Headline • रणबीर कपूर और आलिया के रिश्ते पर लग सकती है मुहर • रूस अमेरिका से रिश्ते मधुर करने में जुटा • यूपी के 15 शहरों के लिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) की चेतावनी • मायावती का अखिलेश पर बड़ा आरोप, अखिलेश के कारण हुई हार• चेन्नई की प्यास बुझाने के लिए चलाई गई स्पेशल ट्रेन• भारत की निगाह बड़ी जीत पर, अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में पहली बार भारत• बिहार में मानसून पहुंचने से लोगो ने ली राहत की सांस • एक बार फिर सदन में तीन तलाक के मुद्दे पर तीखी बहस • विश्व कप में अंतिम चार के लिए अपनी दावेदारी मजबूत करने उतरेगा भारत • संकट में कुमारस्वामी की सरकार, एचडी देवगौड़ा ने मध्यावधि चुनाव की आशंका जताई• अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंन्द मोदी का दुनिया को सन्देश। • गौतम गंम्भीर ने साझा किए इमोशनल मैसेज • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी  रांची  में करेगें योग • भारत को आतंक का नया ठिकाना बनाने की फिराख में है ISIS के आतंकी• अमेरिका के इस कदम से, कामकाजी भारतीयों को होगी परेशानी• चुनाव के बाद तेजस्वी कहाँ गायब हो गये है।• 14 साल बाद आया अय़ोध्या आतंकियों पर अदालत का फैसला • फिल्म ‘आर्टिकल 15’ विवादों में घिरती नजर आ रही है • अमरीका और ईरान का खाड़ी में तनाव गहराया • 'एक देश एक चुनाव' से विपक्ष क्यों नाराज• बिहार में बच्चों के मरने का कारण सरकार लिची को क्यों बता रही • बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष बने जे.पी. नड्डा • फिल्म आर्टिकल 15 को लेकर सुर्खियों में छाए रहे, आयुष्मान खुराना • लगातार दो शतक जड़ के शाकिब ने बांग्लादेश के लिए रचा इतिहास • एक बार फिर कथित लव-जिहाद का ममला सामने आया जाने पूरी खबर


नई दिल्ली- कोसी और सीमांचल में आए तूफान के पीडि़तों को राहत मुहैया कराने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तत्परता से उनके कट्टर राजनीतिक विरोधी व बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी उनके मुरीद हो गए हैं। 61 लोगों की जान और सैकड़ों करोड़ रुपये के माल का नुकसान करने वाले इस तूफान में तत्काल मदद के लिए नीतीश ने मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह का शुक्रिया अदा किया है।
राजनाथ सिंह के साथ तूफान प्रभावित इलाकों के हवाई सर्वे करने के बाद पूर्णिया में नीतीश कुमार ने कहा कि मंगलवार की रात आए तूफान के अगले ही दिन सुबह केंद्रीय गृहमंत्री ने और उसके बाद शाम को प्रधानमंत्री ने उन्हें फोन करके पूरी मदद का भरोसा दिया। दोनों नेताओं ने जिस तरह का भरोसा दिया और मदद उपलब्ध कराई उससे बिहार सरकार उनकी आभारी है।

नीतीश कुमार जिस समय मोदी की तारीफ कर रहे थे, उस समय बिहार भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी भी मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि नरेंद्र मोदी को भाजपा में प्रमुखता मिलने का विरोध करते हुए ही नीतीश राजग से बाहर आए थे। इतना ही नहीं लोकसभा चुनाव के बाद मोदी से आमना-सामना बचाने की मंशा से ही उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री का पद छोड़ा। लेकिन राजनीतिक हालात कुछ ऐसे बदले कि नीतीश कुमार को अब फिर से राज्य का मुख्यमंत्री पद संभालना पड़ा और प्रधानमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात करनी पड़ी। इन परिस्थितियों के बाद अब नीतीश का सार्वजनिक रूप से मोदी की तारीफ करना भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

संबंधित समाचार

:
:
: