Headline • 13 वर्षीय लड़की की जघन्य हत्या के बाद बनारस के एक इलाके में पुलिस के खिलाफ जबर्दस्त रोष• बिग बॉसः जसलिन ने सिंगल बेड लिया तो बगल वाला बेड लेने पहुंच गए अनूप जलोटा• प्रेम विवाह के तीन साल बाद ससुराल पहुंचा, शाम से कोई खोजखबर नहीं... दो दिन बाद मिली लाश•  फौजी के घर पर दबंगों ने किया कब्जा, शिकायत करने पहुंचा तो थानेदार ने थाने से भगाया• नई सरकार आने के बाद भी नहीं बदला पाक सेना का रवैया, बीएसएफ जवान के शव से की बर्बरता, आंख निकाली• मुलायम के पोते तेजप्रताप ने माना, शिवपाल के अलग होने से लोकसभा चुनाव की संभावना पर पड़ेगा प्रभाव• आयुष्मान की 'बधाई हो' का 'बधाईयां तैनू' रिलीज, हंस-हंस कर लोटपोट हो जाएंगे आप• शिक्षा विभाग को नहीं पता अटलजी का जन्म कब हुआ था, स्कूली किताब में गलत डेट डाली• कन्नौज : किशोरी की रेप के बाद हत्या, मनचले के डर से छोड़ दी थी पढ़ाई• रायबरेली के लाल ने किया कमाल, प्री रीजनल मैथमेटिक्स ओलंपियाड में हुआ चयन• अपने हक की लड़ाई से पीछे नहीं हटेंगी मुस्लिम महिलाएं, सायरा ने पीएम मोदी के प्रति जताया आभार• 'सड़क-2' का ट्रेलर रिलीज,फिर एक साथ दिखेंगे संजय दत्त और पूजा भट्ट• मौसा ने बनाया नाबालिग को अपनी हवस का शिकार, मौसी से मिलने आई थीं लड़की• पाकिस्तान पर भारत की शानदार जीत के बाद जश्न का माहौल, भुवी के घर पर जमकर हुआ नृत्य• कफन का तिरंगा ओढ़कर न्याय के लिए कलक्ट्रेट में धरने पर बैठीं शहीद की विधवा  • पुलिस ने निर्दोष युवक को किया गिरफ्तार,फिर जेल भेजने के लिए खुद तैयार की जहरीली शराब,वीडियो वायरल !• अलीगढ़ : पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराए 25-25 हजार के इनामी बदमाश,थानाध्यक्ष घायल• अब बरेली में सवर्णों ने लगाए पोस्टर, लिखा- 'नोटा ही हमारा हथियार है,वोट मांग कर शर्मिंदा न करें'• पाक के पीएम इमरान खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा खत, फिर से शांति वार्ता शुरू करवाने की अपील• मुंबई से जयपुर जा रही फ्लाइट में यात्रियों के नाक-कान से निकलने लगा खून• 'समाचार प्लस' के सवाल पर बोले RSS प्रमुख मोहन भागवत-आरक्षण समस्या नहीं,आरक्षण पर राजनीति समस्या है• गोंडा में दर्दनाक सड़क हादसा, 4 की मौत, 8 घायल• लखनऊ : मूर्ति विसर्जन के दौरान गोमती नदी में डूबे 6 युवक, एक मौत, दो लापता• उन्नाव में बुखार का कहर, 24 घंटे में सात की मौत, 200 से ज्यादा बीमार• बसपा के पूर्व विधायक योगेश वर्मा को बड़ी राहत,हाईकोर्ट ने हटाई रासुका,रिहा करने का आदेश


नैनीतालः पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का नैनीताल से विशेष लगाव रहा है। वैसे तो अटलजी कई बार नैनीताल समेत आसपास के क्षेत्रों मे आते रहते थे मगर प्रधानमंत्री बनने के बाद 2002 में एक बार वो तब नैनीताल पहुंचे थे।

जब 2002 में कच्छ में भूकम्प आया था, जिसमें हजारों लोग मारे गए थे। इस भूकंप से अटलजी को काफी दुख हुआ और वो अपनी मन को शान्त करने के लिए नैनीताल पहुंचे थे। यहां आकर उन्होंने भूकम्प में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी और होली ना मनाने का फैसला किया था। 

इसके बाद वे नैनीताल समेत आसपास के कई क्षेत्रों में गए जहां उन्होंने यहां के लोगों से मिलकर उनके कार्यों के बारे में जानकारी ली। 

इसके बाद अटलजी नैनीताल की बदहाल पड़ी झीलों को देखकर करीब 200 करोड़ रु का बजट दिया था, जिससे जिस्से झील के संरक्षण का काम किया।

इस फंड ने नैनीझील को आक्सीजन देने का काम किया। जिससे आज झील का अस्तित्व कायम है। जिसमें से अबतक करीब 68.8 करोड़ रु झील और नालों के संरक्षण के लगाया जा चुका है। 

वहीं नैनीताल व झील के संरक्षण के लिए करीब 98 करोड़ की डीपीआर केन्द्र सरकार के पास है जिसमें समय समय पर कार्य होते रहते हैं।

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: