Headline • पीएम मोदी ने किया सिक्किम के पहले हवाई अड्डे का उद्घाटन• अमेठी : दौरे से पहले लगे राहुल गांधी के 'परम शिव भक्त' वाले पोस्टर• मुरादाबाद में महिला की गोली मारकर हत्या, 4 पर मुकदमा दर्ज• गाजियाबाद : दबंगों ने किया दलित परिवार पर हमला, आरोप- झाड़ू-पोछा और गाड़ी साफ करने का दबाव बनाते हैं सोसाइटी के कुछ लोग• बुलंदशहर : खड़े ट्रक में घुसी रोडवेज बस, दो की दर्दनाक मौत, 2 दर्जन यात्री घायल• गोरखपुर : शोहदों और गुंडों का आतंक, स्कूल पर लगा ताला• अाज से दो दिवसीय अमेठी दौरे पर रहेंगे राहुल गांधी, जानिए मिनट-टू-मिनट कार्यक्रम • अस्पतालों में बच्चों की मौत पर योगी के मंत्री का शर्मनाक बयान, कहा- मां-बाप है जिम्मेदार• पत्रकार सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे 'समाचार प्लस' के CEO उमेश कुमार• पीएम मोदी ने किया दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना आयुष्मान भारत का शुभारंभ• सपा की साइकिल यात्रा के समापन पर एक साथ दिखे अखिलेश और मुलायम सिंह यादव • गोरखपुर : सीएम योगी ने किया 'आयुष्मान भारत योजना' का शुभारंभ • महंत नृत्य गोपालदास बोले- 'राम मंदिर का निर्माण नहीं कराया तो भाजपा और मोदी के लिए घातक होगा'• गोरखपुर : बाइक को टक्कर मारने के बाद जीप पलटी, 3 की दर्दनाक मौत, 5 घायल• बीजेपी के कार्यक्रम में बार-बालाओं ने किया डांस,सांसद बाबू लाल के स्वागत में लगे ठुमके• आज से शुरू होगी आयुष्मान भारत योजना,पीएम मोदी झारखंड से करेंगे शुभारंभ• आगरा में दर्दनाक सड़क हादसा, चार लोगों की मौत• बलिया: बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह की दादागिरी, डीएम के सामने डीआईओएस से की हाथापाई• आगरा को हॉकी के विश्व पटल पर मिलेगी नई पहचान:  चेतन चौहान• योगी पहुंचे गोरखपुर, कई योजनाओं को किया लोकार्पण व शिलान्यास, बांटे प्रमाण पत्र• चुड़ैल समझ कर महिला की हत्या कर दी, अपराध छुपाने के लिए लाश को जंगलों में फेंका• फर्रुखाबाद: सड़क दुर्घटना नहीं हत्या कर लाश फेंकी गई थी, पत्नी ने प्रेमी संग दी पति और भतीजे की हत्या की सुपारी• कायमगंज में अंबेडकर प्रतिमा का हाथ तोड़कर माहौल बिगाड़ने की कोशिश, बसपा नेता ने स्थिति संभाली• नवरात्र पर प्रशासन चलाएगा शौचालय की पूजा का कार्यक्रम, कई संगठनों ने किया विरोध का ऐलान• मोहर्रम बवाल पर बीजेपी विधायक पप्पू भरतौल समेत 150 पर केस, 750 ताजिएदारों पर भी केस


कानपुरः यहां के बिल्हौर थाना क्षेत्र के जंगल में मिले महिला के शव का पोस्टमार्टम होने के बाद नया खुलासा हुआ है। बताया जा रहा है कि शव मिलने की एक रात पहले उक्त महिला अर्धनग्न अवस्था में अपने घर से निकलकर दूसरे के घर जा पहुंची थी।

घर के लोगों ने उसको चुड़ैल समझकर इतना मारा कि उसकी मौत हो गयी। महिला की मौत से घबराये लोगों ने उसके शव को जंगल में फेंक दिया। पुलिस ने महिला की हत्या के जुर्म में तीन लोगो को गिरफ्तार किया है जबकि एक अभी फरार है।

बिल्हौर थाना क्षेत्र के बगियापुर गांव के जंगलों में जसोदा नाम की महिला का शव मिला था। जसोदा के पति ने किसी पर भी कोई शक जाहिर नहीं किया था जिसके बाद पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया।

जसोदा की पोस्टमार्टम के रिपोर्ट चौकाने वाली थी उसके शरीर कई पसलियां टूटी हुई थीं जिससे लग रहा था कि उसको काफी मारा गया है। पुलिस ने इन बिन्दुओ को देखकर दुबारा फिर गांव पहुंची और ग्रामीणों से बात की, जिसके बाद ग्रामीणों ने एक परिवार पर शक जाहिर किया।

पुलिस ने जब उस परिवार से पूछताछ की तो पूरा मामला खुलकर सामने आ गया। जसोदा रात करीब डेढ़ बजे के आसपास अर्धनग्न अवस्था में अपने घर से निकलकर दूसरे के घर पहुंच गयी थी।

घर के एक सदस्य ने उसको इस हालत में देखकर चुड़ैल समझ लिया और उसी के घर के ही चार लोगो ने उसकी पिटाई कर दी। जिससे जसोदा की मौके पर ही मौत हो गई।

कुछ देर बाद जब उनको पता चला कि यह चुड़ैल नहीं है तो उनके होश फाख्ता हो गए और अपने जुर्म को छुपाने के लिए शव को  जंगल में फेक दिया।

नई दिल्लीः फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद द्वारा राफेल डील पर नया खुलासा करने के बाद से ही राहुल गांधी सरकार और पीएम मोदी पर और ज्यादा हमलावर हो गए है।

राफेल डील में अनिल अंबानी की एंट्री को लेकर ओलांद के बयान के बाद राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सबसे बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि राफेल डील पर प्रधानमंत्री ने देश को धोखा दिया है। उन्होंने बंद दरवाजे के पीछे निजी तौर पर दखल देकर राफेल डील करवाई।

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ’प्रधानमंत्री ने बंद दरवाजे के पीछे निजी तौर पर राफेल डील पर बात की और इसमें बदलाव कराया। फ्रांस्वा ओलांद को धन्यवाद, हम अब जानते हैं कि उन्होंने (मोदी ने) दिवालिया अनिल अंबानी के लिए अरबों डॉलर्स की डील कराई। प्रधानमंत्री ने देश को धोखा दिया है। उन्होंने हमारे सैनिकों की शहादत का अपमान किया है।

जब से फ्रेंच न्यूज वेबसाइट मीडियापार्ट में शुक्रवार को छपे लेख में ओलांद का बयान आया है तभी से कांग्रेस इस मसले को जोरशोर से उठा रही है।  लेख में फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के हवाले से कहा गया है कि अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस के साथ करार करने में फ्रांस सरकार की कोई भूमिका नहीं थी। राफेल डील के लिए भारत सरकार ने अनिल अंबानी की रिलायंस कंपनी का नाम प्रस्तावित किया था। लिहाजा दसॉ एविएशन कंपनी के पास कोई और विकल्प नहीं था।

इसके अलावा कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने इस लेख को रीट्वीट करते हुए ओलांद से राफेल डील की कीमत बताने का आग्रह किया है।

उन्होंने ओलांद से कहा, ’आप यह भी बताएं कि राफेल की साल 2012 में 590 करोड़ रुपये की कीमत साल 2015 में 1690 करोड़ कैसे हो गई? करीब-करीब 1100 करोड़ की वृद्धि। मैं जानता हूं कि यूरो की वजह से यह कैलकुलेशन की दिक्कत नहीं है।

 

रुद्रपुर ऊधमसिंहनगरः रुद्रपुर नगर निगम चुनाव में फर्जी शपथ पत्र देने के मामले में अब बीजेपी मेयर की कुर्सी पाने वाली सोनी कोली व 16 पार्षदों की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। सरकार ने सही समय पर यदि निर्णय लिया होता तो मेयर समेत सभी पार्षदों को कुर्सी गंवानी नहीं पड़ती। हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी सरकार जानबूझ कर इस मामले को लटकाए रही। सरकार ने भले ही निवर्तमान मेयर व 16 पार्षदों के चुनाव लडने पर रोक लगा दी हो लेकिन याचिकाकर्ता अभी भी सरकार को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं। 

याचिकाकर्ता के अनुसार कोर्ट के आदेशों के बाद भी बीजेपी की सरकार ने इन लोगों का कार्यकाल पूरा होने दिया जब कोर्ट के आदेशों की अवमानना की अर्जी हाई कोर्ट में लगाई तब जाकर अधिकारियों ने 16 पार्षदों पर 4 साल जबकि निवर्तमान मेयर के चुनाव लड़ने के लिए अगले 5 सालों तक रोक लगा दी है।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में मेरे द्वारा हाईकोर्ट में पीआईएल दायर करते हुए कहा गया था कि नगर निगम में मेयर सोनी कोली व अन्य पार्षद द्वारा गलत शपथ पत्र चुनाव आयोग के समक्ष पेश किया गया। जिसमें सभी ने ये कबूल किया था कि उन लोगों द्वारा किसी भी सरकारी संपत्ति पर कब्जा नहीं है जबकि 16 पार्षदों सहित मेयर खुद नजूल भूमि में रह रहे थे जिसके बाद कोर्ट ने उक्त मेयर व 16 पार्षदों की सदस्यता रद्द करते हुए कानूनी कार्यवाही करने को कहा था।

लेकिन तत्कालीन कांग्रेस सरकार और बाद में बीजेपी सरकार ने मामले को ठंडे बस्ते में डाले रखा और सभी का कार्यकाल पूरा होने दिया। कोर्ट के आदेशों की अवमानना के मामले में जब अधिकारियों पर गाज गिरती दिखी तो तब जा कर अधिकारियों ने सभी 17 लोगों पर चुनाव लड़ने में रोक लगा दी। उन्होंने कहा कि न्याय तो मिला है लेकिन इतने लेट में न्याय मिलने का औचित्य नहीं रहता।

वहीं पूर्व मेयर सोनी कोली व भाजपा नेता सुरेश कोली ने अपनी सरकार के खिलाफ प्रेस वार्ता करके सरकार पर गलत निर्णय लेने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि पूर्व मेयर पर इसलिए रोक लगाई गई है कि रम्पुरा में उनके पति सुरेश कोली नजूल पर स्कूल चला रहे हैं जो सोसायटी का है। जिसकी मान्यता भी ली गई है।

स्कूल के प्रबंधक होने के नाते उन्हें स्कूल परिसर में रहने को आवास दिया गया था। उन्होंने कहा कि आज रुद्रपुर की 80 फीसदी जनता नजूल भूमि पर रह रही है। ऐसे में जब उस क्षेत्र का व्यक्ति चुनाव नही लड़ सकता है तो क्या अब क्षेत्र में देहरादून से चुनाव लड़ने को आएंगे। उन्होंने कहा कि जो डिसीजन सरकार ने लिया है उसका खामियाजा आने वाले चुनाव में भुगतना पड़ सकता है।  

महाराजगंजः बीती रात घुघली थाना क्षेत्र के गिदहा गांव के पास सिसवा नहर के पास पति पत्नी एवं मासूम बच्चे पर जानलेवा हमला किया गया। लहूलुहान हालत में तीनों पडे़ थे।

इस हमले में घायल पत्नी की इलाज के दौरान मौत हो गई। जबकि घायल पति मेडिकल कालेज में जिंदगी मौत से जूझ रहा है। मासूम भी वहीं पिता के साथ भर्ती है। पुलिस के मुताबिक लाठी डंडे, कुल्हाडी से हमला किया गया है। आरोपी ससुर को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

एक शख्स को पहली पत्नी छोड़कर दूसरी शादी करके अपनी दुनिया बसाना महंगा पड़ गया। कोठीभार थाना क्षेत्र के रत्नपुर निवासी दीपक पांडेय की पहली शादी घुघली थाना के सोनबरसा गांव में हुई थी।

मगर किसी बात को लेकर दोनों में सबकुछ विवाद चल रहा था। दीपक ने दूसरी शादी करके अपनी दुनिया अलग बसा ली लेकिन यह बात दीपक की पहली पत्नी को नागवार लगी और उसने अपने मायके पक्ष के साथ मिलकर दूसरी पत्नी और बच्चों के साथ आ रहे दीपक पर रास्ते में ही हमला कर दिया।

इस हमले में दीपक की दूसरी पत्नी रुक्मिणी की मौके पर ही मौत हो गई और दीपक हॉस्पिटल में जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा है। बच्चे को हल्की चोटे आई है। 

जानकारी के मुताबिक यह मामला शादी से जुड़ा है। दीपक पांडेय निवासी रतनपुर थाना कोठीभार की दूसरी शादी पूजा से हुई थी। पहली शादी हरखपुरा टोला सोनबरसा में अर्चना पुत्री रामलखन से हुई थी। शादी के बाद रिश्तों में दरार आई तो मामला न्यायालय तक पहुंचा। दोनो के बीच संबंध विच्छेद हो गया।

और दीपक ने दूसरी शादी कर ली। इससे नाराज ससुर परिवार के अन्य सदस्यों को साथ लेकर बीती रात मौका देखकर हमला बोल दिया। दीपक पांडेय 28, अपनी दूसरी पत्नी पूजा 24 और डेढ़ साल के मासूम बेटे के साथ बाइक से लेहडा दुर्गा मंदिर दर्शन को गए थे। वापस लौटते वक्त देर हो गई।

रात में सिसवां नहर के पास गिदहां गांव के करीब पहुंचे तो उन लोगों पर हमला कर दिया। लाठी डंडे से मारने के साथ ही कुल्हाडी से जानलेवा हमला किया गया, जिसमें पत्नी की मौत हो गई। दीपक और बच्चा बेहोश पड़ा था। होश में आने पर दीपक ने पुलिस को सूचना दी। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची तो घायलों को जिला अस्पताल ले आई। 

फर्रुखाबादः यौमे आशूरा के दिन कर्बला की ओर बढ़ते हर कदम के साथ लोगों में हुसैन की कुर्बानी का दर्द और यजीद के खिलाफ गुस्सा साफ झलकता दिखा।

गमजदा माहौल में सैकड़ों ताजिये कर्बला में सुपुर्दे खाक कर दिये गये। मातम करते सोगवारों के सीने छलनी हो गये पर फिर भी वह फक्र से कहते रहे- खूने कर्बला रंग लायेगा, जुल्म की दीवार को ढहा दिया जायेगा।

लोग नारे लगाते रहे- हुसैन का दामन न छोड़ेंगे। काले लिबासों में महिलायें भी अली असगर का हिंडोला लेकर नंगे पांव कर्बला पहुंचीं। अली असगर हुसैन के परिवार का सबसे छोटा सदस्य था जिसकी पानी न मिलने पर तड़प तड़प कर मौत हो गयी थी।

शहर ने एक बार फिर अपनी गंगा जमुनी तहजीब की रंगत को पुख्ता किया। गणेश विसर्जन यात्री भी निकलीं और मुहर्रम के ताजिये जलूस भी।

यौमे आशूरा के दिन लगा कि जैसे शहर के सभी रास्ते कर्बला की ओर मुड़ गये। नखास और गढ़ी अब्दुल मजीद से लोग जरी का ताजिया लेकर कर्बला पहुंचे। भीकमपुरा और तकिया नशरत शाह से लाजवंती का ताजिया आया। मेंहदी बाग से आये सोंगवारों ने सीनाजनी करते हुए मातम किया।

हुसैन के दीवाने पूरे जोश से या अली, या हुसैन की सदायें बुलंद करते रहे। जगह- जगह हुए मातम में नौहे दोहराये गये- कर्बला का वाक्या यह कहता है, जुल्म के आगे कभी झुकना नहीं ... घुमना, मित्तूकूंचा और टाउन हाल तिराहे पर सोगवारों ने दिल दहलाने वाला मातम किया।

 

मौलाना गुलशेर ईरानी का कहना है कि हुसैन उस शख्सियत का नाम है जिसका पूरी कायनात पर सिक्का है। यजीद का नाम मिट गया। आज कोई अपने बच्चों का नाम यजीद के नाम पर नहीं रखता। जबकि हुसैन और अब्बास के नाम पर अधिकांश बच्चों के नाम रखे जाते हैं।

मौलाना फरहत अली जैदी ने कहा कि हमारे शहर का यह गंगा जमुनी मिजाज है कि हम सभी त्यौहार मिल जल कर मनाते हैं। जैसा इस बार हुआ है। गणेशोत्सव और मुहर्रम साथ साथ सद्भाव के साथ चला है।

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: