Headline • टोटल धमाल ने मचाई स्क्रीन पर धूम• अमेरिकी डोनाल्ड ट्रम्प और उत्तर कोरियाई किम जोंग के बिच 27-28 फरवरी को वियतनाम में होगा शिखर सम्मेलन • यूपी पुलिस ने देवबंद में 2 संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया• दक्षिण कोरिया ने PM मोदी को सियोल शांति पुरस्कार से किया सम्मानित • भाजपा सरकार ने EPF ब्याज दरों में कि बढ़ोतरी • अर्जुन कपूर और अभिषेक बच्चन ने अक्षय कुमार की फिलम केसरी के ट्रेलर की प्रशंसा की • पूर्व पाक अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी के पास इमरान खान के लिए सावधानी बरतने की सलाह • जम्मू-कश्मीर में सरकार ने अर्धसैनिकों के लिए दी हवाई यात्रा को मंजूरी• अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट पर PM मोदी से की अपील दिल्ली को दे पूर्ण राज्य का दर्जा • भारत और सऊदी अरब ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की• जयपुर सेंट्रल जेल में मारा गया पाकिस्तानी कैदी• नवजोत सिंह सिद्धू के शो से बाहर होने पर कपिल शर्मा का बयान• तमिलनाडु में भाजपा संग एआईएडीएमके गठबंधन हुआ तय • इमरान खान की भारत को धमकी बिना साबुत किया हमला तो खुला जवाब देंगे• अलीगढ़ हिंदू छात्र वाहिनी कार्यकर्ताओं का धारा 370 को हटाने को लेकर प्रदर्शन• कुलभूषण जाधव मामले की सोमवार से सुनवाई शुरू• उत्तराखंड पुलिस की कश्मीरी छात्रों से सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयान न देने की अपील • पुलवामा एनकाउंटर: मेजर समेत 4 जवान शहीद, 2 आतंकी ढेर• राजस्‍थान का गुर्जर आंदोलन शनिवार को खत्म• पुलवामा आतंकी हमले पर सर्वदलीय बैठक शुरू• PM मोदी का ऐलान: आतंकियों की बहुत बड़ी गलती चुकानी होगी कीमत• गांधीजी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा सचिव पूजा पांडे को मिली जमानत• कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती विस्फोट 41 सीआरपीएफ जवानों की मौत• राजीव सक्सेना को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 22 फरवरी तक मिली अंतरिम जमानत • सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल और एलजी विवादों पर अपना फैसला सुनाया


 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग के साथ अगले सप्ताह वियतनाम में अपने शिखर सम्मेलन के दौरान एक-के-बाद-एक बैठक होगी। एक अमेरिकी अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि दोनों नेता जो पिछले जून में सिंगापुर में पहली बार मिले थे। 27-28 फरवरी को वियतनामी राजधानी हनोई में वार्ता के लिए मिलेंगे।

ट्रम्प उत्तर कोरिया के नेता को अपने परमाणु शस्त्रागार को छोड़ने के लिए मनाने की कोशिश कर रहे हैं। एक अमेरिकी अधिकारी ने कहा कि अगले सप्ताह की बैठक जून में हुई सिंगापुर बैठक के समान ही होगी। दोनों नेताओं के लिए अपनी-अपनी टीमों के साथ बैठक करने से पहले एक-दूसरे को देखने का अवसर मिलेगा।

प्योंगयांग में अमेरिका के विशेष दूत स्टीफन बेजगन अपने उत्तर कोरियाई समकक्ष किम ह्योक चोल के साथ पहले से ही हनोई में बातचीत कर रहे हैं। बुधवार को ट्रम्प ने उत्तर कोरियाई नेता के साथ अपने संबंधों की फिर से प्रशंसा की, लेकिन कहा कि अगर वह प्रतिबंधों को हटाते देखना चाहते हैं तो उन्हें परमाणु मोर्चे पर सार्थक इशारा करना होगा।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दक्षिण कोरिया की दो दिवसीय यात्रा पर हैं, शुक्रवार को "अंतर्राष्ट्रीय सहयोग में योगदान और वैश्विक आर्थिक विकास को बढ़ावा देने" के लिए सियोल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार उन्हें सियोल शांति पुरस्कार फाउंडेशन द्वारा प्रदान किया गया। आयोजन में पीएम मोदी के जीवन और उपलब्धियों पर एक लघु फिल्म भी प्रदर्शित की गई।

पीएम मोदी ने कहा, “मेरा मानना ​​है कि यह पुरस्कार मेरे लिए व्यक्तिगत रूप से नहीं, बल्कि भारत के लोगों के लिए है। पिछले 5 वर्षों में भारत ने जो सफलता हासिल की है, वह भारत के लोगों की आकांक्षाओं, प्रेरणा और प्रयासों के कारण है। उनकी ओर से, मैं पुरस्कार स्वीकार करता हूं और आभार व्यक्त करता हूं।”

मुझे यह पुरस्कार भारत के 1.3 बिलियन लोगों को समर्पित किया गया है ताकि मुझे उनकी सेवा करने का अवसर मिले। PM मोदी पुरस्कार के 14 वें प्राप्तकर्ता हैं और पिछले पुरस्कार विजेताओं में संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव कोफी अन्नान, जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल और अंतरराष्ट्रीय राहत संगठन डॉक्टर्स विदाउट बॉर्डर्स और ऑक्सफेम शामिल हैं।

पुलवामा में हुए आतंकी हमले के मुद्दे पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को अपने बयान में भारत को युद्ध की धमकी दे डाली। इमरान खान ने कहा कि अगर हम पर हमला किया गया तो हम खुला जवाब देंगे। पाक PM इमरान खान ने कहा कि पिछले काफी समय से हम खुद आतंकवाद से जंग लड़ रहे हैं। इससे हमें कोई फायदा नहीं है। हर बार कश्मीर में कुछ भी होता है तो पाकिस्तान पर इल्जाम लगाया जाता है। अगर भारत की सरकार हमें कोई सबूत देगी तो हम इस मसले पर जांच करने के लिए तैयार है। हम आतंकवाद पर बात करने को तैयार हैं और हम इसे खत्म करना चाहते हैं। पाकिस्तान को आतंकवाद से काफी नुकसान हुआ है। हालांकि पाकिस्तान के आतंकियों जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली थी जिसे लेकर भारत ने पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया था

 

पाकिस्तानी राष्ट्रपति इमरान खान द्वारा पुलवामा हमले पर अपनी चुप्पी तोड़ने के एक दिन बाद, पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने कहा कि पाकिस्तान को जांच में सहयोग करना चाहिए और किसी भी संभावित साक्ष्य के आधार पर कदम उठाना चाहिए।

इमरान खान की निंदा करते हुए जरदारी ने कहा, राष्ट्रपति अन्य बलों के इशारे पर काम कर रहे हैं। जरदारी ने यह भी कहा कि इमरान खान अपरिपक्व थे और यह नहीं जानते थे कि अंतरराष्ट्रीय राजनीति को कैसे संभालना है।

आसिफ अली जरदारी पाकिस्तान के अध्यक्ष थे, जब 2008 में, मुंबई पर लश्कर-ए-तैयबा ने हमला किया था। जरदारी ने पहले इमरान खान के खिलाफ बात की थी। जब इमरान खान ने अगस्त 2018 में सत्ता संभाली थी। उन्होंने कहा था कि खान अपने संवैधानिक पांच साल के कार्यकाल को पूरा नहीं करेंगे।

 

कुलभूषण जाधव केस की इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में सोमवार से सुनवाई शुरू हो गई है। जो की 18 फरवरी से शुरू होकर 21 फरवरी तक चलेगी। सोमवार को पहले दौर की सुनवाई स्थानीय समय ढाई बजे से शुरू होकर शाम साढ़े पांच बजे तक चलेगी। जिसमें भारत अपना पक्ष रखेगा। सुनवाई का दूसरा दौर मंगलवार को दोपहर ढाई बजे से साढ़े पांच बजे तक चलेगा जिसमें पाकिस्तान अपनी बात रखेगा।

भारत की तरफ से हरीश साल्वे हेग कोर्ट में वकालत करेंगे तो पाकिस्तान की ओर से ख्वार कुरैशी को पेश होंगे। पाकिस्तान ने इस मामले के लिए अपना एक विशेष दल भेजा है जिसकी अगुआई वहां के अटॉर्नी जनरल अनवर मंसूर खान कर रहे हैं।

:
:
: