Headline • नवजोत सिंह सिद्धू के शो से बाहर होने पर कपिल शर्मा का बयान• तमिलनाडु में भाजपा संग एआईएडीएमके गठबंधन हुआ तय • इमरान खान की भारत को धमकी बिना साबुत किया हमला तो खुला जवाब देंगे• अलीगढ़ हिंदू छात्र वाहिनी कार्यकर्ताओं का धारा 370 को हटाने को लेकर प्रदर्शन• कुलभूषण जाधव मामले की सोमवार से सुनवाई शुरू• उत्तराखंड पुलिस की कश्मीरी छात्रों से सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयान न देने की अपील • पुलवामा एनकाउंटर: मेजर समेत 4 जवान शहीद, 2 आतंकी ढेर• राजस्‍थान का गुर्जर आंदोलन शनिवार को खत्म• पुलवामा आतंकी हमले पर सर्वदलीय बैठक शुरू• PM मोदी का ऐलान: आतंकियों की बहुत बड़ी गलती चुकानी होगी कीमत• गांधीजी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा सचिव पूजा पांडे को मिली जमानत• कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती विस्फोट 41 सीआरपीएफ जवानों की मौत• राजीव सक्सेना को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 22 फरवरी तक मिली अंतरिम जमानत • सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल और एलजी विवादों पर अपना फैसला सुनाया• केसरी: अक्षय कुमार अभिनीत ऐतिहासिक ड्रामा का पहला झलक वीडियो रिलीज़ • पीएम मोदी ने हरियाणा में की विकास परियोजनाओं की शुरुआत • राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मोदी सरकार पर जुबानी जंग • मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में SC ने राव के माफ़ी नामे को किया अस्वीकार लगाया 1 लाख का जुर्माना• आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर आंदोलन उग्र • शराब पर राजनीति: त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुख्यमंत्री पद का इस्तीफा देने की मांग• आ रही हूँ यूपी लूटने- वाराणसी में प्रियंका वाड्रा के खिलाफ लगाए गए पोस्टर• PM मोदी ने 300 करोड़ के भोजन वितरण पर मथुरा वासियो को किया सम्बोधित • आंध्र प्रदेश में PM का विरोधी पोस्टरों से स्वागत, उपवास पर बैठे चंद्रबाबू नायडू • J&K: हिमस्‍खलन के बाद फसे पुलिसकर्मियों की तलाश जारी • SC ने तेजस्वी यादव को पटना में सरकारी बंगला खाली करने का दिया आदेश


देहरादूनः आखिरकार तकरीबन सवा साल बाद कांग्रेस संगठन में प्रीतम राज की शुरूआत हो गई है। जी हां 26 सांगठनिक जिलों में से 23 में घोषित जिलाध्यक्ष और महानगर अध्यक्षों में अधिकतर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिहं की पसंद के चुने गए हैं। इससे साफ हो गया है की अब प्रीतम सिंह आगे सभी बौने है। नियुक्तियों के बाद प्रीतम सिंह के विरोधी अपने हिसाब से ही बनाने में जुट गए हैं। 

कांग्रेस के सांगठनिक बदलाव के पहले चरण पर पूरी तरह से प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिहं की छाप दिखाई दे रही है। 23 जिला महानगर अध्यक्षों में 19 को सीधा प्रीतम कैंप का वफादार माना जा रहा है। दून हरिद्वार में बदले गए पांचों अध्यक्ष प्रीतम कैंप से जुड़े हैं तो पिथौरागढ,चंपावत और उधमसिंहनगर में भी प्रीतम कैंप से जुडे नेताओं को ही तरजीह दी गई है।

हालांकि नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह््रदयेश को भी तरजीह मिली है। साथ ही सबको साथ लेकर चलने की रणनीति के तहत प्रीतम सिंह ने इन नियुक्तियों में पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय के साथ ही विधायकों और पूर्व विधायकों की इच्छा का भी ध्यान रखा है। 

अलबत्ता पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और उनके खासमखास माने जाने वाले गोविंद सिंह कुजवाल के लिए जिले में की गई नई नियुक्तियों से झटका लगा है। कुमाऊ मंडल और हरिद्वार जिले में रावत खेमे से जुदा नए चेहरों पर दांव खेला गया है। 

जी हां बीते विधानसभा चुनाव में बुरी तरह शिकस्त मिलने के बाद कांग्रेस ने बीते वर्ष मई माह में किशोर उपाध्याय के स्थान पर प्रीमत सिंह को नए प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर नियुक्त किया था। अभीतक तक प्रीतम सिंह जिलों से लेकर प्रदेश स्तर तक पुरानी कार्यकारिणी को ही साथ लेकर चले थे। अब इसमें बदलाव किया गया। हालांकि बदलाव एआईसीसी और पीसीसी सदस्यों की सूची में भी झलका था लेकिन रविवार को 23 सांगठनिक जिलों के अध्यक्षों की घोषणा के साथ प्रदेश में सांगठनिक स्तर पर प्रीतम सिंह का असर दिखने लगा है।

सूची में 26 सांगठनिक जिलों में पौड़ी के दो सांगठनिक जिलों पौड़ी और कोटद्वार तथा हरिद्वार जिले के हरिद्वार ग्रामीण में मौजूदा जिलाध्यक्षों को अभी बरकरार रखा गया है। वहीं उत्तरकाशी और टिहरी जिलों की ईकाईयों के मौजूदा और कार्यवाहक अध्यक्षों पर ही भरोसा जताया गया है। टिहरी जिला कांग्रेस कमेटी में पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय की पसंद के मुताबिक जिलाध्यक्ष सूरज राणा को बरकरार रखा गया है।

इसी तरह से देवप्रयाग जिला कांग्रेस कमेटी में भी बदलाव नहीं किया गया है। देहरादून जिले की तीनों जिला सांगठनिक इकाईयों में पुरानों की जगह नए अध्यक्षों को मौका दिया गया है। लाल चंद्र शर्मा को देहरादून महानगर, संजय किशोर को पछुवादून और गौरव सिंह को परवादून का अध्यक्ष बनाया गया है। 

वहीं हरिद्वार में अब पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के खास माने जाने वाले जिलाध्यक्षों की जगह नई नियुक्तियां की गई है। इसी तरह जिला कांग्रेस कमेटी अल्मोड़ा के अध्यक्ष पद पर मोहन सिंह मेहरा को बिठाया गया है जो कुंजवाल के खिलाफ दावेदारी ठोकने के लिए जाने जाते हैं। 

नैनिताल जिले में नैनीताल और हल्द्वानी में सतीश नैनवाल और राहुल छिमवाल को मौका दिया गया है जो इंदिरा ह््रदयेश की पंसद माने जाते हैं। रूद्रप्रयाग में विधायक मनोज रावत, डीडीहाट में विधायक हरीश धामी ,और रानीखेत में उप नेता की सिफारिश पर अध्यक्ष बनाए गए हैं।

वहीं उधमसिंह नगर में अध्यक्ष बनाए गए जितेन्द्र शर्मा का हरीश किशोर कैंप से छत्तीस का आंकड़ा है। वहीं पिथौरागढ़ में पूर्व विधायक मयूख मेहर ने अपने खास मोहन सिंह महर को अध्यक्ष बनाया है। हालांकि कुल मिलाकर पहली लिस्ट में प्रीतम सिंह ने ज्यादा अपनी चलाई और थोडी दूसरों की सुनी है वहीं अब कार्यकारिणी का इंतजार है कि उसमें प्रीतम किसकी सुनते हैं। 

प्रीतम सिंह के अनुसार उन्होंने योग्यता के हिसाब से जिम्मेदारी दी है और उन्हें उम्मीद है की चुने गए प्रतिनिधि अच्छा काम करेंगे। 

संबंधित समाचार

:
:
: