Headline • चुनावी माहौल में ट्विंकल खन्ना ने ली अरविंद केजरीवाल पर चुटकी• बाटला हाउस का जिक्र कर पीएम मोदी ने सादा कांग्रेस पर निशाना • यूएई में आज पहले हिंदू मंदिर का शिलान्यास समारोह• रेल हादसा: कानपुर के पास पूर्वा एक्सप्रेस पटरी से उतरी 100 के करीब लोग घायल • लोकसभा चुनाव 2019: बसपा सुप्रीमो मायावती ने मुलायम के बाद अब आजम खां को दिया समर्थन • विराट सेना' का आज कोलकाता से 'करो या मरो' का मुकाबला• कलंक' स्टार वरुण धवन ने कहा, मुझे असफलता से डर नहीं लगता• सूडान में कैदियों की रिहाई और कर्फ्यू समाप्‍त होने पर अमेरिका ने कि प्रशंसा• 24 साल बाद एक मंच पर दिखें माया-मुलायम• रूस के वैज्ञानिकों का दावा 42 हजार साल पहले दफन घोड़े में मिला खून, अब बनाएंगे क्‍लोन • दिनोंदिन आलिया भट्ट और रणबीर कपूर का मजबूत होता रिश्‍ता रह सकते है लिव-इन पर • पश्चिम बंगाल में वोटिंग के दौरान बीजेपी-टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच हुई हिंसा • लीबिया की राजधानी त्रिपोली में गृहयुद्ध की जंग में 205 की मौत, 913 के करीब घायल • लोकसभा चुनाव 2019 के दूसरे चरण की 95 सीटों पर वोटिंग जारी• PM मोदी की फिल्‍म 'पीएम नरेंद्र मोदी' का ट्रेलर यूट्यूब से हटा • साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर बीजेपी में हुई शामिल • फ्रांस की राजधानी पेरिस में स्थित 12वीं सदी का नोटे्र डाम कैथेड्रल चर्च आग लगने से तबाह • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महाराष्ट्र के माढा क्षेत्र में एक जनसभा को किया संबोधित • जयाप्रदा पर अभद्र टिप्पणी को लेकर महिलाओं ने फूंके आजम खा के पोस्टर• चुनाव आयोग के फैसले को आजम के बेेटे अब्दुल्लाह आजम खान ने मुुुुसलमान विरोधी ठराया • कांग्रेस के इरादे और नीतियां ईमानदार नही धोखाधड़ी में की है पीएचडी: पीएम मोदी• बीजेपी ने गोरखपुर से भोजपुरी स्टार रवि किशन को दिया टिकट• योगी आदित्यनाथ और मायावती पर चुनाव आयोग की कार्यवाही • भारत ने विश्व कप टीम 2019 की घोषणा की, दिनेश कार्तिक इन, ऋषभ पंत और अंबाती रायडू लेफ्ट आउट• UAE के बाद अब रूस देगा पीएम मोदी को सर्वोच्च नागरिक सम्मान


नई दिल्ली. सपा की प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है।  इसकी जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट कर दी है। 

-पंखुड़ी पाठक ने अपने ट्वीट में लिखा-  भारी मन से सभी साथियों को सूचित करना चाहती हूँ कि समाजवादी के साथ अपना सफर मैं अंत कर रही हूँ। 8 साल पहले विचारधारा व युवा नेतृत्व से प्रभावित हो कर मैं इस पार्टी से जुड़ी थी लेकिन आज ना वह विचारधारा दिखती है ना वह नेतृत्व। जिस तरह की राजनीति चल रही है उसमें अब दम घुटता है। 

-उन्होंने अगले ट्वीट में कहा- कभी जाति कभी धर्म तो कभी लिंग को ले कर जिस तरह की अभद्र टिप्पणियाँ लगातार की जाती हैं और पार्टी नेतृत्व सब कुछ जान कर भी शांत रहता है यह दिखता है कि नेतृत्व ने भी इस स्तर की राजनीति को स्वीकार कर लिया है। ऐसे माहौल में अपने स्वाभिमान के साथ समझौता कर के बने रहना अब मुमकिन नहीं है

-पंखुड़ी ने लिखा- मुझे पता है कि इसके बाद मेरे बारे में तरह तरह की अफ़वाहें फैलायी जाएँगी लेकिन मैं स्पष्ट करना चाहती हूँ कि मैं किसी भी राजनैतिक दल से सम्पर्क में नहीं हूँ ना ही किसी से जुड़ने का सोच रही हूँ।अन्य ज़िम्मेदारियों के चलते जो उच्च शिक्षा अधूरी रह थी अब उसे पूरा करने का प्रयास करूँगी।

-एक अन्य ट्वीट में लिखा- अगर मैं अपने सिद्धांतों और स्वाभिमान की लड़ाई नहीं लड़ सकी तो समाज के ज़रूरतमन्दों की लड़ाई कैसे लड़ूँगी ?यह मतभेद वैचारिक है, व्यक्तिगत नहीं ।किसी व्यक्ति या दल से विश्वास उठ जाए तो परे हो जाना ही बेहतर है । राजनीति ही तो सब कुछ नहीं.. और भी तरीक़े हैं समाज सेवा करने के.....

 

 

संबंधित समाचार

:
:
: