Headline • गाजियाबाद की वसुंधरा कॉलोनी में नहीं रुक रही हैं चोरी की घटनाएं, लॉकर तोड़कर नगदी और लैपटॉप ले उडे़• स्वामी अग्निवेश ने दी आरएसएस प्रमुख को मॉब लिंचिंग पर खुली बहस की चुनौती• SC-ST एक्ट के विरोध में प्रदर्शन करने वाले 12 छात्रों के खिलाफ बीजेपी सांसद ने दर्ज कराई रिपोर्ट• लव, सेक्स एंड धोखा! दूसरे धर्म के युवक ने खुद को मराठी बताकर की शादी, न्याय के लड़की मुंबई से पहुंची मुरादाबाद• महिला के नहाते समय फोटो खींचने पर बवाल, दो पक्षों के बीच जमकर चले लाठी-डंडे, कई घायल• रानीखेत में भारत और अमेरिकी सैनिकों ने किया आतंकवादियों के खात्मे का संयुक्त अभ्यास• मायावती ने की घोषणा, छत्तीसगढ़ में अजीत जोगी की पार्टी से गठबंधन कर चुनाव लड़ेगी बसपा• मैच के बाद पाक कप्तान ने कहा, हम भुवनेश्वर की गेंदों को समझ नहीं पाए• 13 वर्षीय लड़की की जघन्य हत्या के बाद बनारस के एक इलाके में पुलिस के खिलाफ जबर्दस्त रोष• बिग बॉसः जसलिन ने सिंगल बेड लिया तो बगल वाला बेड लेने पहुंच गए अनूप जलोटा• प्रेम विवाह के तीन साल बाद ससुराल पहुंचा, शाम से कोई खोजखबर नहीं... दो दिन बाद मिली लाश•  फौजी के घर पर दबंगों ने किया कब्जा, शिकायत करने पहुंचा तो थानेदार ने थाने से भगाया• नई सरकार आने के बाद भी नहीं बदला पाक सेना का रवैया, बीएसएफ जवान के शव से की बर्बरता, आंख निकाली• मुलायम के पोते तेजप्रताप ने माना, शिवपाल के अलग होने से लोकसभा चुनाव की संभावना पर पड़ेगा प्रभाव• आयुष्मान की 'बधाई हो' का 'बधाईयां तैनू' रिलीज, हंस-हंस कर लोटपोट हो जाएंगे आप• शिक्षा विभाग को नहीं पता अटलजी का जन्म कब हुआ था, स्कूली किताब में गलत डेट डाली• कन्नौज : किशोरी की रेप के बाद हत्या, मनचले के डर से छोड़ दी थी पढ़ाई• रायबरेली के लाल ने किया कमाल, प्री रीजनल मैथमेटिक्स ओलंपियाड में हुआ चयन• अपने हक की लड़ाई से पीछे नहीं हटेंगी मुस्लिम महिलाएं, सायरा ने पीएम मोदी के प्रति जताया आभार• 'सड़क-2' का ट्रेलर रिलीज,फिर एक साथ दिखेंगे संजय दत्त और पूजा भट्ट• मौसा ने बनाया नाबालिग को अपनी हवस का शिकार, मौसी से मिलने आई थीं लड़की• पाकिस्तान पर भारत की शानदार जीत के बाद जश्न का माहौल, भुवी के घर पर जमकर हुआ नृत्य• कफन का तिरंगा ओढ़कर न्याय के लिए कलक्ट्रेट में धरने पर बैठीं शहीद की विधवा  • पुलिस ने निर्दोष युवक को किया गिरफ्तार,फिर जेल भेजने के लिए खुद तैयार की जहरीली शराब,वीडियो वायरल !• अलीगढ़ : पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराए 25-25 हजार के इनामी बदमाश,थानाध्यक्ष घायल


नई दिल्ली. उत्तर कोरिया में भीषण बाढ़ से कम से कम 76 लोगों की मौत हो गई है। वहीं 75 लोग लापता बताए जा रहे हैं। इनमें अधिकतर बच्चे हैं। यह जानकारी रेड क्रास ने गुरुवार को दी है। 

-मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यहां बाढ़ की वजह से हजारों लोग बेघर गए हैं। 

-बाढ़ और भूस्खलन की घटनाओं में उत्तर एवं दक्षिण ह्वांगही प्रांतों में कई घर, क्लीनिक और स्कूल सहित 800 से अधिक इमारतें इसकी चपेट में आ गए है। वहीं 76 लोगों की मौत हो गई है और 75 लोग घायल बताए जा रहे हैं।रेड क्रॉस की टीम लापता लोगों की तलाश में जुटी हुई है।

-एक अधिकारी के मुताबिक, यहां हजारों लोग बेघर हो गए हैं। उन्हें तत्काल स्वास्थ्य सेवाओं, आश्रय, भोजन, साफ पेयजल और सफाई व्यवस्था की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि ठंड का मौसम आने वाला है, ऐसे में इस बात की चिंता है कि इस आपदा से स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं और कुछ समुदायों के लिए भोजन की कमी का खतरा बढ़ जाएगा।

रायबरेलीः यहां के मुंशीगंज में स्थित निर्माणधीन एम्स में कार्य कर रही रामा सिविल इंडिया कंस्ट्रक्सन प्राइवेट लिमिटेड के प्रोजेक्ट मैनेजर बी एन त्रिपाठी ने बीजेपी नेता अतुल सिंह के विरुद्ध धमकाने व घर से असलहों के दम पर अपने साथियों के साथ उठवाकर ले जाने का का मुकदमा दर्ज करवाया है।

बीजेपी नेता पर आरोप होने के चलते पहले तो पुलिस मामले को टालने में जुटी रही, पर फिर मजबूरन एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की बात कर रही है।

अप्रैल माह में एम्स के निर्माण को लेकर 269 करोड़ रुपये आये थे और इसका निर्माण कार्य रामा सिविल इंडिया कांस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड को मिला हुआ है।

जिसे 2020 तक निर्माण कार्य पूरा करने को कहा गया है। आरोप है कि एम्स में सर्विस प्रोवाइडर को लेकर बीजेपी नेता अपने लोगों को काम देना चाह रहे थे जबकि प्रोजेक्ट मैनेजर ने सर्विस प्रोवाइडर का काम पूर्व विधायक अखिलेश सिंह के गुर्गों को दे रखा है। 

वहीं पुलिस बीजेपी नेता से मामला जुड़ा होने पर पहले मामले को दबाने में जुटी रही पर जब मामला उजागर हो गया तो मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस पूरे मामले में पुलिस का कोई भी अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।

गोंडाः सीएम योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को जिले के तरबगंज क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र बरौली बाबा मठ में के हालात का जायजा लिया। लगातार दो बार दौरा स्थगित होने के बाद आज सीएम योगी जिले के बाढ़ प्रभावित इलाके के दौरे पर थे और बस्ती, बाराबंकी, सीतापुर जिले के दौरे के क्रम में आज गोंडा पहुंचे और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री वितरित की और उनसे मुलाकात कर उनका हालचाल जाना। 

वहीं उन्होंने भरोसा दिलाया की सभी बाढ़ पीड़ितों को सभी तरह की सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मंच से साफ किया कि सरकार चाहे वह केंद्र की हो या फिर प्रदेश की वह बाढ़ पीड़ितों और जरूररमन्दों के साथ है।

वहीं बाढ़ राहत मंच से सीएम ने पूर्ववर्ती सरकारों पर निशाना साधते हुये कहा की पहले सर्पदंश और नाव दुर्घटना में मुआवजा नहीं मिलता था मगर भाजपा की सरकार में सभी को जंगली जानवरों, सांप काटने, और अन्य तरीके से बाढ़ इलाके में मौत पर सरकार ने व्यवस्था कर रखी है।

सीएम योगी नें यह भी कहा कि सभी को समुचित आवास, भोजन एवं अन्य सुविधाएं मुहैया कराई जायेगी। साथ ही अफसरों को जनप्रतिधियों को स्पष्ट निर्देश है कि वे बाढ़ पीड़ितों के बीच में रहें और उनको हर सम्भव मदद करें। मंच से उतरकर सीएम ने बाढ़ राहत सामग्री बाँटी और उनका।

भारत बंद के सवाल पर सीएम ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी इस देश के प्रत्येक व्यक्ति की नागरिक की सुरक्षा समृद्धि खुशहाली के लिए संकल्पित है और हम जाति मजहब को बांटने के पक्षधर नहीं है। कोई भी कानून संरक्षण देने के लिए बनाया जाता है।  किसी भी हाल में कानून का दुरुपयोग नहीं होने देंगे। 

उन्होंने कहा कि हम सबको आश्वासन देते हैं कि भारत बंद का कोई मतलब नहीं है लोगों की अपनी भावनाएं हैं और लोकतन्त्र में सबको अपनी बात कहने का अधिकार है और सरकार सबकी सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। गोंडा के बाद सीएम बाराबंकी रवाना हो गये। 

 

हरदोईः यहां के अतरौली थाना क्षेत्र के ग्राम नौवाखेड़ा मजरा पुवांया मे कुएं मे बीस फिट नीचे रखे पंखे को पानी मे डूबने से बचाने के लिए उतरे चार भाईयों में से दो की जहरीली गैस से मौत हो गई है।

दो अन्य भाइयों की हालत गंभीर बनी हुई है। मृतकों और घायलों में एक सगा और एक चचेरा भाई होने से दो परिवारों मे कोहराम मच गया। सण्डीला के क्षेत्राधिकारी शैलेन्द्र सिंह राठौर और उपजिलाधिकारी उदयभान सिंह ने मौके पर पहुंच कर हालात का जायजा लिया।

अतरौली इंस्पेक्टर दीनानाथ मिश्र ने घायलों को इलाज के लिए आनन फानन अस्पताल पहुंचाया और शवों को कब्जे मे लेकर रजाना पत्नी हरिपाल की तहरीर पर पोस्टमार्टम की कार्रवाई शुरू कर दी।

ग्राम नउवाखेड़ा से करीब 500 मीटर दूर उत्तर दिशा की ओर स्थित कुएं में करीब बीस फिट नीचे एक पंखा खेतों की सिंचाई करने के लिए रखा था। ज्यादा बारिश होने से वाटर लेवल ऊपर चढ़ आया। कुएं में पानी करीब पांच फिट अधिक ऊपर चढ़ आया।

बताते हैं पंखा खराब न होने पाए इसके लिए बुधवार दोपहर दो सगे भाई राकेश पुत्र कल्लू व सत्रोहन पुत्र कल्लू और इन्हीं के दो चचेरे भाई विकास पुत्र हरिपाल व प्रभास पुत्र हरिपाल गये थे। इनमें से राकेश और विकास पहले कुएं के अन्दर उतर गये। काफी समय तक कोई ऊपर नहीं आया और कोई आहट भी आती नहीं देख सत्रोहन और चचेरा भाई प्रभास भी कुएं मे नीचे उतर गए। काफी समय तक वह दोनों भी बाहर नहीं आये और कोई आहट भी नहीं आयी।

यह पूरा नजारा कुछ दूरी पर खड़ी उन लोगों की चाची बड़क्की पत्नी खगेसुर ने देख कर गांव में गुहार  लगाई तो तमाम गांव वाले मौके पर पहुंच गये। सूचना पाकर इंस्पेक्टर दीनानाथ मिश्र भारी मात्रा में फोर्स के साथ घटनास्थल पर पहुंच कर ग्रामीणों की सहायता से चारों लोगों को कुएं से बाहर निकाला।

चारों को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भरावन ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने राकेश (35) वर्ष को मृत घोषित कर दिया। शेष तीनों की हालत गम्भीर देख लखनऊ स्थित ट्रॉमासेन्टर के लिए रिफर कर दिया।लखनऊ ले जाते समय विकास (20) वर्ष की भी मौत हो गई। जबकि सत्रोहन(22) और प्रभास (20) की हालत गम्भीर बतायी जा रही है।

पुलिस ने बताया कि प्रथम दृष्ट्या मौत कुएं के अन्दर मौजूद जहरीली गैस से होने का अनुमान लगाया जा रहा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर सही कारण स्पष्ट होगा।

 

कोलकाताः शहर माझेरहाट इलाके में 40 साल पुराना पुल ढहने से 1 की मौत हो गई तो तकरीबन 21 लोग अस्पताल में हैं। उधर, राज्य की ममता बनर्जी सरकार ने पुल ढहने की जांच के लिए चीफ सेक्रेटरी के नेतृत्व में एक कमेटी का गठन किया है। यह कमेटी दस दिनों के भीतर सरकार को अपनी रिपोर्ट देगी। उधर, सरकार ने शहर के दूसरे पुलों की जांच कराने के भी निर्देश दिए हैं।

बताया जा रहा है कि अभी भी कई लोग अभी पुल के मलबे में दबे हुए हैं। इन्हें निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। साथ ही सफाई का काम भी जारी है।

बता दें कि पिछले 6 साल में कोलकाता में करीब तीन पुल गिर चुके हैं। इससे पहले 2016 में कोलकाता के बड़ा बाजार इलाके में पुल गिरा था जिसमें 26 लोगों की मौत हो गई थी। 

मंगलवार को कोलकाता में हुए भीषण पुल हादसे में बड़ी लापरवाही सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने पहले ही पीडब्ल्यूडी को पुल की स्थिति के बारे में आगाह कर दिया था लेकिन समय रहते पुल की मरम्मत करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया।

उधर, इस मुद्दे पर अब राजनीति शुरू हो गई है। बीजेपी ने राज्य की ममता सरकार पर निशाना साधा है और इस्तीफे की मांग की है। उधर, त्रृणमूल कांग्रेस ने बीजेपी पर पुल हादसे को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाया है। 

मंगलवार शाम पुल गिरने की इस घटना के बाद मौके पर एनडीआरएफ, सेना, पुलिस और अन्य विभागों की टीमें राहत कार्य में जुटी हुई हैं।

घटना के बाद अब तक कई घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। साथ ही कई लोगों के मलबे में होने की आशंका जताई जा रही है।

इसके रख रखाव की जिम्मेदारी पीडब्ल्यूडी और रेलवे प्रशासन की थी। इस हादसे में मरने वाले शख्स की पहचान बाइक चालक सोमेन बाग के रूप में हुई है जो उस वक्त पुल पार कर रहे थे। जैसे ही पुल का एक हिस्सा टूटकर दो में बंटा वह सिर के बल उसी जगह पर गिर गए। उनके अलावा तीन बाइक, एक मिनीबस और पांच कारें भी वहां फंस गई। 

 

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: