Headline • ब्राजील के बार में हमलावरों ने की अंधाधुंध फायरिंग, 11 लोगों की हुई • कांग्रेस ने नकारा एग्जिट पोल कहा इसके विपरीत होगा चुनाव परिणाम • एग्जिट पोल में एक बार फिर मोदी सरकार, चुनाव आयोग से किया आग्रह • चीन के लिए जासूसी कर रहें पूर्व सीआइए अफसर को अमेरिका ने को सुनाई 20 साल की सजा• PM पद के लिए राहुल गांधी को मिला जेडीएस प्रमुख देवगौड़ा का समर्थन• लोकसभा चुनाव 2019: पीएम मोदी और अमित शाह की पहली संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस • समलैंगिक विवाह को ताइवान ने दिया वैधानिक दर्जा • साध्‍वी प्रज्ञा पर बोले पीएम मोदी ''मैं उन्‍हें कभी माफ नही कर पाऊंगा''• ऑस्ट्रिया सरकार ने प्राथमिक स्कूलों की लड़कियों के हिजाब पर प्रतिबंध लगाने का कानून पारित किया• लोकसभा चुनाव 2019: चुनाव आयोग पर बरसीं ममता बनर्जी, चुनाव आयोग को BJP का भाई बताया • राहुल का पीएम मोदी पर हमला पीएम सोचते हैं एक व्यक्ति देश चला सकता है• बंगाल में अमित शाह की रैली के दौरान हिंसा के विरोध में जंतर-मंतर पर भाजपा का प्रदर्शन• बंगाल में रोड शो से पहले मोदी-शाह के पोस्टर उतरे • मैं कभी PM के परिवार का नहीं करूंगा अपमान: राहुल गांधी• भारत को ही क्‍यों बेच रहा एफ-21 लड़ाकू विमान अमेरिका • बिहार में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर सादा निशाना• PM मोदी पर मायावती के विवादित बयान पर जेटली का हमला किसी पद के लायक नहीं बसपा सुप्रीमो• विकीलीक्‍स संस्‍थापक जुलियन असांजे के खिलाफ स्‍वीडन में दोबारा खुल सकता है यौन उत्‍पीड़न मामला• ममता के घर में अमित शाह की दहाड़ हिम्मत है तो करो मुझे गिरफ्तार• ट्विटर ने हटाए कई पाकिस्‍तानी अकाउंट, पाक सरकार ने लगाए थे देश नियमों के उल्‍लंघन का आरोप• कोई भी देश कमजोर सरकारों के होते शक्तिशाली नहीं बन सकता: PM मोदी• भारतीय सीमा में घुसे पाकिस्तानी मालवाहक विमान को वायुसेना ने जयपुर एयरपोर्ट पर उतरवाया• फ्रांस के स्‍कूल में भेड़ों का दाखिला • सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या भूमि विवाद की मध्यस्थता प्रक्रिया के लिए 15 अगस्त तक का समय बढ़ाया • दक्षिण चीन सागर में अमेरिका, भारत, जापान और फिलीपींस ने मिलकर किया सैन्य अभ्यास

यूएई में छाया पीएम मोदी का जादू, आतंकवाद पर पाकिस्तान को दी चेतावनी, पहुंचे दिल्ली

नई दिल्ली- दो दिन की यूएई यात्रा पूरी कर देर रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत वापस लौट आए हैं। पीएम मोदी के इस दौरे के दौरान यूएई से कई अहम करार हुए है। सोमवार रात को दुबई क्रिकेट इंटरनेशनल स्टेडियम में 40 हजार भारतीयों के बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने 1 घंटा 15 मिनट तक भाषण दिया। पीएम मोदी ने आतंकवाद को लेकर कथित तौर पर पाकिस्तान को कहा कि वो यूएई का इशारा समझ जाए। पीएम ने कहा कि अकलमंद को इशारा ही काफी है। पीएम ने अबू धाबी में मंदिर के लिए जमीन देने के फैसले को बड़ा फैसला बताया। साथ ही सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं। और यूएई में काम करने वाले भारतीयों को हर प्रकार की मदद मुहैया करने का आश्वासन दिया।

पीएम मोदी ने स्टेडियम में भारी संख्या में उन्हें सुनने आए भारतीयों को नमन कर स्पीच की शुरुआत की। कहा-'मैं एक लघु भारत के दर्शन कर रहा हूं।' साथ ही कहा कि आपकी वजह से ही भारत गौरव महसूस करता है। मोदी ने कहा, "भारत में अगर बारिश होती है, तो दुबई के मेरे देशवासी छाता निकाल लेते हैं।" उन्होंने कहा कि अगर भारत पर कोई विपदा आती है, यहां बैठा भारतवंशी चैन से नहीं सोता। बता दें कि मोदी को सुनने के लिए करीब 50 हजार लोग पहुंचे। उनके भाषण से पहले पहले रंगारंग कार्यक्रम हुआ। जिसमें इंटरनेशनल कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति दी।

पीएम मोदी ने आतंकवाद पर कहा कि आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का समय आ गया है। दुनिया को फैसला लेना है कि वे आतंकवाद को प्रायोजित करने वाले के साथ हैं या उसके खिलाफ।
 
जो भी आतंकवाद के रास्ते पर हैं, उन्हें इसे छोड देना चाहिये और राष्ट्रीय मुख्यधारा में आना चाहिये। हिंसा किसी के हित में नहीं है। दुबई: संयुक्त राष्ट्रद्वारा आतंकवाद को अभी तक परिभाषित नहीं करने और आतंकवाद का प्रसार करने वाले देशों और समूहों को अभी साफ तौर पर चिन्हित नहीं करने पर भारी असंतोष जताते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार रात को कहा कि आतंकवाद की मानसिकता वाले देशों के खिलाफ मानवतावाद में विश्वास करने वाले देशों के एक होकर लड़ने का वक्त आ गया है।

प्रधानमंत्री ने यहां दुबई क्रिकेट ग्राउंड में बड़ी संख्या में उपस्थित भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘आतंकवाद को परिभाषित करने के बारे में संयुक्त राष्ट्र में एक प्रस्ताव बहुत लम्बे समय से लटका पड़ा है।’’ उन्होंने कहा कि द्वितीय विश्व युद्ध के बाद संयुक्त राष्ट्र का जन्म पीड़ित मानव समुदाय को मरहम लगाने और आगे विश्व में ऐसे संकट की नौबत न आए, ऐसी व्यवस्था विकसित करने के लिए हुआ था। लेकिन संयुक्त राष्ट्र अभी तक आतंकवाद की परिभाषा नहीं कर पाया है। वह यह तय नहीं कर पाया है कि आतंकवादी कौन है, किस देश को आतंकवाद का शिकार माना जाए और किसे आतंकवाद का समर्थक माना जाए, यह तय नहीं कर पाया है।’’ मोदी ने कहा कि आतंकवाद की व्यापक परिभाषा के लिए अतंरराष्ट्रीय आतंकवाद पर संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव लाया गया लेकिन यह कई वर्ष से लटका हुआ है।

पाकिस्तान का नाम लिये बिना प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "लेकिन संयुक्त अरब अमीरात ने भारत की तरफ से आतंकवाद के खिलाफ दो टूक शब्दों में, बिना लाग लपेट के और बिना किसी की परवाह किये साफ शब्दो में संकेत दे दिया है। आतंकवाद के खिलाफ एकता का स्वर इस धरती से उठा है, मैं उसे बहुम अहम मानता हूं, समझने वाले समझ जायेंगे, अकलमंद को इशरा काफी है।"
 
उन्होंने कहा कि आतंकवाद की मानसिकता वाले देशों के खिलाफ मानवतावाद में विश्वास करने वाले देशों के एकजुट होकर लड़ने का वक्त आ गया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘ गुड टेररिज्म और बैड टेररिज्म, गुड तालिबान और बैड तालिबान अब नहीं चलेगा। हर किसी को अब तय करना होगा कि आप मानवता के साथ हैं या टेरर के।’’

भारत और यूएई के बीच रक्षा क्षेत्र में भी सहयोग बढ़ाने पर समझौता हुआ। साझा बयान में व्यापार और निवेश का भी काफी जिक्र है। दोनों देशों ने अगले पांच साल में अपने बीच के व्यापार को 60 प्रतिशत तक बढ़ाने पर सहमति जताई है। दोनों देशों के बीच निवेश बढ़ाने पर भी समझौता हुआ है। 75 अरब अमेरिकी डालर से यूएई-भारत आधारभूत निवेश फंड बनाया जाएगा। इससे भारत में रेलवे, बंदरगाहों, सड़कों, हवाई अड्डों, औद्योगिक गलियारों का विकास किया जाएगा।

महत्वपूर्ण ऊर्जा क्षेत्र में रणनीतिक भागीदारी को बढ़ाने पर भी दोनों देशों में सहमति बनी। भारत में तेल के संरक्षित क्षेत्रों के विकास में यूएई भूमिका निभाएगा। दोनों देश अंतरिक्ष के क्षेत्र में भी सहयोग करेंगे। इनमें उपग्रह प्रक्षेपण भी शामिल है। परमाणु ऊर्जा के सुरक्षा, सेहत, विज्ञान-तकनीक, कृषि के क्षेत्र में शांतिपूर्ण इस्तेमाल पर भी सहमति बनी। मोदी ने संयुक्त राष्ट्र में भारत की स्थायी सदस्यता के दावे को समर्थन देने के लिए यूएई का आभार जताया। प्रधानमंत्री ने अबु धाबी में मंदिर के लिए जमीन देने पर भी यूएई के शहजादे का आभार जताया।

इसके अलावा पीएम मोदी के लगभग 75 मिनट लंबे संबोधन में उनकी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र रहा। और आखिर में उन्होने यूएई में रह रहे भारतीय मूल खासकर गरीब तबके के भारतीयों के लिए विशेष घोषणाएं की। जिसके तहत वीजा में आने वाली समस्या में "मदद" नाम से ऑनलाइन सुविधा शुरू की गई है। और "ई माइग्रेट पोर्टल" शुरू किया है।

दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में अपने 75 मिनट के जोरदार संबोधन के बाद प्रधानमंत्री मोदी सोमवार रात को भारत के लिए रवाना हो गए।

संबंधित समाचार

:
:
: