Headline • अलीगढ़ : पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराए 25-25 हजार के इनामी बदमाश,थानाध्यक्ष घायल• अब बरेली में सवर्णों ने लगाए पोस्टर, लिखा- 'नोटा ही हमारा हथियार है,वोट मांग कर शर्मिंदा न करें'• पाक के पीएम इमरान खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा खत, फिर से शांति वार्ता शुरू करवाने की अपील• मुंबई से जयपुर जा रही फ्लाइट में यात्रियों के नाक-कान से निकलने लगा खून• 'समाचार प्लस' के सवाल पर बोले RSS प्रमुख मोहन भागवत-आरक्षण समस्या नहीं,आरक्षण पर राजनीति समस्या है• गोंडा में दर्दनाक सड़क हादसा, तीन की मौत, 10 घायल• लखनऊ : मूर्ति विसर्जन के दौरान गोमती नदी में डूबे 6 युवक, एक मौत, दो लापता• उन्नाव में बुखार का कहर, 24 घंटे में सात की मौत, 200 से ज्यादा बीमार• बसपा के पूर्व विधायक योगेश वर्मा को बड़ी राहत,हाईकोर्ट ने हटाई रासुका,रिहा करने का आदेश• बरेली :मोहर्रम पर ताजियों को लेकर पुलिस की बड़ी कार्रवाई,ढाई हजार से ज्यादा लोगों को जारी किए रेड कार्ड• इलाहाबाद में बीजेपी जिलाध्यक्ष ने अपने नाते रिश्तेदारों को बांट दिए सारे पद, युवाओं में भारी गुस्सा• भ्रष्टाचार की भेंट चढा बलरामपुर का विकास, लोगों ने शिकायत की तो बीजेपी विधायक बोले, गुंडे हैं ये लोग• सोशल मीडिया में आग लगा रही ही एक और भोजपुरी डांसर, डांस के लटके-झटके सपना चौधरी जैसे• आजमगढ़ में फिर मुठभेड़, बदमाश के साथ पुलिस अधिकारी को भी लगी गोली • प्रिंसिपल या जल्लाद! बच्चे को तबतक मारते रहे जब तक डंडा टूट न गया, क्लास में हंसने पर दी सजा• दामाद की हत्या के लिए 1 करोड़ की सुपारी दी, गैंग की लिंक आईएसआई से भी पाई गई• मृत महिला को जिंदा दिखाकर कर लिया मकान का बैनामा, असली मालिक पर घर छोड़ने की धमकी• महिलाओं ने सरेराह प्रधान में चप्पलों और लाठियों से की पिटाई, पति पत्नी के झगड़े को सुलझाना पड़ा भारी• भारत-पाक मुकाबले का रोमांच चरम पर, कानपुर में फैंस ने बप्पा से की टीम इंडिया की जीत की प्रार्थना• पाकिस्तान ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय, क्या कमाल कर पाएगी रोहित एंड कंपनी?• जब कुर्ता पजामा पहनकर नानी के घर गणपति पूजा में पहुंचे तैमूर,फोटो और वीडियो वायरल• क्यों हो रही है यूपी के इस दरोगा की प्रशंसा, जान की बाजी लगाकर किया कमाल• 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' से सामने आया फातिमा सना शेख का दमदार लुक,आमिर खान ने दी चेतावनी • रामकथा पर झूमे शिवपाल, कहा-समय बताएगा कौन किसके साथ है• साथ में बीड़ी पी रहे दोस्त की जेब में पैसा देखा तो लालच आ गया, ईंट मारकर हत्या कर पैसे ले लिए


चित्रकूट. बीहड़ के जंगलों को डकैतों के आतंक से मुक्त करने की पुलिस के अभियान को आज बड़ी कामयाबी मिली है। मध्य प्रदेश पुलिस ने उत्तर प्रदेश पुलिस की मदद से पचास हजार के इनामी डकैत ललित पटेल को मुठभेड़ में मार गिराया। यहां के नयागांव थाना क्षेत्र के पुखरवार के पहाडों में हुई मुठभेड़ में ललित पटेल मारा गया। पुलिस को उसके पास से कई हथियार मिले। हालांकि उसके तीन साथ भागने में कामयाब रहे। मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चैहान ने ललित पटेल के मारे जाने की घोषणा की। ललित पटेल के साथ ही चित्रकूट में आतंक का भी खात्मा हो गया है।
आतंक का पर्याय था ललित पटेल
-बीहड़ के जंगलों के साथ आसपास के जिलों में ललित पटेल का आतंक चलता था। मांगे पूरी नहीं होने पर ललित पटेल लोगों को जिंदा जला दिया करता था। चित्रकूट में उसने ऐसे भीभत्स कांड को अंजाम दिया था।
- डकैत ललित ऊपर म.प्र. में एक लाख तीस हजार और उ.प्र. में दस हजार इनाम घोषित था।
- एक माह पूर्व मुखबरी के शक में थरपहाड़ से तीन युवकों को कोल्हुआ के जंगल ले जाकर ललित पटेल ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। उसके बाद और शव को जला दिया था।
-मुढिया देव स्कूल से हेडमास्टर यशोदा कोल का अपहरण किया था। फरौती लेने के बाद उसे उसे रिहा किया। इसके अलावा भी कई संगीन वारदातों को अंजाम दिया था।
-ललित पटेल चुनावों के दौरान प्रत्याशियों से मोटी रकम वसूलता था। चित्रकूट में होने वाले विधानसभा के उपचुनाव का ठेका लेने के फिराक में था।
एमपी के सीएम ने दिए थे खात्मे का निर्देश


- विधानसभा उपचुनाव के मद्देनजर एक हफ्ते पहले चित्रकूट आये मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने एक जनसभा में डकैतों के सफाए का ऐलान किया था। शिवराज ने कहा था कि यहां डकैत रहेंगे या फिर शिवराज सिंह। इसके बाद से ही डकैतों के सफाए का अभियान चला।
कैसे घिरा डकैत ललित पटेल
-पुलिस को मुखबिरों से सूचना मिली थी कि इनामी डकैत ललित पटेल पोखरवार के जंगल छिपा हुआ है। एम पी और यूपी पुलिस ने ज्वाइंट आॅपरेशन चलाया।
-पोखरवार का पूरा इलाका पहाड़ों से घिरा हुआ है। नीचे के हिस्से पर यूपी पुलिस और एसटीएफ के जवान घेर रखे थे। एमपी पुलिस और एस
टीएफ के जवानों ने पहाड़ों के उपर पहुंचकर डकैत ललित को घेर लिया।
- आपरेशन का नेतृत्व एसपी राजेश हिंगणकर ने किया। करीब 50 जवानों ने करीब एक घंटे के आपरेशन में डकैत को मार गिराया। डकैतों की ओर से भी गोली चलाई गई।
- सरगना के मारे जाने के बाद गिरोह के अन्य सदस्य अंधेरे का फायदा उठाकर फरार होने में कामयाब हो गये, पुलिस पार्टी जंगलों में सर्चिंग कर फरार डकैतों की तलाश में जुटी है।

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: