Headline • बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनाली बेंद्रे को क्यो किडनैप करना चाहते थे शोएब अख्तर• सानिया मिर्जां के साथ पार्टी करना शोएब मलिक को पड़ा भारी।• केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन हुए परिजनों के गुस्से का शिकार • 17वी लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी विपक्ष पर बोले • नाना पाटेकर को क्लिन चिट मिलने पर तनुश्री दत्ता ने कहा• बीजेपी, टीएमसी के बाद अब बंगाल में कांग्रेस का नाम भी आया राजनीतिक हिंसा में• आगामी भारत और पाकिस्तान के मैच में कैसा रहेगा, मैनचेस्टर में मौसम का मिजाज• मांगो को मानने के लिए ममता सरकार को 48 घंटे का डॉक्टरों ने दिया अल्टिमेटम• इतनी फिल्मे करने के बाद भी क्यों सलमान खान को लगता है समीक्षको से डर !• भारत और इंग्लैड के बीच होगा फाइनल मैच: गूगल सीईओ सुन्दर पिचाई• बीजेपी के सहयोगी नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू बजट सत्र में करेगी तीन तलाक का विरोध • 'टिकटॉक' विडियों बनाने के चक्‍कर में सलमान को लगी गोली, 2 युवक पहुंचे जेल • लोक सभा के बाद अमित शाह ने हरियाणा विजय की खास रणनीति बनाई• घट सकती है दिल्ली मेट्रों का किराया, 30 लाख से अधिक यात्रियों को फायदा• चक्रवाती तूफान 'वायु' ने अपना रास्ता बदला लेकिन एजेंसियां अलर्ट पर अभी खतरा बाकी है • महेंद्र सिंह धोनी के सेना के 'बलिदान बैज' वाले दस्तानों पर बहस तेज• अफगानिस्तान सेना के दस्ते ने आतंकी संगठन तालिबान की जेल से छुड़ाए 83 नागरिक• जगन मोहन रेड्डी ने पलटा चंद्रबाबू सरकार का फैसला, अब आंध्र प्रदेश में CBI कर सकेगी जांच• नमाज के दौरान बेकाबू कार ने भीड़ को मारी टक्‍कर हुआ हगामा • गृह मंत्रालय का प्रभार संभालते ही बीजेपी चीफ अमित शाह ऐक्शन में, जम्मू-कश्मीर में परिसीमन आयोग पर विचार• मायावती की सपा-बसपा प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के बाद अब अखिलेश ने तोड़ी चुप्पी, 'सभी सीटों पर अकेले लड़ेंगे उपचुनाव'• लोकसभा चुनाव प्रदर्शन से नाखुश बसपा बसपा सुप्रीमो मायावती का बड़ा फैसला, अब लड़ेगी सभी उपचुनाव • अमेरिका को चीन की युद्ध की धमकी से पड़ोसी देश चिंतित • भारतीय वायुसेना का एएन-32 विमान लापता, वायुसेना का सर्च ऑपरेशन जारी • अमेरिका ने भारत को GSP दर्जे से किया बाहर

मजबूरी में 'अम्मा' ने फिल्मों में रखा था कदम,ऐसे बनी थी सुपरस्टार से फेवरेट पॉलिटिशन

चेन्नई: अपोलो हॉस्पिटल में AIADMK प्रमुख और तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे.जयललिता ने सोमवार देर रात करीब 11: 30 बजे आखिरी सांस ली। बता दे कि रविवार को तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता को कार्डियक अरेस्ट हुआ था। जिसके बाद से ही उनकी हालत गंभीर बताई जा रही थी। हालांकि जयललिता करीब दो महिने से अस्पताल में भर्ती थी। जहां उनका इलाज चल रहा था। तमिलनाडु की राजनीति में अपना लोहा मनवाने वाली जयललिता का फिल्मी करियर भी काफी शानदार रहा।

जयललिता का बचपन  
-
जयललिता का जन्म कर्नाटक के अयंगर परिवार में फरवरी, 1948 को हुआ था।
-जयललिता की पढ़ाई बेंगलुरू और चेन्नई के कांवेंट स्कूलों में हुई।
-महज दो साल की उम्र में जयललिता के पिता का देहांत हो गया था। जिसके बाद उनके परिवार की आर्थिक हालत अच्छी ना होने के कारण उनकी मां ने तमिल फिल्मों में अपने अभिनय की शुरुआत की।

जयललिता की फिल्मों में एंट्री

-जयललिता ने भी महज 13 साल की उम्र में चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया।
-उन्होंने फिल्मी जीवन की शुरुआत भले ही कन्नड़ फिल्मों से की हो लेकिन तमिल और तेलुगु फिल्मों में भी वो एक सफल अभिनेत्री रहीं।
-जयललिता ने हिंदी, कन्नड और इंग्लिश फिल्मों में भी काम किया है।
-1964 में महज 15 साल की उम्र में जयललिता ने कन्नड़ फिल्म 'चिन्नाड़ा गोम्बे' में लीड रोल किया।
-उन्होंने 100 से ज्यादा तमिल, तेलुगू और कन्नड़ फिल्मों में काम किया।
-1971 में जयललिता की मां की मत्यु हो गई थी।

जयललिता के पॉलिटिकल मेंटर बनें MGR
-1965 में जयललिता ने तमिल फिल्म में काम किया जो बहुत बड़ी हिट साबित हुई। इसी साल उन्होंने एमजी रामचंद्रन के साथ भी काम किया।
- एमजी रामचंद्रन 1977 में एआईएडीएमके के नेता के तौर पर पहली बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री बने। साथ ही बाद में एमजी ने जयललिता के पॉलिटिकल मेंटर के रुप में भी अहम भूमिका निभाई।
-1965 से 1972 के दौर में जयललिता ने अधिकतर फिल्में एमजी रामचंद्रन के साथ ही की।
-लेकिन 1970 में पार्टी के दबाव में आकर एमजीआर ने दूसरी कई अभिनेत्रियों के साथ भी काम करना शुरू किया। जिसके बाद जयाललिता और एमजीआर ने करीब 10 सालों तक एक साथ कोई फिल्म नहीं की।

- बता दें कि 1973 में आखिरी बार अम्मा और एमजीआर एक साथ एक फिल्म में नजर आए थे। इन दोनों ने कुल मिलाकर 28 फिल्मों में एक साथ काम किया।
-1980 में जयललिता ने अपनी आखिरी तमिल फिल्म में काम किया। आपको बता दें कि अम्मा कुल मिलाकर 300 से ज्यादा फिल्मों में काम कर चुकी हैं।

जयललिता का सुपरस्टार से पोपुलर पॉलिटिशन तक का सफर
-जयललिता का सुपरस्टार से पोपुलर पॉलिटिशन तक का सफर
- जयललिता 1982 में एआईएडीएमके की सदस्य बनकर राजनीति में आ गईं।
-1983 में उन्हें पार्टी के प्रचार विभाग का सचिव बनाया गया।
-बहरहाल 1984 में एमजीआर ने उन्हें राज्य सभा का सांसद बनाया।
- हालांकि कुछ समय बाद ही एमजीआर से उनके बीच मतभेद शुरू हो गए।
-1987 में एमजीआर के देहांत के बाद पार्टी में विरासत की बागडोर को लेकर जंग छिड़ गई। पार्टी का एक धड़ा एमजीआर की पत्नी जानकी रामचंद्रन के साथ था तो दूसरा धड़ा जयललिता के साथ खड़ा था।

राजनीतिक दुनिया में जयललिता ने किया कई चुनौतियों का सामना

-तमिलनाडु और जयललिता के राजनीतिक इतिहास में 25 मार्च 1989 का दिन काफी अहम है। इस दिन डीएमके और एआईडीएमके विधायकों की हाथापाई के बीच जयललिता के साथ भी सदन में अभद्रता की गई थी।
-खबरों की माने तो जयललिता उस दिन अपने साथ हुई बदसलूकी के बाद सदन से यह कहते हुए बाहर चली गईं कि वो दोबारा मुख्यमंत्री बनकर ही विधान सभा में वापस आएंगी।
-विधान सभा में हुई बदसलूकी के सिर्फ 2 साल बाद ही जयललिता के नेतृत्व वाले एआईएडीएमके और कांग्रेस गठबंधन ने राज्य की 234 सीटों में से 225 पर जीत हासिल कर ली।
-जिसके बाद जयललिता पहली बार राज्य की मुख्यमंत्री बनीं।
-मुख्यमंत्री बनने के कुछ ही वक्त बाद जयललिता पर आय से अधिक संपत्ति, भ्रष्टाचार और अव्यवस्था इत्यादि के आरोप लगने लगे।
-साल 2015 में हाई कोर्ट ने जयललिता को आय से अधिक संपत्ति मामले में बरी कर दिया और वो फिर से राज्य की सीएम बन गईं।
-जयललिता को कई महीने जेल में बिताने पड़े।
-साल 2015 में हाई कोर्ट ने जयललिता को आय से अधिक संपत्ति मामले में बरी कर दिया और वो फिर से राज्य की सीएम बन गईं।
-साल 2016 में हुए विधान सभा चुनाव में जयललिता ने रिकॉर्ड जीत हासिल की। तमिलनाडु के इतिहास में 32 साल बाद किसी पार्टी को लगातार दूसरी बार बहुमत मिला था।
-मई 2016 में जयललिता छठवीं बार राज्य की सीएम बनीं।

जिंदगी की जंग हार गई जब अम्मा

-68 वर्षीय जयललिता 22 सितंबर को तबीयत खराब होने के कारण अपोलो अस्पताल में भर्ती हुईं। जिसके बाद 3 दिसंबर को पहले खबर आई कि वो किसी भी वक्त घर जा सकती हैं। हांलाकि थोड़ी देर बाद ही खबर आई कि उन्हें कार्डिएक अरेस्ट हुआ है।
- 5 दिसंबर को अम्मा जिंदगी की जंग हार गई। रात 11.30 बजे तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता ने दुनिया को अलविदा कह दिया।
-उनके पार्थिव शरीर को राजाजी हॉल में मंगलवार शाम तक रखा जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजाजी हॉल पहुंच कर मंगलवार को तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता को अंतिम श्रद्धांजलि दी।
-बता दें कि उनका अंतिम संस्कार मंगलवार शाम 4:30 बजे पूरे राजकीय सम्मान के साथ मरीना बीच पर किया जाएगा।
-केंद्र सरकार ने भी उनके निधन पर एक दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है।

 

संबंधित समाचार

:
:
: