Headline • रणबीर कपूर और आलिया के रिश्ते पर लग सकती है मुहर • रूस अमेरिका से रिश्ते मधुर करने में जुटा • यूपी के 15 शहरों के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) की चेतावनी • मायावती का अखिलेश पर बड़ा आरोप, अखिलेश के कारण हुई हार• चेन्नई की प्यास बुझाने के लिए चलाई गई स्पेशल ट्रेन• भारत की निगाह बड़ी जीत पर, अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में पहली बार भारत• बिहार में मानसून पहुंचने से लोगो ने ली राहत की सांस • एक बार फिर सदन में तीन तलाक के मुद्दे पर तीखी बहस • विश्व कप में अंतिम चार के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करने उतरेगा भारत • संकट में कुमारस्वामी की सरकार, एचडी देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई• अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंन्द मोदी का दुनिया को सन्देश। • गौतम गंम्भीर ने साझा किए इमोशनल मैसेज • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी  रांची  में करेगें योग • भारत को आतंक का नया ठिकाना बनाने की फिराख में है ISIS के आतंकी• अमेरिका के इस कदम से, कामकाजी भारतीयों को होगी परेशानी• चुनाव के बाद तेजस्वी कहाँ गायब हो गये है।• 14 साल बाद आया अय़ोध्या आतंकियों पर अदालत का फैसला • फिल्म ‘आर्टिकल 15’ विवादों में घिरती नजर आ रही है • अमरीका और ईरान का खाड़ी में तनाव गहराया • 'एक देश एक चुनाव' से विपक्ष क्यों नाराज• बिहार में बच्चों के मरने का कारण सरकार लिची को क्यों बता रही • बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष बने जे.पी. नड्डा • फिल्म आर्टिकल 15 को लेकर सुर्खियों में छाए रहे, आयुष्मान खुराना • लगातार दो शतक जड़ के शाकिब ने बांग्लादेश के लिए रचा इतिहास • एक बार फिर कथित लव-जिहाद का ममला सामने आया जाने पूरी खबर


गोरखपुरः यूक्रेन की रहने वाली महिला डारिया मोलचन  को गोरखपुर एसटीएफ ने 3 अप्रैल को अवैध पासपोर्ट और फर्जी डीएल के साथ गिरफ्तार किया था। महिला को एक नामचीन होटल से गिरफ्तार किया गया था। तभी से वह गोरखपुर जेल में बन्द थीं और आज उसकी जेल से रिहाई हो गयी है।

बताते चलें कि जिस दिन यूक्रेन की मॉडल जेल गई, तभी से वह जेल में गायत्री मंत्र जप रही हैं। आखिर शुक्रवार को अपने वतन को चली गयी।

यूक्रेनी मॉडल डारिया मोलचन को ले जाने के लिए 2 व्यक्ति (चंदारी रावत व आदर्श) दो पायलट संग चार्टर प्लेन से गोरखपुर पहुंचे है। चार्टर प्लेन गोरखपुर एयर पोर्ट पर खड़ी थी। 

मजे की बात यह रही है कि गोरखपुर एयरपोर्ट पर जमानतदारों द्वारा जो प्रपत्र सौंपा गया, उसमे दो जमानतदार व दो पायलट के साथ डारिया मोलचन का नाम भी शामिल था। फिलहाल आज उसकी गोरखपुर मंडलीय कारागार से रिहाई हो गई। वहीं उसके दो जमानतदार कोलकाता के बड़े व्यापारी ने दी। 

क्या है मामला

यूक्रेन की किरोवा स्ट्रीट निवासी 20 वर्षीय डारिया मोलचन पुत्री विटाली मोचलन को एसटीएफ ने दो अप्रैल को पार्क रोड से गिरफ्तार किया था। डारिया के पास से दो पासपोर्ट, मरिना अमन मेहता के नाम से बना फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस, दो मोबाइल व टैबलेट मिला। मोबाइल चेक करने पर उसमें दिल्ली के रहने वाले एक पुलिस अधिकारी की आपत्तिजनक तस्वीर मिली। जिसे जांच के लिए दिल्ली के फारेंसिक लैब भेजा गया था।

एसटीएफ इंस्पेक्टर सत्यप्रकाश की तहरीर पर कैंट पुलिस ने डारिया मोलचन के खिलाफ फर्जी दस्तावेज तैयार कर जालसाजी करने और विदेश अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया। 12 अप्रैल को जिला जज ने उसकी जमानत अर्जी खारिज कर दी थी। जिसके खिलाफ उसके अधिवक्ता ने हाईकोर्ट में अपील कर वहां से जमानत हासिल की थी। 

जमानतदारों की अर्जी को सिविल जज सीनियर डिवीजन सुरेंद्र प्रताप सिंह कोर्ट नंबर 3 ने मंजूर कर लिया। 

कोलकाता से आए दोनों जमानतदार मीडिया के कैमरे के सामने चुप्पी साधे रहे। 

संबंधित समाचार

:
:
: