Headline • भाजपा सरकार ने EPF ब्याज दरों में कि बढ़ोतरी • अर्जुन कपूर और अभिषेक बच्चन ने अक्षय कुमार की फिलम केसरी के ट्रेलर की प्रशंसा की • पूर्व पाक अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी के पास इमरान खान के लिए सावधानी बरतने की सलाह • जम्मू-कश्मीर में सरकार ने अर्धसैनिकों के लिए दी हवाई यात्रा को मंजूरी• अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट पर PM मोदी से की अपील दिल्ली को दे पूर्ण राज्य का दर्जा • भारत और सऊदी अरब ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की• जयपुर सेंट्रल जेल में मारा गया पाकिस्तानी कैदी• नवजोत सिंह सिद्धू के शो से बाहर होने पर कपिल शर्मा का बयान• तमिलनाडु में भाजपा संग एआईएडीएमके गठबंधन हुआ तय • इमरान खान की भारत को धमकी बिना साबुत किया हमला तो खुला जवाब देंगे• अलीगढ़ हिंदू छात्र वाहिनी कार्यकर्ताओं का धारा 370 को हटाने को लेकर प्रदर्शन• कुलभूषण जाधव मामले की सोमवार से सुनवाई शुरू• उत्तराखंड पुलिस की कश्मीरी छात्रों से सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयान न देने की अपील • पुलवामा एनकाउंटर: मेजर समेत 4 जवान शहीद, 2 आतंकी ढेर• राजस्‍थान का गुर्जर आंदोलन शनिवार को खत्म• पुलवामा आतंकी हमले पर सर्वदलीय बैठक शुरू• PM मोदी का ऐलान: आतंकियों की बहुत बड़ी गलती चुकानी होगी कीमत• गांधीजी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा सचिव पूजा पांडे को मिली जमानत• कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती विस्फोट 41 सीआरपीएफ जवानों की मौत• राजीव सक्सेना को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 22 फरवरी तक मिली अंतरिम जमानत • सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल और एलजी विवादों पर अपना फैसला सुनाया• केसरी: अक्षय कुमार अभिनीत ऐतिहासिक ड्रामा का पहला झलक वीडियो रिलीज़ • पीएम मोदी ने हरियाणा में की विकास परियोजनाओं की शुरुआत • राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मोदी सरकार पर जुबानी जंग • मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में SC ने राव के माफ़ी नामे को किया अस्वीकार लगाया 1 लाख का जुर्माना

एस जयशंकर ने भारत के नए विदेश सचिव का पदभार संभाला, सुजाता सिंह बर्खास्त

अमेरिका में भारत के राजदूत एस जयशंकर को भारत के नए विदेश सचिव के रूप में नियुक्त किया है। एस जयशंकर ने आज अपना पदभार संभाल लिया है। जयशंकर को पूर्व विदेश सचिव सुजाता सिंह की जगह पर नियुक्त किया गया है।

 बतौर विदेश सचिव कार्यभार संभालने के बाद एस जयशंकर ने कहा, 'सरकार की प्राथमिकताएं मेरी प्राथमिकताएं हैं।'

बता दें कि, सुजाता सिंह ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के भारत दौरे के दौरान हैदाराबाद हाउस में मोदी- ओबामा के साझा बयान के बाद प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित किया था। वहीं अचानक से विदेश सचिव सुजाता सिंह को बर्खास्ती ने सबकों चैका दिया है। हालांकि सुजाता सिंह को बतौर विदेश सचिव उनके कार्यकाल को एक साल का विस्तार मिला था। 

वहीं नए विदेश सचिव नियुक्त करने की खबर पाते ही जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर प्रतिक्रिया दी है। उमर ने लिखा है, ‘खबरों के मुताबिक, एस. जयशंकर नए विदेश सचिव बनाए गए हैं। अगर ऐसा है तो केंद्र सरकार का यह एक बेहतरीन निर्णय है। एस. जयशंकर बहुत अच्छे विदेश सचिव साबित होंगे।’

 सुजाता सिंह 1976 बैच की आईएएस हैं। जबकि एस. जयशंकर अमेरिका से पहले चीन में भी भारत के राजदूत रह चुके हैं। हाल ही अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की भारत यात्रा में भी जयशंकर ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। ऐसे में नरेंद्र मोदी चाहते थे कि जयशंकर साउथ ब्लॉक में किसी खास पद पर आसीन हों।

 

दिल्ली चुनाव कैंपेन में जुटी मोदी टीम, पीएम की चार रैलियां, सुषमा- ईरानी की आठ रैलियां

दिल्ली विधानसभा चुनाव की तारीख नजदीक आते देख बीजेपी अपने चुनाव प्रचार प्रसार में जुट गई है। बीजेपी ने चुनाव में जनता के मूड को देखते हुए अपनी रैलियों की बागडोर अहम हाथों में सौंपी है। बीजेपी दिल्ली चुनाव में किसी तरह की कोई कमी रखना नहीं चाहती है। इसी को मध्यनजर रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच दिनों में चार रैलियां करने वाले हैं। 

मोदी की रैलियों का कार्यक्रम इस प्रकार है.

पीएम मोदी अपनी पहली रैली पूर्वी दिल्ली के शाहदरा क्षेत्र में 31 जनवरी को करेंगे।

दूसरी रैली एक फरवरी को पश्चिम दिल्ली में होगी।

मोदी तीन फरवरी को रोहिणी में तीसरी रैली को संबोधित करेंगे

और पीएम मादी अपनी आखिरी रैली दक्षिण दिल्ली में करेंगे।

 पीएम मोदी के अलावा दिल्ली के चुनावी दंगल में मोदी सरकार के प्रमुख मंत्रियों को भी दिल्ली की जंग में उतारा जा रहा है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी को चार-चार चुनावी सभाएं करने की जिम्मेदारी दी गई है। सुषमा स्वराज बुधवार को दिल्ली में चार रैली करेंगी। उनकी पहली रैली शाम 5 बजे संगम विहार में होगी, इसके बाद वो देवली, अंबेडकर नगर और महरौली में रैलियां करेंगी।

वहीं मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी भी आज दिल्ली दंगल में चुनाव प्रचार करती नजर आएंगी। स्मृति ईरानी को भी चार रैलियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। जिसकी शुरूआत स्मृति ईरानी आज से ही करेंगी। उनकी पहली रैली शाम 5 बजे बवाना में शुरू होगी। इसके बाद वो मुंडका, सुल्तानपुर माजरा और रिठाला में भी चुनावी सभा को संबोधन करेंगी। 

दिल्ली चुनाव सभी पार्टियों के लिए बेहद महत्वपूर्ण है, इसको को देखते हुए बीपेनी ने अपने प्रचार अभियान की मुख्य कमान वित्त मंत्री अरुण जेटली को सौंपी है। जेटली रोज कम से कम एक घंटा पंत मार्ग के बीजेपी दफ्तर में बैठेंगे और चुनाव प्रचार में लगे मंत्रियों के बीच कड़ी का काम करेंगे।

बीजेपी ने केजरीवाल और कांग्रेस से मुकाबला करने के लिए 14 केंद्रीय मंत्रियों को दिल्ली के अलग-अलग जिलों की कमान सौंपी है। जिनमें निर्मला सीतारमण आर्थिक, जेपी नड्डा - स्वास्थ्य, किरण बेदी - महिला मामले और सुरक्षा और स्मृति इरानी - शिक्षा मामलों में पार्टी की कमान संभालेंगी. इतना ही नहीं, अरुण जेटली रोज खुद ही मीडिया से बात करेंगे। इतना ही नहीं दिल्ली चुनाव में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर भी दिल्ली में कमल खिलाने के लिए मैदान में कूद पड़े हैं। खट्टर की पहली रैली आज हरियाणा से सटे बिजवासन इलाके में होगी। इसके बाद शाम 7 बजे वो दिल्ली कैंट में लोगों के सामने बीजेपी का मंत्र रखेंगे।

वहीं बीजेपी की मुख्यमंत्री उम्मीदवार किरण बेदी भी बुधवार को पांच चुनाव सभाएं करेंगी। किरण बेदी गुरुवार को केजरीवाल की सीट नई दिल्ली में चुनौती पेश करेंगी। बेदी यहां रोड शो करेंगी और बीजेपी उम्मीदवार नूपुर शर्मा के लिए वोट मांगेंगी।

 

मोदी-ओबामा ने शेयर की अपने 'मन की बात'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी प्रेजिडेंट बराक ओबामा ने संयुक्त रेडियो प्रोग्राम के जरिए अपने 'मन की बात' शेयर की। इस प्रोग्राम की रिकॉर्डिंग ओबामा के दौरे के दौरान हैदराबाद हाउस में हुई थी, जिसे मंगलवार शाम को प्रसारित किया गया।

'मन की बात' की शुरुआत में मोदी ने अमेरिकी प्रेजिडेंट के नाम 'बराक' का मतलब बताया। उन्होंने कहा, 'कुछ लोगों के मन में सवाल उठता है कि बराक का अर्थ क्या है। अफ्रीका की स्वाहिली भाषा में इसका मतलब है 'जिसे आशीर्वाद प्राप्त है।' बराक के नाम के साथ उनके परिवार ने उनको यह बड़ा तोहफा दिया है।' इसके बाद दोनों ने एक-एक कर पाठकों के सवालों के जवाब दिए।

कार्यक्रम के आखिर में मोदी ने अपने जीवन का एक प्रसंग सुनाया, उन्होंने कहा, 'बचपन में एक परिवार बार-बार खाने के लिए बुलाता था, लेकिन मैं जाता नहीं था। मैं इसलिए नहीं जाता था, क्योंकि वह गरीब परिवार था। एक बार मैंने काफी जोर देने पर न्योता स्वीकार कर लिया। एक छोटी सी झोंपड़ी में बाजरे की रोटी और दूध दिया गया। उनका छोटा बच्चा दूध की ओर देख रहा है। मैंने दूध का कटोरा उसे दिया, तो वह उसे तुरंत पी गया। ऐसा लगा जैसे मां के दूध के सिवा उसने दूध देखा ही न हो। परिवार वाले नाराज थे कि उसने ऐसा क्यों किया। वे लोग मेरे लिए दूध खरीदकर लाए थे। मुझे यह घटना गरीबों के लिए काम करने की प्रेरणा देती है।'

बता दें कि मोदी अक्टूबर से हर महीने 'मन की बात' कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को रेडियो पर संबोधित कर रहे हैं। मोदी ने 22 जनवरी को ऐलान करते हुए कहा था कि इस महीने 'मन की बात' विशेष होगी जिसमें गणतंत्र दिवस पर हमारे मुख्य अतिथि बराक ओबामा और मैं अपने विचार साझा करेंगे।

मोदी ने इस दौरान कम्युनिज्म की नई परिभाषा भी बताई। उन्होंने कहा, 'एक समय कम्युनिस्ट विचारधारा वाले दुनिया में आह्वान करते थे-दुनिया के कामगारो एक हो जाओ, आज मैं कहूंगा-युवको, दुनिया को एक करो।'

ऊबर टैक्सी रेप कांडः पीडि़ता ने कंपनी से मांगा 100 करोड़ का मुआवजा

ऊबर टैक्सी रेप कांड की पीडि़त ने कंपनी पर ढाई लाख करोड़ रुपये का मुकदमा कर दिया है। पीडि़त महिला का मुकदमा लड़ रहे अमेरिकी वकील ने यह जानकारी देते हुए कहा कि, पीडि़त ने कंपनी ऊबर से मुआवजे के तौर पर ‘मोटी’ रकम मांगी है।

बता दें कि, पीडि़त महिला की तरफ से मुकदमा न्यू यॉर्क की लॉ फर्म विगडर एलएलएपी लड़ रही है। महिला ने कथित तौर पर 6 दिसंबर को हुई घटना के लिए मुआवजा मांगा है। इस घटना के बाद नैशनल कैपिटल रीजन में टैक्सी ऐप सर्विसेज पर बैन लग गया था। ऊबर और दूसरी टैक्सी एग्रीग्रेटर कंपनियां ओला और टैक्सीफॉरश्योर को संशोधित टैक्सी कानून के हिसाब से चल रही हैं। उनको शहर में टैक्सी सर्विसेज चलाने के लिए लाइसेंस भी लेना पड़ा है।

लॉ फर्म में पार्टनर डगलस एच विगडर ने बताया कि, ‘मेरी क्लाइंट का मकसद यह पक्का कराना है कि ऊबर के टैक्सी ड्राइवर के हाथों कोई और यौन हिंसा का शिकार नहीं हो जाए। इसके अलावा मेरी क्लाइंट को उस घटना के लिए मुआवजा भी मिलना चाहिए, जिसको ऊबर ने होने दिया।

 सूत्रों के मुताबिक पीडि़त महिला ने 100 करोड़ रुपये का मुआवजा मांगा है। हालांकि विगडर ने मुआवजे के डीटेल्स नहीं दिए हैं। ऊबर ने इस बारे में कॉमेंट करने से मना किया है।

'हनुमान’ भक्त बराक ओबामा

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा पर हनुमानजी की कृपा है, तभी तो ओबामा अपने साथ हमेशा हनुमान की छोटी फोटो रखते हैं। इस बात का खुलासा स्वयं बराक ओबामा ने पीएम मोदी से किया है, इतना ही नहीं ओबामा ने भारत आने के बाद पीएम नरेन्द्र मोदी को दिखाई भी है।

हनुमानजी के प्रति खास आस्था के कारण अमेरिका में चुनाव से पहले दिल्ली के हनुमान मंदिर से उनके लिए एक हनुमानजी की प्रतिमा भी भेजी गई थी।हनुमान मंदिर कनॉट प्लेस के पंडित नरेंद्र शर्मा ने बताया कि, ‘अमेरिका में चुनाव से पहले हमने करोलबाग मंदिर से उनके लिए प्रतिमा भेजी थी। उसके बाद वो भारी मत से जीते थे। ओबामा पर हनुमानजी की खास कृपा है।’

:
:
: