Headline • सोशल मिडिया पर नुसरत जहां की हुई बड़ी तारीफ• 2019 के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बनी ऑस्ट्रेलिया• चंद्रबाबू नायडू का आलीशान बंगला बना खँडहर • पीएम मोदी के बयान पर सदन में हंगामा   • मसूद अजहर मौत के दरवाजे पर • सुनैना रोशन के ब्वॉयफ्रेंड रुहेल ने रोशन परिवार पर लगाया आरोप • माइकल क्लार्क ने बुमराह और कोहली के बारे में कहा• हफ्ते भर की देरी के बाद मानसून अब  देगा दस्तक  •  राम रहीम ने की पैरोल मांग• रणबीर कपूर और आलिया के रिश्ते पर लग सकती है मुहर • रूस अमेरिका से रिश्ते मधुर करने में जुटा • यूपी के 15 शहरों के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) की चेतावनी • मायावती का अखिलेश पर बड़ा आरोप, अखिलेश के कारण हुई हार• चेन्नई की प्यास बुझाने के लिए चलाई गई स्पेशल ट्रेन• भारत की निगाह बड़ी जीत पर, अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में पहली बार भारत• बिहार में मानसून पहुंचने से लोगो ने ली राहत की सांस • एक बार फिर सदन में तीन तलाक के मुद्दे पर तीखी बहस • विश्व कप में अंतिम चार के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करने उतरेगा भारत • संकट में कुमारस्वामी की सरकार, एचडी देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई• अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंन्द मोदी का दुनिया को सन्देश। • गौतम गंम्भीर ने साझा किए इमोशनल मैसेज • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी  रांची  में करेगें योग • भारत को आतंक का नया ठिकाना बनाने की फिराख में है ISIS के आतंकी• अमेरिका के इस कदम से, कामकाजी भारतीयों को होगी परेशानी• चुनाव के बाद तेजस्वी कहाँ गायब हो गये है।


 

सत्रहवीं लोकसभा का पहला सत्र आज से शुरू, नव निर्वाचित सदस्यों ने शपथ ली। इसके साथ ही पक्ष-विपक्ष की भूमिका तय हो गई, लेकिन इस बार विपक्ष संख्या बल में बहुत कम है। इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सत्र की शुरुआत से पहले मीडिया से कहा संसदीय लोकतंत्र में सक्रिय विपक्ष महत्वपूर्ण होता है।

 लेकिन उसे अपने संख्याबल के बारे में परेशान होने की जरूरत नहीं है, बल्कि उन्हें सक्रियता से बोलने और सदन की कार्यवाही में भागीदारी करने की आवश्यकता होती है। साथ उन्होनें बताया कि हमें सदन में पक्ष-विपक्ष को भुल कर केवल राष्ट्र-हित के बारे में सोचना चाहिए और सांसदो से आग्रह किया, जब आप सदन में तब केवल देश के व्यापक हित के बारे में सोचे, क्योकि आज नए संविधान से परिचय का समय है। हम नए उत्साह, नई उमंग के साथ काम करेंगे। जनता ने हमें काम करने का अवसर दिया है। जनता की आशा-आकाक्षांओं को पूरा करेंगे। हमारे लिए विपक्ष की हर बात और हर भावना मूल्यवान है। आने वाले पांच सालों में इस सदन की गरिमा को और बढ़ाएंगे।  मुझे उम्मीद है कि यह सत्र एक सार्थक सत्र होगा।

पंचायत चुनाव के बाद ही बंगाल में बीजेपी और टीएमसी के बीच राजनीतिक हिंसा कम ही नही हो रहीं है। इस के बीच बीते शुक्रवार को मुर्शिदाबाद में टीएमसी कार्यकर्ताओ के घरों पर बम फेके गये जिसमें तीन की मौत हो गई। मरने वाले टीएमसी कार्यकर्ताओ की पहचान खैरुद्दीन शेख और सोहेल राणा के रूप में हुई है। घटना के बारे में खैरूद्दीन के बेटे मिलन ने बताया कि रात में अचानक हमारे घर में कुछ लोगो नें बम फेके और मेंरे पिता को गोली मार दी। मिलन ने कहा कि वो कांग्रेस के लोग थे। ये सब देखते हुए राज्यपाल नें सर्वदलीय बैठक बुलायी जिसमें बीजेपी, वामदल और टीएमसी को बुलाया लेकिन ममता ने यह कहते हुए मना कर दिया कि कानून व्यवस्था मुख्यमंत्री के कार्य क्षेत्र का हिस्सा हैं, इसलिए इसमें राज्यपाल के हस्तक्षेप की कोई जरूरत नहीं है।

 

नीतीश ने तीन तलाक, धारा 370 और समान नागरिक संहिता आपना रूख पहले ही बीजेपी से अलग बना रखा है। उनका कहना है ऐसे मसले को जनता के बीच छोड देना चाहिए और उनको अपने हिसाब से फैसला करने देना चाहिए।

दरअसल , राज्य सभा में सरकार के पास पर्याप्त संख्या बल नही है जिससे वे सदन में बिल पास नही करा सकते है वही जेडीयू के पास 6 राज्य सभा सांसद है। दरसल नीतिश ऐसा कर के मुस्लिम के हितैषी भी बने रहना चाहते है और सब को संदेश देना चाहते है कि बीजेपी के प्रचंड जीत के बाद भी उन पे कोई असर नहीं है।

 

एनआरएस मेडिकल कॉलेज में दो इंटर्न की पिटाई के बाद के आन्दोलन को अब देश भर में व्यापक समर्थन मिल रहा है और पूरे देश में डॉक्टर अलग-अलग तरीके से आन्दोलन कर रहे हैं। 14 जून को जब स्वास्थ सेवाए पूरी तरह ठप रहीं। इसके बाद ममता के तेवर नरम पडें। उसके बाद उन्होने डॉक्टरों को बात-चीत करने के लिए बुलाया लेकिन डॉक्टरों ने बात करने से मना कर दिया। वही केन्द्रीय स्वास्थ मंत्री नें दोनो पक्षों से अपील की इसको जल्द से जल्द खत्म कर के काम पे लौटे और ममता सरकार डॉक्टरों को जरूरी सुरक्षा प्रदान करे।

हड़ताल पर गये डॉक्टरों की मांग है कि ममता खुद बिना शर्त माफी मांगे, वही अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के रेसीडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने कहा है कि हम हड़ताली डॉक्टरों की मांग को मानने के लिए पश्चिम बंगाल सरकार को 48 घंटों का अल्टीमेटम देते हैं। यदि ऐसा नहीं हुआ तो हमें मजबूरन एम्स में अनिश्चितकालीन हड़ताल करनी पड़ेगी।

 

शनिवार रात सलमान अपने दोस्त सोहेल और आमिर के साथ इंडिया गेट गया था। वापस आते समय सोहेल ने अपनी देसी पिस्तौल निकाल कर, सलमान पे तान के 'टिकटॉक' विडियों बनाने की कोशिश की और गोली चल गई। यह घटना बाराखंबा रोड के रंजीत सिंह फ्लाइओवर के पास की है।

पुलिस के अनुसार उस समय आमिर पीछे की सीट पर था, और दोनो घटना से बहुत डर गये थे। उसके बाद वो उसको अस्पताल में ले गये वहां पर उसकी मौत हो गई। पुलिस ने सोहेल और आमिर गिरफ्तार किया है और उनके खिलाफ हत्या सहित अवैध हथियार रखने का मामला दर्ज किया गया है। यह हत्या इरादतन है या गलती से चली पिस्तौल इसकी जाच पुलिस कर रही हैं।

:
:
: