Headline • भाजपा सरकार ने EPF ब्याज दरों में कि बढ़ोतरी • अर्जुन कपूर और अभिषेक बच्चन ने अक्षय कुमार की फिलम केसरी के ट्रेलर की प्रशंसा की • पूर्व पाक अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी के पास इमरान खान के लिए सावधानी बरतने की सलाह • जम्मू-कश्मीर में सरकार ने अर्धसैनिकों के लिए दी हवाई यात्रा को मंजूरी• अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट पर PM मोदी से की अपील दिल्ली को दे पूर्ण राज्य का दर्जा • भारत और सऊदी अरब ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की• जयपुर सेंट्रल जेल में मारा गया पाकिस्तानी कैदी• नवजोत सिंह सिद्धू के शो से बाहर होने पर कपिल शर्मा का बयान• तमिलनाडु में भाजपा संग एआईएडीएमके गठबंधन हुआ तय • इमरान खान की भारत को धमकी बिना साबुत किया हमला तो खुला जवाब देंगे• अलीगढ़ हिंदू छात्र वाहिनी कार्यकर्ताओं का धारा 370 को हटाने को लेकर प्रदर्शन• कुलभूषण जाधव मामले की सोमवार से सुनवाई शुरू• उत्तराखंड पुलिस की कश्मीरी छात्रों से सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयान न देने की अपील • पुलवामा एनकाउंटर: मेजर समेत 4 जवान शहीद, 2 आतंकी ढेर• राजस्‍थान का गुर्जर आंदोलन शनिवार को खत्म• पुलवामा आतंकी हमले पर सर्वदलीय बैठक शुरू• PM मोदी का ऐलान: आतंकियों की बहुत बड़ी गलती चुकानी होगी कीमत• गांधीजी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा सचिव पूजा पांडे को मिली जमानत• कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती विस्फोट 41 सीआरपीएफ जवानों की मौत• राजीव सक्सेना को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 22 फरवरी तक मिली अंतरिम जमानत • सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल और एलजी विवादों पर अपना फैसला सुनाया• केसरी: अक्षय कुमार अभिनीत ऐतिहासिक ड्रामा का पहला झलक वीडियो रिलीज़ • पीएम मोदी ने हरियाणा में की विकास परियोजनाओं की शुरुआत • राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मोदी सरकार पर जुबानी जंग • मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में SC ने राव के माफ़ी नामे को किया अस्वीकार लगाया 1 लाख का जुर्माना

 PM मोदी पहुंचे मोजाम्बिक, 35 साल बाद कोई भारतीय पीएम जाएगा केन्या

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चार अफ्रीकी देशों की यात्रा के पहले पड़ाव में मोजाम्बिक पहुंचे गए हैं। पीएम बुधवार रात को भारत से रवाना हुए थे।

पीएम मोदी मोजाम्बिक के बाद दक्षिण अफ्रीका, तंजानिया और केन्या जाएंगे। खास बात ये है कि 35 साल बाद कोई भारतीय प्रधानमंत्री केन्या जा रहा हैं। पीएम का अपनी पांच दिवसीय यात्रा के दौरान पेट्रोलियम, बिजनेस, सी सिक्युरिटी, इंवेस्टमेंट, एग्रिकल्चर और फूड सेक्टर्स में मदद बढ़ाने पर जोर रहेगा।

पीएम मोदी ने ट्वीट में कहा, 'मेरी अफ्रीका यात्रा का मकसद भारत और अफ्रीका के संबंधों को और मजबूत बनाना है, जिसकी शुरूआत मोजांबिक से होगी जो संक्षिप्त लेकिन महत्वपूर्ण होगी।' उन्होंने कहा, 'दक्षिण अफ्रीका में मेरा कार्यक्रम प्रीटोरिया, जोहांसबर्ग, डरबन और पीटरमारिट्जबर्ग में होगा।'

पीएम मोदी ने कहा, 'तंजानिया में मैं राष्ट्रपति डॉ. जान मागुफली के साथ चर्चा करूंगा, साथ ही भारतीय समुदाय के साथ बातचीत भी करूंगा।'

केन्या यात्रा की चर्चा करते हुए उन्होंने ट्वीट किया, 'राष्ट्रपति यूकेन्यात्ता के साथ आर्थिक और लोगों के स्तर पर सम्पर्क मेरी केन्या यात्रा के केंद्र में होगा।'


पीएम मोदी की इस यात्रा का मकसद संसाधनों की प्रचुरता वाले अफ्रीकी महादेश के साथ भारत के संबंधों को और अधिक घनिष्ठ बनाना है जहां चीन लगातार अपना प्रभाव बढ़ा रहा है।

बता दें कि, अभी हाल ही में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी अफ्रीकी देशों की यात्रा थी। इनके बाद अब प्रधानमंत्री मोदी अफ्रीकी देशों के साथ भारत के रिश्तों को अधिक मजबूत बनाने की कोशिश करेंगे।

पीएम मोदी गुरूवार को मोजाम्बिक के राष्ट्रपति नाइयूसी के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। मोजाम्बिक यात्रा के दौरान पीएम मोदी का फोकस  फूड सिक्युरिटी और एनर्जी पर होगा। बता दें कि, मोजाम्बिक कतर और ऑस्ट्रेलिया के बाद तीसरा सबसे बड़ा नेचुरल गैस का एक्सपोर्टर है।

मोजांबिक के बाद मोदी 8 और 9 जुलाई को दक्षिण अफ्रीका पहुंचेंगे जहां वह राष्ट्रपति जैकब जुमा और एवं अन्य वरिष्ठ नेताओं के साथ चर्चा करेंगे। इसके बाद वह 10 जुलाई को तंजानिया के राष्ट्रपति जान प्रोम्बे जोसेफ मंगुफुली के साथ मुलाकात करेंगे। इस दौरान दोनों देशों के बीच आपसी सहयोग बढ़ाने और साझा हितों से जुड़े महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करेंगे।

पीएम मोदी अपनी यात्रा के अंतिम पड़ाव में केन्या जाएंगे और वहां के राष्ट्रपति केन्यात्ता के साथ द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा करेंगे। इस बीच पीएम मोदी नैरोबी में यूनिवर्सिटी आफ नैरोबी में छात्रों को संबोधित करेंगे।

भारत का कारोबार अभी अफ्रीका देशों के साथ 75 अरब डाॅलर है और भारत ने पिछले चार सालों में वहां विकास एवं क्षमता निर्माण परियोजना को आगे बढ़ाने के लिए 7.4 अरब डालर का अनुदान दिया । भारत ने इस अवधि में 41 अफ्रीकी देशों में करीब 140 परियोजनाओं को लागू किया।

संबंधित समाचार

:
:
: