Headline • धोनी ने आलोचकों को दिया बल्ले से जमकर जवाब • रूसी विमान युद्धाभ्यास के दौरान जापान सागर पर आपस में टकराए • कंगना करणी सेना से नाराज बोली मैं भी राजपूत हूं बर्बाद कर दुंगी तुम्‍हें• मिशन 2019: चुनाव आयोग मार्च में कर सकता है। लोकसभा चुनाव का एलान • ममता की महारैली में विपक्ष का जमावड़ा, पहुंचे बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा• मेघालय, कोयला खदान से 35 दिनों के बाद 200 फीट की गहराई से निकला मजदूर का शव • भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को स्वाइन फ्लू, एम्स में चल रहा इलाज • रुपये में मजबूती शेयर बाजार 36 हजार के पार• World Bank के प्रमुख पद की दावेदार में इंद्रा नूई का नाम आगे • कर्नाटक में राजनीतिक उठा-पटक, कांग्रेस ने 18 को बुलाई विधायकों की बैठक• विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अध्यक्ष राम जन्मभूमि मार्गदर्शक मंडल के सदस्य विष्णु हरि डालमिया का निधन• भदोही में एक निजी स्कूल वैन में लगी आग, 19 बच्चे झुलसे• मथुरा के यमुना एक्सप्रेस वे पर, रफ्तार का कहर 3 की मौत• जहरीली शराब कांड का इनामी बदमाश कानपुर पुलिस की गिरफ्त में• गाजियाबाद में स्वाइन फ्लू की दस्तक, स्वास्थ्य विभाग अलर्ट• प्रयागराज में हर्ष फायरिंग दौरान, एक को लगी गोली• पेट्रोल-डीजल के दामों ने फिर दिया झटका, क्या रहे आपके शहर के दाम• RRB ग्रुप डी आंसर की जारी 14 से 19 जनवरी तक दर्ज कराएं अपनी आपत्ति• सवर्णों को 10% आरक्षण बिल को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती• अयोध्या विवाद संवैधानिक बेंच से जस्टिस यूयू ललित हटे, 29 जनवरी को फिर से होगी सुनवाई• जम्मू-कश्मीर के आईएएस शाह फ़ैसल ने अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए इस्तीफ़ा देने का किया ऐलान I• हाई पावर कमेटी आलोक वर्मा पर आगे का फैसला लेगी। कमेटी में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़के व जस्टिस एके सीकरी उपस्थित रहेंगे।• सीएम योगी से मिलने के बाद बोलीं विवेक तिवारी की पत्नी- सरकार पर भरोसा और बढ़ गया• राजकपूर की पत्नी कृष्णा राज कपूर का 87 साल की उम्र में निधन• गाजियाबाद: आपसी झगड़े में BSF जवान ने दूसरे को मारी गोली, एक की मौत


नई दिल्ली.ऑन लाइन शॉपिंग के विरोध में शुक्रवार को व्यापारियों ने भारत बंद करने का ऐलान किया है। इस दौरान कई जगहों पर सभी मेडिकल स्टोर भी बंद रहेंगे। इस भारत बंद में दावा किया जा रहा है कि इसमें देशभर के 7 करोड़ व्यापारी शामिल होंगे। 

-व्यापारियों का कहना है कि बहुराष्ट्रीय कंपनियों को पिछले दरवाजे से प्रवेश देकर सरकार छोटे व्यापारियों को खत्‍म करना चाहती है। खुदरा क्षेत्र में एफडीआई आने से व्‍यापारियों और दुकानदारों की आजीविका खतरे में पड़ गई है।

-मौजूदा नियम वॉलमार्ट को भारत में काम करने की इजाजत नहीं देते हैं, लेकिन फ्लिपकार्ट में हिस्सेदारी खरीदने के बाद यह पिछले दरवाजे से बाजार में उतरने की तैयारी कर रहा है। 

मुज़फ्फरनगरः समाजवादी पार्टी से अलग होने के बाद भी चाचा भतीजो में तंज कसने में एक दूसरे में होड़ लगी है। दोनो नेता तंज कसने का कोई भी मौका नहीं छोड़ते है।

सहारनपुर जाते समय समाजवादी सेक्यूलर मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव का मुज़फ्फरनगर नेशनल हाईवे पर कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया।

शिवपाल सिंह यादव का कार्यकर्ताओ ने माला पहनाकर जोरदार स्वागत किया। शिवपाल सिंह यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि एक समान विचारधारा वाले जितने भी दल हैं, जितने भी उपेक्षित लोग हैं जिन्हें कहीं भी सम्मान नहीं मिल रहा है, उन सबको हमने इकठ्ठा किया है।

उन्होंने कहा कि अबतक लगभग 40 दल  हमसे मिल भी चुके हैं। हमने तो नेताजी को चुनाव लड़ने का न्योता दिया था वे आना चाहे तो ठीक है वर्ना हम तो अपना काम कर ही रहे हैं।

पार्टी के कार्यक्रम भी लग चुके हैं फिर 13 तारीख में बैठक बुलाई है। 40 दल  हमारा सम्मान भी करेंगे और हमारी साथ भी रहेंगे।

 

मेरठः सरधना से बीजेपी विधायक संगीत सोम के घर हुए हमले के मामले में जहां पुलिस जांच में जुटी है, वहीं विधायक सोम का बयान सामने आया है।

संगीत सोम ने कहा कि उनके उपर हमला दरअसल आतंकी साजिश है। उन्होंने कहा कि दो साल पहले उन्हें आतंकियों से धमकी मिली थी, जिसमें कहा गया था कि उन्हे ग्रेनेड से उड़ा दिया जाएगा। 

सोम ने कहा कि हमले के दौरान सुरक्षाकर्मियों को जवाबी फायरिंग करनी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि वे ऐसे हमलों से डरने वाले नहीं है, बल्कि अपनी बात को और मुखर तरीके से कहेंगे। 

संगीत सोम ने कहा कि पुलिस अधिकारियों ने उन्हें बताया कि जांच में उन्हें कुछ अहम सबूत हाथ लगे हैं। 

बता दें कि सरधना विधायक संगीत सोम के कैंट स्थित आवास पर देररात ग्रेनेड से हमला किया गया। जैसे ही संगीत सोम घर में प्रवेश किया, कार से आए हमलावरों ने कई गोलियां चलाई और घर में घुसने का प्रयास किया। नाकाम रहने पर उन्होंने ग्रेनेड फेंका और वहां से भाग गए। 

इस घटना से मेरठ पुलिस की आलोचना हो रही है। सोम के आवास में तैनात पुलिसकर्मी हमला होते ही भाग खड़े हो गए। बड़ा सवाल उठ रहा है कि कैंट जैसे सुरक्षित इलाके में ग्रेनेड के साथ हमलवार  कैसे घुसे और कैसे फरार हो गए। 

विधायक संगीत सोम के घर पर सुरक्षा के लिए तैनात  5 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया। 

लोगों का कहना है कि कैंट की सुरक्षा व्यवस्था राम भरोसे हो गई है। थाना लालकुर्ती पुलिस बड़ी लापरवाही सामने आई है।  

 

प्रतापगढ़ः गन्दा है पर धंधा है ये! सियासी रसूख की आड़ में प्रतापगढ़ में देह व्यापार का गन्दा खेल चल रहा था। नगर कोतवाली इलाके में पुलिस की छापेमारी के दौरान होटल में देह व्यापार के मामले का भंडाफोड किया गया। 

सदर चौराहा स्थित होटल में गंदे खेल की सूचना पर पुलिस ने छापेमारी की तो सियासत बेनकाब हो गई।  बताया जाता है कि यह होटल पूर्व ब्लाक प्रमुख का है। इलाहाबाद फैजाबाद हाईवे पर सदर चौराहे स्थित लॉज में भी देह व्यापार के खेल का खुलासा हुआ। 

प्रतापगढ़ के होटल देह व्यापार की गिरफ्त में हैं। सियासी रसूख में देह व्यापार होटलों में फल फूल रहा है। ऐसा ही एक रैकेट का पर्दाफाश हुआ जब पुलिस ने नगर कोतवाली इलाके के सदर चौराहा स्थित होटल अवध में छापेमारी की। इस छापेमारी में आधा दर्जन से अधिक लड़किया पुलिस की गिरफ्त में आईं।

ये लड़किया होटल में ग्राहक की डिमांड पर बुलाई जाती थी। इस दौरान पांच युवक भी पुलिस की गिरफ्त में आये जबकि छापेमारी के दौरान दो लड़के भागने में सफल रहे। पकड़ी गयी दो सात लड़कियों में से एक महिला थी जो अपने बच्चे के साथ होटल में आपत्तिजनक हालत में पकड़ी गयी।

इन लड़कियों में से एक लखनऊ की लड़की थी जो होटल के लिए देह व्यापार काम करती है। पुलिस छापे में कंडोम, मोबाईल फोन और अन्य सेक्सवर्धक दवाइया बरामद हुई। अवध होटल की मालकिन सपा नेत्री है और वह सदर ब्लाक की पूर्व ब्लाक प्रमुख रह चुकी है।

पूर्व ब्लॉक प्रमुख के बड़े नेताओ से पकड़ है और सियासी रसूख की आड़ में यह सब कुछ चल रहा था।  छापेमारी के बाद पुलिस ने जब लड़कियों और युवको को हिरासत में लेकर नगर कोतवाली गयी तो कोतवाली में वकीलों और नेताओं की भीड़ पहुंच गयी।

इस दौरान पूर्व प्रमुख और उसके समर्थकों की पुलिस ने नोक झोक भी हुई। फिलहाल पुलिस ने महिला नेत्री व होटल की मालकिन को भी गिरफ्तार कर लिया है। होटल के अभिलेख और इंट्री  रजिस्टर भी फाड़ दिया गया। पूर्व प्रमुख और महिला पुलिस में जमकर नोक झोक हुई। उसने अपना रसूख बताया लेकिन कोई हनक काम न आई।

  

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि मस्जिद में नमाज का मुद्दा संविधान पीठ को नहीं भेजा जाएगा। वहीं अयोध्या मामले की सुनवाई 29 अक्टूबर से शुरू होगी। 

-चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा और जस्टिस अशोक भूषण ने कहा संविधान पीठ को मामला भेजना जरूरी नहीं है। 

भूभि विवाद पर नहीं पढ़ेगा फर्क 

- कोर्ट ने कहा कि अयोध्या मामले की सुनवाई में फारुखी फैसले की टिप्पणी से कोई फर्क नहीं पड़ता है। ये केस बिल्कुल अलग है। इससे भूमि विवाद पर फर्क नहीं पड़ेगा। उसे तथ्यों के आधार पर तय किया जाएगा। 

ये जज पढ़ रहे फैसला 

 - जस्टिस अशोक भूषण अपना और चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा का फैसला सुनाएंगे. जबकि जस्टिस नजीर अपना फैसला अलग पढ़ेंगे।

:
:
: