Headline • राजस्‍थान का गुर्जर आंदोलन शनिवार को खत्म• पुलवामा आतंकी हमले पर सर्वदलीय बैठक शुरू• PM मोदी का ऐलान: आतंकियों की बहुत बड़ी गलती चुकानी होगी कीमत• गांधीजी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा सचिव पूजा पांडे को मिली जमानत• कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती विस्फोट 41 सीआरपीएफ जवानों की मौत• राजीव सक्सेना को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 22 फरवरी तक मिली अंतरिम जमानत • सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल और एलजी विवादों पर अपना फैसला सुनाया• केसरी: अक्षय कुमार अभिनीत ऐतिहासिक ड्रामा का पहला झलक वीडियो रिलीज़ • पीएम मोदी ने हरियाणा में की विकास परियोजनाओं की शुरुआत • राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मोदी सरकार पर जुबानी जंग • मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में SC ने राव के माफ़ी नामे को किया अस्वीकार लगाया 1 लाख का जुर्माना• आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर आंदोलन उग्र • शराब पर राजनीति: त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुख्यमंत्री पद का इस्तीफा देने की मांग• आ रही हूँ यूपी लूटने- वाराणसी में प्रियंका वाड्रा के खिलाफ लगाए गए पोस्टर• PM मोदी ने 300 करोड़ के भोजन वितरण पर मथुरा वासियो को किया सम्बोधित • आंध्र प्रदेश में PM का विरोधी पोस्टरों से स्वागत, उपवास पर बैठे चंद्रबाबू नायडू • J&K: हिमस्‍खलन के बाद फसे पुलिसकर्मियों की तलाश जारी • SC ने तेजस्वी यादव को पटना में सरकारी बंगला खाली करने का दिया आदेश • इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश के राज्य कर्मचारियों की हड़ताल को अवैध ठहराया • राहुल गांधी ने राफेल डील को लेकर PM मोदी पर सादा निशाना • ममता के धरने में शामिल होने वाले अधिकारियों पर गिर सकती है गाज• मुजफ्फरपुर आश्रय गृह में यौन उत्पीड़न: सुप्रीम कोर्ट ने बिहार से दिल्ली ट्रांसपर किया मामला• शेर से भिड़ा युवक, आत्मरक्षा के लिए शेर को ही मार डाला• PM मोदी 15 फरवरी को पहली स्वदेशी इंजन रहित वंदे भारत एक्सप्रेस को दिखाएंगे हरी झंडी • मनी लॉन्ड्रिंग केस: रॉबर्ट वाड्रा आज फिर पहुंचे ED दफ्तर


नैनीतालः देहरादून में भाऊवाला स्कूल में 10 की छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म और दून अस्पताल में जच्चा बच्चा की मौत के मामले को नैनीताल हाईकोट ने स्वतः संज्ञान लेते हुए प्रदेश के मुख्य सचिव को मामले की जल्द से जल्द जांच पूरी करने के आदेश दिए हैं। 

साथ ही हाईकोर्ट ने बच्चों में बढ़ रही पोर्न साइट की लत को गंभीरता से लेते हुए सरकार को इसे रोकने के लिए उपाय करने को कहा है।

कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश राजीव शर्मा और न्यायाधीश मनोज कुमार तिवारी की खंडपीठ ने केंद्र सरकार को देश भर में 859 पोर्न वैबसाईटों को बंद करने के आदेश दिए हैं।

साथ ही कोर्ट ने इन्टरनेट सर्विस प्रोवाईडरों आईएसपी को भी आदेश दिए हैं कि वो केन्द्र सरकार की सूची के आधार पर पोर्न वैब-साईट को बंद करें ताकि बच्चों के मन में गलत प्रभाव ना पढें। लगातर बढ़ रही रेप समेत अन्य घटनाओं को रोका जा सके और बच्चों के मन साफ रह सके।

आपको बता दें कि देहरादून के भाऊवाला में स्कूल में छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म एवं गर्भपात कराए जाने तथा दून अस्पताल में उपचार नहीं मिलने की वजह से एक जच्चा-बच्चा की मौत हो गई थी, जिसे नैनीताल हाईकोर्ट ने स्वतः संज्ञान में लिया था।

कोर्ट द्वारा मामले को संज्ञान में लेने के बाद सरकारी पक्ष द्वारा मामलों में की गई कार्रवाई का ब्यौरा जुटाया था। 

वहीं सरकार ने भी जीआरडी स्कूल में छात्रा के साथ हुए गैगरेप को गंभीरता से लेते हुए स्कूल की मान्यता को रदद कर दिया।

हरदोईः  यहां के बेनीगंज कोतवाली क्षेत्र से पेट पालने व चंद रुपयों की खातिर अपना देश छोड़कर दूसरे देश सऊदी अरब में मजदूरी करने गए युवक के शव को दिलाने के लिए एक महिला डीएम की चौखट पर पहुंची।

महिला का आरोप है कि उसके पति की वहां दो वक्त की रोटी तक न मिलने के चलते मौत हो गई है। अब उसके पति के शव को भी उसे नहीं सौंपा जा रहा है। परिजनों ने बताया कि उनको बताया गया है कि युवक की वहां पर मौत हो भी हो गई है।

अब उसका परिवार विदेशमंत्री और प्रधानमंत्री से उसके शव को स्वदेश भेजने की मांग कर रहा है। लेकिन उसके गरीब परिवार की पहुंच सिर्फ डीएम तक ही है। वहीं इस पूरे प्रकरण में सूबे की राजधानी लखनऊ का भी एक युवक शामिल है। जिसे विदेश भेजने वाला एजेंट बताया जा रहा है।

डीएम की चौखट पर पहुंची महिला हरदोई जिले के बेनीगंज थाना क्षेत्र के उमरारी गांव निवासी वसीम अली उम्र करीब 45 वर्ष की पत्नी खलीफा बानो हैं। डीएम को दी गयी अपनी दरख्वास्त में उसने कहा है कि घर में बेहद गरीबी के चलते बीते एक वर्ष पूर्व उसका पति नौकरी के लिए सऊदी अरब गया था।

बताया गया कि लखनऊ के भठौली चैराहा निवासी एजाज नाम के युवक ने उसे विदेश भेजने का ठेका लिया था। उसने वहां पर अच्छी जगह पर नौकरी दिलवाने की बात कही थी। आरोप है कि इस पर एजेंट ने डेढ़ लाख रुपए भी लिए। 

युवक को रियाद सउदी अरब भेजा गया जहां पर वह किसी सालिम सउद अलकहतवानी नाम के युवक के पास ऊंट चराने की नौकरी करने लगा। पत्नी का आरोप है कि उसके पति ने कई बार फोन करके बताया कि उसे मालिक खाना तक नहीं दे रहा है।

इसी के चलते बीते शुक्रवार को उसकी वहां पर मौत हो गई। जिसकी जानकारी वसीम के साथियों ने पत्नी खलीफा को फोन से दी। इस पर घर में मातम छाया हुआ है।

खलीफा को अब जहां अपने तथा परिवार में तीन बच्चों के भरण पोशण की चिंता सता रही है तो वहीं वह अपने शौहर की लाश तक नहीं देख पा रही है। बेहद गरीब तबके से होने की वजह से सभी विदेश मंत्रालय तक नहीं पहुंच सकते इसके लिए मंलगवार को एक प्रार्थना डीएम को दिया गया। जिसमें अपने पति की लाश को स्वदेश वापस कराए जाने की मांग की गई। 

 

मुज़फ्फरनगर: यहां पांच दिन पहले एक जवैलरी शोरूम में हुई  50 लाख की ज्वैलरी की चोरी का पुलिस ने  पांचवें दिन ही सनसनीखेज खुलासा कर दिया है।  पुलिस ने चार बुर्का धारी महिलाओं  व एक चोरी का माल खरीदने वाले ज्वेलर को  गिरफ्तार किया है जबकि  इस चोरी के मामले में  तीन महिलाओं  सहित पांच लोग अभी भी फरार हैं।  पुलिस ने इनकी तलाश में  जाल बिछा रखा है।

पुलिस का कहना है कि जल्द ही  यह पांचों आरोपी भी  सलाखों के पीछे होंगे। सभी 10 चोरों में  ज्यादातर महिलाएं व पुरुष  एक ही परिवार के हैं जिनके आपस में नजदीकी संबंध है। पुलिस ने पकड़े गए गिरोह के कब्जे से लगभग आधा किलो ज्वेलरी बरामद की है। बताया जा रहा है गिरोह के कई सदस्य पहले भी जेल जा चुके हैं।

और यह गिरोह एक साथ चल कर ज्वैलरी की दुकान में भीड़ करके दुकानदार का ध्यान भटकाकर चोरी करने का काम करता था। मुजफ्फरनगर में जय शिव ज्वेलर के यहां चोरी के दौरान इनकी तस्वीर सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी जिसके चलते जल्दी पुलिस की गिरफ्त में आ गई।

दरअसल, मामला बीती 20 सितम्बर की देर शाम का है जहाँ नगर कोतवाली क्षेत्र के भगत सिंह रोड पर स्थित जय शिव ज्वैलर्स शॉप पर  तीन बुर्खानशीं महिलाओं ने बड़े ही शातिराना अंदाज़ से 50 लाख रुपये की सोने की ज्वैलरी पर हाथ साफ कर दिया था । घटना को अंजाम देकर तीनो बुर्खानशीं महिलायें बड़ी ही आसानी से दुकान से रफू चक्कर हो गई थीं। लेकिन चोरी की ये पूरी वारदात दुकान में लगे सीसीटीवी  कैमरे में कैद हो गई थी। 

पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की मदद से चार बुर्खानशीं महिलाओं सहित एक ज्वैलर्स अज़ीम को गिरफ्तार किया है। पुलिस द्वार पकड़ी गई आरोपी बुर्खानशीं महिलाओ के कब्जे से 500 ग्राम के सोने के आभूषण बरामद किये है। गिरफ्तार किए गए सभी आरोपी यूपी के जिला मेरठ के निवासी हैं।  जो रिश्ते में एक ही परिवार के  बताए जा रहे हैं जिसे लूटेरी फैमिली भी कहा जा सकता है। 

पुलिस द्वारा चोरों को देर रात दबिश के दौरान गिरफ्तार कर मुज़फ्फरनगर लाया गया था । पूछताछ में सभी आरोपियों ने मेरठ में भी कई ज्वैलरी शॉप की घटना को कबूला है। उसी तरीके से इन सभी लोगो ने संयुक्त रूप से मुज़फ्फरनगर की भगत सिंह रोड पर स्थित जय शिव ज्वैलर्स की दुकान से बड़े ही शातिराना अंदाज़ से लाखो रूपये की सोने की ज्वैलरी पर हाथ साफ किया था। 

 

अल्मोड़ाः यहां के रैमेजे इंटर कालेज के सभागार में स्व. शमशेर सिंह बिष्ट की याद में एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। सभा में उत्तराखण्ड के विभिन्न जनपदों से आए जनवादी एवं आन्दोलकारियों ने इकठ्ठा होकर स्वर्गीय शमशेर सिंह बिष्ट को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

इस अवसर पर स्व. शमशेर सिंह बिष्ट की जीवनी पर वक्ताओं ने प्रकाश डाला और शमशेर सिंह बिष्ट के सपनों को पूरा करने की बात कही। 

उत्तराखण्ड में जनता की आवाज को बुलंद करने और उनकी लड़ाई लड़ने के लिए शमशेर सिंह बिष्ट की तरह व्यक्तित्व के निर्माण करने पर भी चर्चा की गई। 

आन्दोलकारी पी.सी तिवारी ने कहा कि शमशेर बिष्ट का जीवन संघर्षों से भरा रहा। उन्होंने उत्तराखण्ड के राज्य आन्दोलन और सामाजिक संघर्षों को एक नई दिशा दी थी। लेकिन उन्होंने कभी भी सत्ता के साथ कोई समझौता नहीं किया। आज हम सब लोग उनको श्रद्धांजलि दे रहे हैं और उनके सपनों के अनुरूप उत्तराखण्ड को ले जाने के लिए प्रयासरत हैं। 

श्रद्धांजलि देने पहुंचे वरिष्ठ पत्रकार और आन्दोलकारी राजीव लोचन शाह ने कहा कि शमशेर सिंह बिष्ट उत्तराखण्ड के महानायक हैं।

स्वतंत्र उत्तराखण्ड से शमशेर सिंह बिष्ट के बराबर कोई नेता नहीं हुए। यहां से जो भी बड़े नेता बने वह किसी न किसी राजनैतिक दल में शामिल होकर बने, लेकिन शमशेर सिंह बिष्ट ने जनता के दिल में अपना ये स्थान बनाया। उन्होंने बताया कि शमशेर बिष्ट का कौशल और उनकी भाषा जनता के दिल से सीधे कनेक्ट होती थी।  

 

नई दिल्लीः विश्व हिंदू परिषद के प्रवक्ता सुरेंद्र जैन ने कहा कि ऐसा नहीं है कि हम विष्णु मंदिर या कैलाश यात्रा वाले नेताओं पर भरोसा करने लगे हैं।

मीडिया भले ही मोदी सरकार के आखिरी 6 महीने को देख रही हो लेकिन हमें बचे हुए 6 महीने में पूरा भरोसा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की राम भक्ति पर तनिक भी संदेह नहीं है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी पूरी उम्मीद बनी हुई है।

सुरेंद्र जैन ने कहा कि हमारे पास दो विकल्प थे नरसिम्हा राव से लेकर श्री श्री रविशंकर तक ने कोर्ट के बाहर सहमति बनाने का प्रयास किया, लेकिन सहमति के करीब पहुंचते ही मुस्लिम पक्ष भाग जाता है।

कोर्ट के अंदर हमें विश्वास दिलाया गया था कि फैसला जल्दी आ जाएगा पर ऐसा होता भी नजर नहीं आ रहा। ऐसे में सरकार से बहुत उम्मीद है। सरकार चाहे तो कानून का विकल्प खुला है। हमें उम्मीद है कि सरकार राम मंदिर के लिए सकारात्मक पहल करेगी।

उन्होंने कहा कि राम मंदिर को लेकर हमारा आंदोलन पूरी तरह से अहिंसक रहेगा। हिंदू समाज हिंसा को बढ़ावा नहीं देता। 5 अक्टूबर को संत समाज बैठकर फैसला लेगा कि आंदोलन का प्रारूप क्या होगा।

:
:
: