है और अब युद्ध स्तर पर कार्य शुरू होगा और जल्दी हाईवे निर्माण कार्य पूरा किया जाएगा। 

लगभग 9 वर्षों से बन रहे नेशनल हाईवे 58 के सामने केंद्र और राज्य की सरकारें बदलीं लेकिन नेशनल हाईवे की हालत जस की तस है। नेताओं द्वारा किए जा रहे दावे भी कोई पहली दफा नहीं है अब देखने वाली बात होगी की हाईवे की राह देख रहे हैं लोगों को कब तक नेशनल हाईवे 58 पर चलना नसीब हो पाता है।

 

:
:
: