Headline • धोनी की बैटिंग देख विराट बोले- धोनी ने तो हमें डरा ही दिया था• पीएम मोदी के अनुरोध पर शाहरुख खान ने एक मजेदार विडियो बना लोगों से की वोटिंग की अपील • श्रीलंका सीरियल ब्लास्ट: श्रीलंका में अब तक बम धमाकों में मरने वालों की संख्‍या 290 पहुंची • राहुल गांधी का ऐलान सरकार बनी तो राष्ट्रीय बजट के साथ किसानों के लिए करेंगे दूसरा बजट पेश• चुनावी माहौल में ट्विंकल खन्ना ने ली अरविंद केजरीवाल पर चुटकी• बाटला हाउस का जिक्र कर पीएम मोदी ने सादा कांग्रेस पर निशाना • यूएई में आज पहले हिंदू मंदिर का शिलान्यास समारोह• रेल हादसा: कानपुर के पास पूर्वा एक्सप्रेस पटरी से उतरी 100 के करीब लोग घायल • लोकसभा चुनाव 2019: बसपा सुप्रीमो मायावती ने मुलायम के बाद अब आजम खां को दिया समर्थन • विराट सेना' का आज कोलकाता से 'करो या मरो' का मुकाबला• कलंक' स्टार वरुण धवन ने कहा, मुझे असफलता से डर नहीं लगता• सूडान में कैदियों की रिहाई और कर्फ्यू समाप्‍त होने पर अमेरिका ने कि प्रशंसा• 24 साल बाद एक मंच पर दिखें माया-मुलायम• रूस के वैज्ञानिकों का दावा 42 हजार साल पहले दफन घोड़े में मिला खून, अब बनाएंगे क्‍लोन • दिनोंदिन आलिया भट्ट और रणबीर कपूर का मजबूत होता रिश्‍ता रह सकते है लिव-इन पर • पश्चिम बंगाल में वोटिंग के दौरान बीजेपी-टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच हुई हिंसा • लीबिया की राजधानी त्रिपोली में गृहयुद्ध की जंग में 205 की मौत, 913 के करीब घायल • लोकसभा चुनाव 2019 के दूसरे चरण की 95 सीटों पर वोटिंग जारी• PM मोदी की फिल्‍म 'पीएम नरेंद्र मोदी' का ट्रेलर यूट्यूब से हटा • साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर बीजेपी में हुई शामिल • फ्रांस की राजधानी पेरिस में स्थित 12वीं सदी का नोटे्र डाम कैथेड्रल चर्च आग लगने से तबाह • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महाराष्ट्र के माढा क्षेत्र में एक जनसभा को किया संबोधित • जयाप्रदा पर अभद्र टिप्पणी को लेकर महिलाओं ने फूंके आजम खा के पोस्टर• चुनाव आयोग के फैसले को आजम के बेेटे अब्दुल्लाह आजम खान ने मुुुुसलमान विरोधी ठराया • कांग्रेस के इरादे और नीतियां ईमानदार नही धोखाधड़ी में की है पीएचडी: पीएम मोदी


केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरान ने इन आरोपों को खारिज कर दिया जिसमें वर्तमान सरकार के कार्यकाल में शिक्षा का भगवाकरण हो रहा है। उन्होंने खेल और राजनीति में करियर को बढ़ावा देने वाली शिक्षा प्रणाली का समर्थन किया है।

 स्मृति ने कहा, ‘‘मैं कभी छात्रों के धर्म के विषय में नहीं पूछती क्योंकि हम जाति या धर्म के आधार पर विद्यार्थी के शिक्षा के अधिकार में भेदभाव नहीं करते।’’ शिक्षा में धार्मिक आधार पर भेदभाव नहीं किया जा रहा है, अपने इस वाक्य का पुष्टि के लिए स्मृति ने गुजरात के केन्द्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति के रूप में सैयद बारी की नियुक्ति का हवाला दिया।

उन्होंने कहा, ‘‘शिक्षा सिर्फ परिसर तक सीमित नहीं होनी चाहिए। इसमें पर्याप्त अवसर होने चाहिए जहां छात्र खेल में दिलचस्पी बढ़ा सकें या फिर एक दिन मेरी तरह नेता बन सकें।’’

देश की 19 यूनिवर्सिटीज में वाइस चांसलर की नियुक्ति न होने के सवाल पर स्मृति ईरानी ने कहा कि कोई भी संस्थान बिना नेतृत्व के नहीं है। वीसी की नियुक्ति जल्दबाजी में नहीं की जा सकती है, क्योंकि यह फैसला आगामी 5 साल तक संस्थान का भविष्य निर्धारित करता है। उन्होंने इन यूनिवर्सिटीज में काम-काज पर असर पडऩे के आरोप का खंडन किया। उन्होंने कहा कि जब वीसी की नियुक्ति प्रक्रिया चल रही होती है तो एक वरिष्ठ अधिकारी को कार्यकारी रूप से अधिकृत किया जाता है।

स्मृति ईरानी ने अपने मंत्रालय की उपलब्धियां भी गिनाई। उन्होंने कहा कि कक्षा आठ के बाद पढ़ाई छोडऩे वालों के लिए बाद में शिक्षा के क्षेत्र में लौटने का विकल्प दिया गया है और इसके लिए नई व्यवस्था शुरू की गई है। साथ ही पहली बार कक्षा 1 से लेकर 12 तक एनसीईआरटी की किताबें ऑनलाइन उपलब्ध कराई जा रही हैं। बहुत जल्द पढ़ाई के निर्देश भी ऑनलाइन उपलब्ध कराएंगे।

संबंधित समाचार

:
:
: