Headline • सीएम योगी से मिलने के बाद बोलीं विवेक तिवारी की पत्नी- सरकार पर भरोसा और बढ़ गया• राजकपूर की पत्नी कृष्णा राज कपूर का 87 साल की उम्र में निधन• गाजियाबाद: आपसी झगड़े में BSF जवान ने दूसरे को मारी गोली, एक की मौत• लखनऊ शूटआउट : विवेक तिवारी की पत्नी ने सीएम योगी से की मुलाकात• लखनऊ : कारोबारी के घर लाखों की डकैती, वारदात के बाद दंपती को बाथरूम में बंद कर फरार हुए नकाबपोश बदमाश • मुजफ्फरनगर : युवती का अपहरण कर रेप, जंगल में फेंककर हुए फरार• विवेक तिवारी हत्याकांड पर बीजेपी विधायक ने उठाए सवाल, सीएम योगी को लिखा पत्र• विवेक तिवारी हत्याकांड:CM योगी ने पीड़ित परिवार से फोन पर की बात,हर संभव मदद करने का दिया भरोसा• बस्ती : खराब बस को धक्का लगा रहे यात्रियों को ट्रक ने कुचला, 6 की दर्दनाक मौत• विवेक तिवारी हत्याकांड :'पुलिस अंकल, आप गाड़ी रोकेंगे तो पापा रुक जाएंगे... Please गोली मत मारियेगा'• लखीमपुर खीरी के यतीश ने तोड़ा लगातार पढ़ने का वर्ल्ड रिकॉर्ड, 123 घंटे पढ़कर बनाया कीर्तिमान• रुद्रप्रयाग : अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिरी कार • फाइनल में सेंचुरी बनाने वाले लिटन दास को क्यों कहना पड़ा, मैं बांग्लादेशी हूं और धर्म हमें बांट नहीं सकता• ललितपुर : SDM ने होमगार्ड की राइफल से गोली मारकर की आत्महत्या• टेनिस की इस खिलाड़ी ने किया टॉपलेस वीडियो, कारण जानकार आप भी करने लगेंगे तारीफ• इंडोनेशिया में भूकंप से मरने वालों की संख्या 800 पार पहुंची, अभी भी कई इलाकों में नहीं पहुंचा राहत दल• मेरठ : हिस्ट्रीशीटर की चाकुओं से गोदकर हत्या• एशिया कप के साथ फोटो शेयर कर इशारों इशारों में  बुमराह ने राजस्थान पुलिस को मारा ताना• तनुश्री के सपोर्ट में आईं कई हिरोईन तो नाना के समर्थन में आईं राखी सावंत, कहा, मरते दम तक साथ दूंगी• SHO और मुंशी के टॉर्चर से परेशान होकर महिला सिपाही ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में हुआ खुलासा• मामा-भांजी को पेड़ से बांधकर की पिटाई, चचिया ससुर ने बदला लेने के  लिए किया ऐसा घिनौना काम• बदनामी के बीच आई यूपी पुलिस की एक ईमानदार छवि, केस से नाम हटाने को 4 लाख देने वाले को जेल भेजा• इस दिन रिलीज हो रहा है कंगना की मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी' का टीजर• पुलिस के आतंक से पुरुषों ने गांव छोड़ा, दो पक्षों के झगड़े में सिपाही के घायल होने पर गांव में पुलिस का तांडव• स्वामी प्रसाद का सपा पर हमला, कहा-अखिलेश ने गरीब के पैसे और साइकिल कार्यकर्ताओं में बांट दिए


नई दिल्लीः इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप में आए ताकतवर भूकंप और उसके बाद आई सुनामी से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। खबरों के अनुसार अबतक मृतकों की संख्या बढ़कर 832 हो गई है।

इंडोनेशिया की सरकारी मीडिया ने हालांकि मृतकों की संख्या 420 बताई है। सबसे ज्यादा प्रभावित पालू शहर में राहत और बचाव कर्मियों के पहुंचने का सिलसिला अभी भी जारी है।

 

इस आपदा में जिंदा बचे लोग मृतकों के शव बरामद करने में अधिकारियों की मदद कर रहे हैं।

सुलावेसी द्वीप पर घूमने आए कुछ विदेशी नागरिक लापता हैं। लापता विदेशी नागरिकों में एक फ्रेंच, एक साउथ कोरिया और कुछ दूसरे देशों के नागरिक हैं। लोगों को घरों से निकालने और राहत कार्य अंजाम देने में काफी मुश्किलें आ रही हैं। 

इससे पहले इंडोनेशिया की सरकारी न्यूज एजेंसी ’अंतारा’ ने राष्ट्रीय आपदा एजेंसी के प्रमुख के हवाले से पालू में मारे गए लोगों का ताजा आंकड़ा 420 बताया था।

अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि 7.5 तीव्रता के भूकंप और सुनामी में पांच-पांच फुट ऊंची उठी लहरों की चपेट में आए हताहतों की संख्या अभी और बढ़ सकती है। सुदूर इलाकों से नुकसान की सूचनाएं मिल रही हैं।

सरकारी प्रेस एजेंसी ने बताया कि कम से कम 540 लोग बुरी तरह से घायल हुए हैं। अस्पतालों को बड़ी संख्या में भर्ती किए जा रहे घायलों के इलाज में काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने कहा कि क्षेत्र में सेना को बुलाया गया है ताकि वह पीड़ितों तक पहुंचने और शवों को तलाशने में खोज और बचाव टीमों की मदद कर सके।

 

बहराइचः  जिले के नवाबगंज इलाके में अपनी भांजी से मिलने गए मामा पर गंभीर आरोप लगा कर दोनों को पेड़ से बांध दिया। फिर उन दोनों की जमकर पिटाई की गई। इस तालिबानी सजा के बारे पूरे इलाके में लोग बोलने को तैयार नहीं है। 

सार्वजनिक रूप से महिला की इज्जत को तार तार करने वाले कोई और नहीं, बल्कि उसके अपनी ही ससुराल के पड़ोसी और ग्रामीण थे। साजिश के तहत मामा भांजी को कमरे में बंद कर पूरे मामले को तूल दिया गया।

शादी के बाद भांजी का हाल चाल लेने मामा उसकी ससुराल आया था। मामा और भांजी को दी गई तालिबानी सजा के मामले में इलाकाई पुलिस ने पीड़ित महिला के पति की तहरीर पर 4 लोगों के खिलाफ नामजद तहरीर दी है। हालांकि पुलिस पूरे मामले को दबाने में जुटी है।

श्रावस्ती जिले के सिरसिया थाना क्षेत्र के बडरहवा निवासी युवक शादी के बाद नवाबगंज थाना क्षेत्र निवासी अपनी भांजी का हाल चाल लेने आया था।

मामा ने अपना मोबाइल को चार्जिंग के लिए भांजी के कमरे में  लगा दिया था। देर शाम सोने से पहले वह अपना मोबाइल लेने भांजी के कमरे में गया था।

इसी दौरान कुछ लोगों ने दरवाजा बंद कर बाहर से कुंडी लगा दी। और भीड़ इकट्ठा कर दोनों मामा भांजी पर घिनौने आरोप लगाए। बाद में दोनों को पेड़ से बांध दिया और इसके बाद दोनों की बुरी तरह पिटाई की गई।

पहले महिला व उसके मामा को बेइज्जत किया गया गया फिर दोनों की पिटाई की गई। घटना की जानकारी पीड़ित महिला के पति को लगी तो उसने इसकी शिकायत पुलिस से की इसके बाद सभी मौके से फरार हो गए। 

इस पूरी घटना को लड़की के चचिया ससुर ने अंजाम दिया। यह पूरी डर्टी हरकत इसी के इशारे पर हुई है। पेड़ से बांध रिश्तों को शर्मसार करने वाली इस दिल दहला देने की घटना से महिला को झकझोर दिया है।

वहीं रिश्तों की मर्यादा को समझ कर पति ने सच का साथ दिया और तालिबानी हरकत को अंजाम देने वालो के खिलाफ पुलिस को नामजद तहरीर दी है। पुलिस इस मामले में कुछ बोलने को तैयार नहीं है।

बाराबंकीः तीन तलाक के दंश से मुस्लिम महिलाओं को निजात दिलाने के लिए भले ही मोदी सरकार गम्भीर हो और सरकार ने अध्यादेश पास कर इसके खिलाफ कानून भी बना दिया हो लेकिन इसके बावजूद तीन तलाक की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही है। 

ताज़ा मामला बाराबंकी के लोनीकटरा इलाके में सामने आया है जहां महज सोने की चेन और चार पहिया वाहन की मांग पूरी न होने पर लालची शौहर ने शादी के महज 6 महीने बाद ही अपनी पत्नी को परिजनों के सामने ही तीन तलाक देकर घर से भगा दिया है। पीड़िता ने पुलिस को तहरीर देकर लालची पति के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। 

बाराबंकी के कोठी थाना क्षेत्र के मंझियावां गांव में सबीना रहती है। सबीना के पिता वसीक ने 31 मार्च  2018 को लोनीकटरा इलाके के गुलज़ार पुरवा गांव निवासी खान मोहम्मद के साथ बड़े ही धूमधाम से निकाह करवाया था।

शादी के बाद से ही दहेज लोभी पति खान मोहम्मद सबीना को सोने की चेन और चार पहिया गाड़ी को लेकर प्रताड़ित करने लगा। 

27 सितंबर की रात खान मोहम्मद ने सबीना के साथ जमकर मारपीट की और इस बात का पता चलने पर जब सबीना के घरवाले विरोध जताने खान मोहम्मद के घर पहुंचे तो उनके सामने भी खान मोहम्मद ने सोने की चेन और चार पहिया गाड़ी की मांग रख दी।

सबीना के घरवालों ने जब इस मांग को पूरा करने में असमर्थता जतायी तो लालची पति खान मोहम्मद ने उनके सामने ही तीन बार तलाक़ बोल कर सबीना को घर से बाहर निकाल दिया। जिसके बाद सबीना और उसके घरवालों लोनीकटरा थाने पहुंच कर पुलिस से मामले की शिकायत की है । 

 

बलरामपुरः यहां पुलिस के उत्पीड़न से एक पूरा गांव दहशत में है। पुलिस के आतंक से गांव के पुरुष सदस्य गांव छोड़कर फरार हो गये हैं। महराजगंज तराई थानाक्षेत्र के साहिबपुर गांव में एक पुलिसकर्मी के घायल होने के बाद पुलिस का तांडव देखने को मिल रहा है। 

कहावत है कि खिसियानी बिल्ली खम्भा नोचे। अपने ही करतूत से खिसियाई बलरामपुर पुलिस के निशाने पर अब ग्रामीण है।

महराजगंज तराई थाना क्षेत्र के साहिबपुर में लड़की भगाने के आरोप में दो पक्षां में कई दिनों से तनातनी चल रही थी। इस मामले में पुलिस की भूमिका शुरु से ही संदिग्ध नजर आ रही थी।

पुलिस पर एकपक्षीय कार्रवाई करने के आरोप भी लगने लगे। इसी मामले को लेकर 25 सितम्बर को दोनों पक्षों में विवाद शुरु हुआ। सूचना पर पुलिस कर्मचारी बिना वर्दी के पहुंच गये। मारपीट में पुलिस का एक सिपाही भी घायल हो गया। इसके बाद शुरु हुआ पुलिस का तांडव।

पुलिस ने गांव में पहुंचकर जमकर उत्पात मचाया। गांव के कई पुरुष सदस्य को पुलिस थाने ले गई तो कई सदस्य डर के कारण गांव छोडकर चले गये। पुलिस के गुस्से का शिकार महिलाएं भी बनीं। पुलिस कर्मियों ने महिलाओ की भी जमकर पिटाई की।  

पीड़िता गिरिराज कुमारी का आरोप है कि गांव के दबंग उसकी लड़की को भगाकर ले गये थे। पुलिस भी उन्ही दबंगों का साथ देती रही जिसके कारण दबंग उनके परिवार को ताने मारने लगे थे। इसी को लेकर दोनो पक्षों में विवाद हुआ था। पुलिस कर्मी के घायल होने के बाद गिरिराज के बेटे की तलाश में पुलिस अपना तांडव दिखा रही है।  

 

बुलंदशहरः यहां देश के सबसे विशालतम शिवलिंगों में एक शिवलिंग है। इस शिवालय की ऊंचाई 70 फिट है। शिवभक्त शिवालय को द्वादश महालिंगेश्वर सिद्ध महापीठ के नाम से जानते हैं।

इस शिवालय की विशेषता यह है कि यहां 12 ज्योतिर्लिंगों से स्पर्श कराकर लाये गए 12 ज्योतिर्लिंगो की स्थापना की गई है ताकि शिवभक्तों को एक ही जगह सभी ज्योतिर्लिंग के दर्शन का लाभ मिल सके। देश के मुख्य मुख्य तीर्थ स्थलों, नदियों, समुद्रों से जल व मिट्टी लाकर इसके निर्माण में इस्तेमाल की गई है।

इस सिद्ध महापीठ का निर्माण विश्व ज्योतिष आचार्य मनजीत धर्मध्वज जी ने शिवप्रेरणा से कराया है। आचार्य मनजीतजी की मानें तो वो बचपन से ही हनुमान जी के भक्त रहे हैं और पिछले 25 वर्षों से साल से के नवरात्रों में मौन होकर गर्भ साधना करते आ रहे है।

साल 2009 में आचार्य जी को नवरात्रों में गर्भ साधना के दौरान स्वयं भगवान शंकर ने खुली आँखों से दर्शन दिए थे। स्वयं शिव दर्शन के बाद आचार्य जी ने शिव प्रेरणा से मैथनी ज्योतिष के अनुसार राष्ट्र हित के लिए 2009 में ही अक्षय तृतीया को इस शिवालय सिद्ध महापीठ की नींव रखी थी।

2009 से महालिंगेश्वर सिद्ध महापीठ का निर्माण कार्य शुरू होकर अप्रैल 2018 में अक्षय तृतीया को सिद्ध महापीठ में बारह ज्योतिर्लिंगों के साथ महालिंगेश्वर भगवान, मां पार्वती, भगवान कार्तिकेय एवं गणेश की साथ कालभैरव और वीरभद्र भगवान की प्राण प्रतिष्ठा की गई है।

भगवान महालिंगेश्वर की प्रसिद्धि दूर दूर तक शिवभक्तों में फैल चुकी है। प्रतिदिन असंख्य श्रद्धालु द्वादश महालिंगेश्वर सिध्महापीठ पर दर्शन करने आते है। प्रत्येक सोमवार के दिन महालिंगेश्वर भगवान का विभिन्न प्रकार से श्रृंगार किया जाता है।

सिध्महापीठ पर राष्ट्रहित के लिए विशेष तिथियों में अनुष्ठान और महाभिषेक किये जाते है। सर्पदोष की विशेष पूजा सिध्महापीठ पर रुद्राष्टाध्यायी के साथ महालिंगेश्वर का जलाभिषेक कराकर की जाती है।

 

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: