Headline • सोशल मिडिया पर नुसरत जहां की हुई बड़ी तारीफ• 2019 के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बनी ऑस्ट्रेलिया• चंद्रबाबू नायडू का आलीशान बंगला बना खँडहर • पीएम मोदी के बयान पर सदन में हंगामा   • मसूद अजहर मौत के दरवाजे पर • सुनैना रोशन के ब्वॉयफ्रेंड रुहेल ने रोशन परिवार पर लगाया आरोप • माइकल क्लार्क ने बुमराह और कोहली के बारे में कहा• हफ्ते भर की देरी के बाद मानसून अब  देगा दस्तक  •  राम रहीम ने की पैरोल मांग• रणबीर कपूर और आलिया के रिश्ते पर लग सकती है मुहर • रूस अमेरिका से रिश्ते मधुर करने में जुटा • यूपी के 15 शहरों के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) की चेतावनी • मायावती का अखिलेश पर बड़ा आरोप, अखिलेश के कारण हुई हार• चेन्नई की प्यास बुझाने के लिए चलाई गई स्पेशल ट्रेन• भारत की निगाह बड़ी जीत पर, अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में पहली बार भारत• बिहार में मानसून पहुंचने से लोगो ने ली राहत की सांस • एक बार फिर सदन में तीन तलाक के मुद्दे पर तीखी बहस • विश्व कप में अंतिम चार के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करने उतरेगा भारत • संकट में कुमारस्वामी की सरकार, एचडी देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई• अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंन्द मोदी का दुनिया को सन्देश। • गौतम गंम्भीर ने साझा किए इमोशनल मैसेज • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी  रांची  में करेगें योग • भारत को आतंक का नया ठिकाना बनाने की फिराख में है ISIS के आतंकी• अमेरिका के इस कदम से, कामकाजी भारतीयों को होगी परेशानी• चुनाव के बाद तेजस्वी कहाँ गायब हो गये है।


 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरी बार शपथ ग्रहण समारोह में लगभग 5000 से 6000 लोगों के उपस्थित रहने की उम्मीद लगाई जा रही है। इस समारोह में पीएम मोदी के साथ उनका मंत्रिमंडल भी शपथ ग्रहण करेगा । लेकिन इस समारोह को लेकर कहा जा रहा है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और पीएम मोदी की तरफ से निर्देश मिले हैं कि समारोह को साधारण और गंभीर रूप दिया जाए। इस समारोह का काम देख रहे एक अधिकारी का कहना हैं कि एक गंभीर अवसर को ध्यान में रखते हुए इसे सादगीपूर्ण और गरिमामय बनाने पर जोर दिया गया है।

शपथ ग्रहण समारोह राष्ट्रपति भवन के बाहरी प्रांगण में होगा। इस बार इस समारोह में 14 देशों के प्रमुख, कई देशों के राजदूत, बुद्धिजीवी, राजनीतिक एक्टिविस्ट्स, फिल्म स्टार और सिलेब्रिटी को बुलाया गया है। जानकारों की मानें तो इस कार्यक्रम में क्षेत्रीय और राष्ट्रीय पार्टियों के प्रमुखों के अलावा कई वरिष्ठ राजनेताओं को भी बुलाया गया है।

 

लोकसभा चुनाव में भारी बहुमत से जीत हासिल कर नरेंद्र मोदी एक बार फिर प्रधानमंत्री पद की शपथ ग्रहण करेगें । लेकिन इस बार पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तान को आमंत्रित नहीं किया गया है ।

पाक पीएम इमरान खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जीत के बाद फोन पर बधाई दी थी और दोनों देशों के लोगों की बेहतरी के लिए मिलकर काम करने की इच्छा व्यक्त की थी । इसके बावजूद पीएम मोदी ने इमरान खान को आमंत्रित नहीं किया । समारोह में बिमस्टेक देशों बांग्लादेश, म्यांमार, श्रीलंका, थाईलैंड, नेपाल और भूटान को आमंत्रित कर पीएम मोदी ने पाकिस्तान को सख्त संदेश दे दिया है ।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एक न्यूज चैनल से बातचीज में कहा, उनका पूरा चुनावी कैंपेन ही पाकिस्तान विरोध पर आधारित था । ऐसी उम्मीद करना बेवकूफी ही होगी ।

 

योग गुरू बाबा रामदेव ने रविवार को जनसंख्या वृद्धि को देश की खराब स्थिति के लिए जिम्मेदार बताया । उन्‍होंने कहा कि इसके नियंत्रण के लिए सरकार को कानून लाना चाहिए। परिवार के तीसरी बच्‍चें को वोट डालने के साथ दूसरे नागरिक अधिकार नहीं होने चाहिए।

उन्‍होंने कहा अगर हम 2050 तक जनसंख्या को काबू नहीं कर पाए तो देश में खाने-पीने एवं प्राकृतिक संसाधनों का आकाल पैदा हो जाएगा। इस स्थिति से बचने को दो से अधिक बच्चे पैदा करने की प्रवृति पर कानूनी रूप से रोक लगनी चाहिए। तीसरे बच्चे को सरकारी सुविधाओं से भी वंचित कर देना चाहिए। इस तरह का कानून देश भर में लागू किया जाना चाहिए।

 

लोकसभा चुनाव 2019 के चुनाव हारने के बाद कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी अपना अध्यक्ष पद छोड़ने पर अड़ हूए हैं लेकिन वहीं पार्टी के नेता उनको मनाने में लगें हैं । मंगलवार सुबह भी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, नेता रणदीप सुरजेवाला उनसे मिलने पहुंचे । सूत्रों के अनुसार राहुल को कहा गया है कि आप पार्टी में जो मर्जी बदलाव करें, जैसे चाहे पार्टी चलाएं । जिसके बाद अब राहुल नरमी के संकेत दे सकते हैं । हालांकि वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, प्रियंका गांधी की कई दौरो की मीटिंग के बाद राहुल गांधी कार्यप्रणाली में कुछ शर्तों के साथ अध्यक्ष पद पर बने रहने की सहमति जताई है ।

बता दें कि लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद कांग्रेस की वर्किंग कमेटी की बैठक में राहुल ने इस्तीफे की पेशकश की थी, लेकिन पार्टी ने उसे नकार दिया था । हालांकि, उसके बाद राहुल अपने फैसले पर अड़े रहे ।

 

सोमवार सुबह अजय देवगन के पिता और बॉलीवुड के जानेमाने एक्शन डायरेक्टर वीरू देवगन का निधन हो गया है । जानकारी के मुताबिक आज सुबह उन्होंने आखिरी सांस ली ।

सूत्रों के मुताबिक उनका निधन हार्टअटैक के कारण हुआ है । सीने में तकलीफ और सांस लेने में दिक्कत के चलते उन्हें सैंटाक्रूज के सूर्या हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था ।

हालांकि आपको बता दें कि बीते कुछ दिनों से उनके पिता की तबीयत नाजुक चल रही थी । इसी के चलते उन्हें कई बीते कुछ दिनों में अपने कई कार्यक्रम रद्द भी करने पड़ रहे थे । बीते दिनों उन्होंने अपनी फिल्म 'दे दे प्यार दे' के कई इंटरव्यूज भी कैंसल किये थे । आज शाम को करीब 6 बजे विले पार्ले श्मशान घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा ।

:
:
: