Headline • 'समाचार प्लस' के सवाल पर बोले RSS प्रमुख मोहन भागवत-आरक्षण समस्या नहीं,आरक्षण पर राजनीति समस्या है• गोंडा में दर्दनाक सड़क हादसा, तीन की मौत, 10 घायल• लखनऊ : मूर्ति विसर्जन के दौरान गोमती नदी में डूबे 6 युवक, एक मौत, दो लापता• उन्नाव में बुखार का कहर, 24 घंटे में सात की मौत, 200 से ज्यादा बीमार• बसपा के पूर्व विधायक योगेश वर्मा को बड़ी राहत,हाईकोर्ट ने हटाई रासुका,रिहा करने का आदेश• बरेली :मोहर्रम पर ताजियों को लेकर पुलिस की बड़ी कार्रवाई,ढाई हजार से ज्यादा लोगों को जारी किए रेड कार्ड• इलाहाबाद में बीजेपी जिलाध्यक्ष ने अपने नाते रिश्तेदारों को बांट दिए सारे पद, युवाओं में भारी गुस्सा• भ्रष्टाचार की भेंट चढा बलरामपुर का विकास, लोगों ने शिकायत की तो बीजेपी विधायक बोले, गुंडे हैं ये लोग• सोशल मीडिया में आग लगा रही ही एक और भोजपुरी डांसर, डांस के लटके-झटके सपना चौधरी जैसे• आजमगढ़ में फिर मुठभेड़, बदमाश के साथ पुलिस अधिकारी को भी लगी गोली • प्रिंसिपल या जल्लाद! बच्चे को तबतक मारते रहे जब तक डंडा टूट न गया, क्लास में हंसने पर दी सजा• दामाद की हत्या के लिए 1 करोड़ की सुपारी दी, गैंग की लिंक आईएसआई से भी पाई गई• मृत महिला को जिंदा दिखाकर कर लिया मकान का बैनामा, असली मालिक पर घर छोड़ने की धमकी• महिलाओं ने सरेराह प्रधान में चप्पलों और लाठियों से की पिटाई, पति पत्नी के झगड़े को सुलझाना पड़ा भारी• भारत-पाक मुकाबले का रोमांच चरम पर, कानपुर में फैंस ने बप्पा से की टीम इंडिया की जीत की प्रार्थना• पाकिस्तान ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय, क्या कमाल कर पाएगी रोहित एंड कंपनी?• जब कुर्ता पजामा पहनकर नानी के घर गणपति पूजा में पहुंचे तैमूर,फोटो और वीडियो वायरल• क्यों हो रही है यूपी के इस दरोगा की प्रशंसा, जान की बाजी लगाकर किया कमाल• 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' से सामने आया फातिमा सना शेख का दमदार लुक,आमिर खान ने दी चेतावनी • रामकथा पर झूमे शिवपाल, कहा-समय बताएगा कौन किसके साथ है• साथ में बीड़ी पी रहे दोस्त की जेब में पैसा देखा तो लालच आ गया, ईंट मारकर हत्या कर पैसे ले लिए• शिकायत करने पर नहीं सुनी लेकिन जब आत्मदाह करने पहुंचा गरीब आदमी तो तुरंत जांच बैठा दी• चंद्रशेखर रावण और मदनी में गोपनीय बातचीत, शेरसिंह राणा ने भी पेश कर दी चुनौती• राजा भैया के पिता और प्रशासन में ठनी ! मोहर्रम के दिन भंडारे के कार्यक्रम में प्रशासन ने लगाई रोक• तीन तलाक पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला,अध्यादेश को दी मंजूरी


नई दिल्लीः कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर विदेशी धरती से आरएसएस पर हमला बोला है।  राहुल ने लंदन में एक कार्यक्रम के दौरान आरएसएस की तुलना सुन्नी इस्लामी संगठन मुस्लिम ब्रदरहुड से कर दी। उन्होंने कहा कि आरएसएस भारत के हर संस्थान पर कब्जा करना चाहता है और देश के स्वरूप को ही बदलना चाहता है। 

बताते चलें कि मुस्लिम ब्रदरहुड मिस्र का सबसे पुराना और सबसे बड़ा इस्लामी संगठन है जिसकी स्थापना 1928 में हसन अल-बन्ना ने की थी। मुस्लिम ब्रदरहुड का एक मुख्य मकसद है कि देश का शासन इस्लामी कानून यानी शरिया के आधार पर चलाना है। अरब देशों में सक्रिय इस संगठन पर आतंकवाद को बढ़ावा देने का भी आरोप लगता रहा है। मिस्र में इस संगठन फिलहाल अवैध करार दिया जा चुका है।

उन्होंने कहा कि हम एक संगठन से संघर्ष कर रहे हैं जिसका नाम आरएसएस है जो भारत के मूल स्वरूप (नेचर ऑफ इंडिया) को बदलना चाहता है। भारत में ऐसा कोई दूसरा संगठन नहीं है जो देश के संस्थानों पर कब्जा जमाना चाहता हो।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, हम जिससे जूझ रहे हैं वह एकदम नया विचार है। यह ऐसा विचार है जो अरब जगत में मुस्लिम ब्रदरहुड के रूप में पाया जाता है, और यह विचार यह है कि एक खास विचार को हर संस्थान को संचालित करना चाहिए, एक विचार को बाकी सभी विचारों को कुचल देना चाहिए।

राहुल ने उदाहरण देते हुए कहा, “आप सर्वोच्च न्यायालय के चार न्यायाधीशों की प्रतिक्रिया देखिए जो सामने आकर कहते हैं कि उन्हें काम नहीं करने दिया जा रहा है। रघुराम राजन (पूर्व रिजर्व बैंक गवर्नर) और नोटबंदी के झटके को देखिए। आप देख सकते हैं कि भारत के संस्थानों को कैसे एक-एक कर तोड़ा जा रहा है। इस सबका जवाब दिया जाना चाहिए, एक ऐसा जवाब जिसमें वे सब शामिल हों जो भारत ने जो कुछ हासिल किया है, उसका मूल्य समझते हों।

राहुल ने कहा कि नोटबंदी का फैसला हर एक संस्थान की अवहेलना कर लिया गया। रिजर्व बैंक से बात नहीं की गई, वित्त मंत्री इसके बारे में नहीं जानते थे। इसका विचार सीधे आरएसएस से आया था।

इससे पहले राहुल गांधी ने बर्लिन में कहा था कि भाजपा और कांग्रेस में विचारधारा का अंतर है, आरएसएस में कभी आपको कोई महिला नहीं दिखेगी। वे लोग महिलाओं के साथ भेदभाव करते हैं, लेकिन कांग्रेस में ये आपको नहीं दिखेगा।

 

इटावाः जिला अस्पताल में तैनात डॉक्टर मरीजों का साथ जमकर धन उगाही कर रहे हैं। यह आरोप यहां आने वाले मरीज लगा रहे हैं। जब कोई गम्भीर मरीज जिला अस्पताल में पहुंचता है तो जिला अस्पताल के डॉक्टर उसे सैफई मिनी पीजीआई रैफर न करके बल्कि अपनी सेटिंग के प्राईवेट नर्सिंग होम में भर्ती करा देते हैं। फिर नर्सिंग होम में ये सरकारी डॉक्टर मरीजों का जमकर दोहन करते हैं। 

ऐसा ही एक मामला जिला अस्पताल इलाज कराने आयी एक महिला मरीज का सामने आया है। इस मरीज का जिला अस्पताल के डॉक्टर पीयूष तिवारी ने 40 हजार रुपये सुविधा शुल्क लेकर बच्चादानी का ऑपरेशन किया और टांके लगा दिये।

जब घर आकर उस महिला मरीज को परेशानी बड़ी तब उसके परिजन उस महिला मरीज को दोबारा जिला अस्पताल ले गए तो डॉक्टर पीयूष तिवारी ने जब चैकअप किया तो पता चला कि बच्चा दानी में एक कपड़ा पड़ा है। अपनी गलती छिपाने के लिये महिला मरीज को कैंसर बताकर अपनी सैटिंग के शहर के नर्सिंग होम में भर्ती करा दिया।

इस प्राइवेट नर्सिंग होम में भी सरकारी डॉक्टर ने महिला मरीज के परिजनों से 18 हजार रुपये वसूले। और ऑपरेशन के बाद महिला मरीज को घर भेज दिया। आज भी मरीज की हालत गम्भीर है और वह जिंदगी मौत से जूझ रही है। ब्लीडिंग नहीं रुक रही है। डॉक्टर साहब जिला अस्पताल से फ़रार हैं। 

नई दिल्लीः कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर आरएसएस पर निशाना साधा है। और वह भी विदेशी धरती से। राहुल गांधी ने जर्मनी के बर्लिन में कहा कि बीजेपी आरएसएस हमारे देश को बांटने में लगे हैं, हमारे देश में नफरत फैलाते हैं।

राहुल गांधी ने कहा, ’आज हिंदुस्तान में जो सरकार है वो दूसरे तरीके से काम करती है। बीजेपी और आरएसएस के लोग हमारे देश को बांटने में लगे हुए हैं। ये लोग देश में नफरत फैलाते हैं। हमारा काम लोगों को एक साथ लाने का है और देश को आगे बढ़ाने का है। ये काम हमने करके दिखाया है।

राहुल गांधी ने कहा, ’भारत की असली ताकत हर एक व्यक्ति की आवाज सुनने की है। चाहे वो सबसे कमजोर हो या सबसे गरीब व्यक्ति हो। भारत के हर धर्म की यही सोच है कि पंक्ति के आखिरी व्यक्ति की बात सुननी है।’

वहीं बीजेपी ने राहुल के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि राहुल बीजेपी फोबिया से ग्रसित है। 

गौरव भाटिया ने कहा, ’’राहुल गांधी में वो परिपक्वता नहीं है जो एक नेता में होनी चाहिए। राहुल गांधी ने पहले भी विदेशी धरती से ऐसी बातें कही हैं। उन्होंने पहले भी कहा कि कुछ पार्टियां डराने का काम कर रही हैं, देश में अल्पसंख्यक खतरे में है. जबकि सच्चाई ये है कि सिर्फ कांग्रेस पार्टी का अस्तित्व खतरे में है।’

 

वॉशिंगटनः पिछले काफी समय से अफगानिस्तान में पाकिस्तान की भूमिका को लेकर अमेरिका और पाकिस्तान के संबंधों में तनाव देखा जा रहा है।   अमेरिकी सेना के एक रिटायर्ड कर्नल ने पाकिस्तान के खिलाफ बयान देकर फिर चर्चा को गरमा दिया है। कर्नल लॉरेंस सेलिन ने एक अमेरिकी समाचार पोर्टल द डेली कॉलर की वेबसाइट के एक लेख में लिखा है कि अफगानिस्तान में पाकिस्तान ने अमेरिका को हमेशा धोखा ही दिया है। यूं कहें कि पाकिस्तान ने अमेरिका की पीठ में छुरा भोंका है। 

उनका कहना है कि अक्टूबर 2001 में अफगानिस्तान में अमेरिका द्वारा बमबारी करने के तुरंत बाद पाकिस्तान की आईएसआई ने तालिबान लड़ाकों को हथियार और गोला-बारूद मुहैया कराए थे।

सेलिन, जो कि अफगानिस्तान, उत्तरी इराक और पश्चिम अफ्रीका के मानवीय मिशन में अपनी सेवाएं दे चुके हैं, ने पोर्टल में लिखा है कि पाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने आईएसआई के डायरेक्टर लेफ्टिनेंट जनरल महमूद मोहम्मद और सेना के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक बुलाई थी, जिसमें इस बात पर सहमति हुई कि पाकिस्तान को अमेरिका को उसके तालिबान और अलकायदा के खिलाफ युद्ध में मदद नहीं करनी चाहिए।  

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान का दोगलापन बीते 17 सालों से चला आ रहा है। मिलिट्री और आर्थिक मदद के रूप में अरबों डॉलर लेने वाले पाकिस्तान ने अफगानिस्तान में तालिबान, हक्कानी नेटवर्क और आतंकी गुटों का समर्थन कर अमेरिका का खून बहाया है।

मुरादाबादः यहां युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। मृतक के परिजनों ने वन विभाग के दरोगा समेत 5 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। 

मुरादाबाद के भगतपुर थाना क्षेत्र में एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या के विरोध में मृतक के परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर विरोध प्रदर्शन किया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने परिजनों को हटाकर जाम खुलवाया। परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने हत्या के आरोप में एक वन दारोगा समेत पांच लोगों को नामजद किया गया है। 

सोनू नाम का युवक वन विभाग की स्थानीय चौकी में मजदूरी का काम कर रहा था। मंगलवार रात वन विभाग में तैनात एक दरोगा ने मृतक सोनू को विभागीय दस्तावेज लाने के लिए डूंगरपुर चौकी पर भेजा था। सोनू देर रात में ही दरोगा के आदेश पर दस्तावेज लेने के लिए निकला लेकिन रास्ते में घर होने की वजह से वह पहले घर चला गया।

परिजनों का कहना है कि उसी समय सोनू के मोबाइल पर डूंगरपुर चौकी से किसी ने फोन किया था। उसने सोनू को जल्द चौकी पर वापस आने को कहा। 

उसके बाद सोनू तुरंत अपनी बाइक लेकर चला गया और फिर पूरी रात वापस लौट कर नहीं आया। इसके बाद परिजनों को सुबह सोनू का शव सड़क किनारे होने की सूचना मिली।

हत्या की सूचना पर परिजनों में मातम पसर गया। हत्या के विरोध में परिजनों ने शव को चौकी के पास सड़क पर रख कर जाम लगा दिया। जिसे पुलिस ने किसी तरह आरोपियों को पकड़ने का आश्वासन देकर खुलवाया। वहीं परिजनों ने वन विभाग के अधिकारियों पर हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी है। इस मामले में मुरादाबाद पुलिस का कहना है कि परिजनों की तहरीर पर वन विभाग के दरोगा समेत पांच लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गयी है।

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: