Headline • भाजपा सरकार ने EPF ब्याज दरों में कि बढ़ोतरी • अर्जुन कपूर और अभिषेक बच्चन ने अक्षय कुमार की फिलम केसरी के ट्रेलर की प्रशंसा की • पूर्व पाक अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी के पास इमरान खान के लिए सावधानी बरतने की सलाह • जम्मू-कश्मीर में सरकार ने अर्धसैनिकों के लिए दी हवाई यात्रा को मंजूरी• अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट पर PM मोदी से की अपील दिल्ली को दे पूर्ण राज्य का दर्जा • भारत और सऊदी अरब ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की• जयपुर सेंट्रल जेल में मारा गया पाकिस्तानी कैदी• नवजोत सिंह सिद्धू के शो से बाहर होने पर कपिल शर्मा का बयान• तमिलनाडु में भाजपा संग एआईएडीएमके गठबंधन हुआ तय • इमरान खान की भारत को धमकी बिना साबुत किया हमला तो खुला जवाब देंगे• अलीगढ़ हिंदू छात्र वाहिनी कार्यकर्ताओं का धारा 370 को हटाने को लेकर प्रदर्शन• कुलभूषण जाधव मामले की सोमवार से सुनवाई शुरू• उत्तराखंड पुलिस की कश्मीरी छात्रों से सोशल मीडिया पर भड़काऊ बयान न देने की अपील • पुलवामा एनकाउंटर: मेजर समेत 4 जवान शहीद, 2 आतंकी ढेर• राजस्‍थान का गुर्जर आंदोलन शनिवार को खत्म• पुलवामा आतंकी हमले पर सर्वदलीय बैठक शुरू• PM मोदी का ऐलान: आतंकियों की बहुत बड़ी गलती चुकानी होगी कीमत• गांधीजी के पुतले को गोली मारने वाली हिंदू महासभा सचिव पूजा पांडे को मिली जमानत• कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती विस्फोट 41 सीआरपीएफ जवानों की मौत• राजीव सक्सेना को अगस्ता वेस्टलैंड मामले में 22 फरवरी तक मिली अंतरिम जमानत • सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल और एलजी विवादों पर अपना फैसला सुनाया• केसरी: अक्षय कुमार अभिनीत ऐतिहासिक ड्रामा का पहला झलक वीडियो रिलीज़ • पीएम मोदी ने हरियाणा में की विकास परियोजनाओं की शुरुआत • राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मोदी सरकार पर जुबानी जंग • मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में SC ने राव के माफ़ी नामे को किया अस्वीकार लगाया 1 लाख का जुर्माना

इस IAS के नाम से ही खौफ खाते हैं डिपॉर्टमेंट के 'बाबू', सरकार बदलने के बाद कर रहे ट्रांसफर का इंतजार 

सीतापुर. सीतापुर के कुछ सरकारी दफ्तरों में जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी चर्चा का विषय बने हुए है। सीतापुर के DM  ने पिछले दो सालों में कई विभागों में भ्रष्टाचार करने वालों पर नकेल कसे थे। जिसके बाद से यहां के सरकारी तंत्र का रंग-ढंग ही बदल गया। शायद ही कोई ऐसा विभाग होगा जिसकी जांच अमृत त्रिपाठी ने नहीं करवाई हो। वहीं सरकारी विभागों के बाबुओं और अधिकारियों को सरकार बदलने के बाद इनके जानें का इंतजार है।   

पिछले 2 वर्षों में कई दर्जन कर्मचारी कराए तबादला 

-इस IAS ऑफिसर ने सीतापुर आते ही सरकारी विभागों का रंग-रुप ही बदल डाला। 

-इनके आने से पहले यहां के सरकारी विभागों में बिना पैरवी और पैसा का कई काम ही नहीं होता था। 

-वहीं अमृत त्रिपाठी के सीतापुर आते ही सरकारी दफ्तरों के कर्मचारियों के रंग-ढंग ही बदल गए। 

-सरकारी विभागों में वर्षों से एक ही कुर्सी पर बैठे करोड़पति बाबुओं को डीएम का यह मिजाज कभी नहीं भाया। 

-जिसकी वजह से चर्चा है कि कई दर्जन कर्मचारी जिला छोड़कर अपना तबादला कराके चलते बने। 

कोई ऐसी योजना नहीं होगी जिसकी जांच नहीं हुई 

-अमृत त्रिपाठी ने राज्य सरकार और केंद्र सरकार के द्वारा चलाए जा रहे सभी योजनाओं की दो सालों में जांच करवा दी। 

-चाहे वे मनरेगा क्षेत्र पंचायत में फैले अरबों रुपयों के भ्रष्टाचार का मामला हो या फिर 14वें व चतुर्थ राज्य वित्त का।

-या फिर जननी सुरक्षा योजना के करोंड़ों के बजट का या फिर किसानों को समय से पानी, खाद्य, यूरिया न मिलने का।

-या फिर आरईएस विभाग से पास हुए फर्जी स्टीमेटों का। 

सीतापुर के लोगों के चहेते है डीएम साहब 

-2008 बैच के IAS ऑफिसर अमृत त्रिपाठी द्वारा विगत 2 वर्षों में काफी ऐसे कार्यों को अंजाम दिए।

-जिसकी वजह से सीतापुर जिले की जनता ने उनके कार्यों की काफी सराहना भी की है।

-विधानसभा चुनाव में प्रदेश में सीतापुर मतदान प्रतिशत में नंबर एक पर था। 

-पौराणिक तीर्थ नैमिषारण्य को जमीनी स्तर पर विकास करने और उसकी शोभा बढ़ने। नैमिष में विश्व प्रसिद्द चक्र तीर्थ में रोजाना शाम आरती कराने विगत 2 वर्षों में ऐसे कई ऐतिहासिक कार्य डीएम अमृत त्रिपाठी द्वारा किये गए जिससे सीतापुर समेत पड़ोसी जिलों की जनता ने उनके कार्यों को सराहा।

DM की कार्रवाई BJP वालों को भी रास नहीं आ रही है   

-प्रदेश में नई सरकार आने के बाद भी डीएम सीतापुर का अवैध टैम्पो स्टैंडों का बंद करवाना।

-और ओवर लोडिंग गाड़ियों का चालान कटवाना भाजपाइयों को भी रास नहीं आ रहा है। 

-क्योंकि प्रदेश में सरकार बदलने के बाद जिले के सभी अवैध ठेकों का और ठेकेदारों का चेहरा बदल गया है।

-जिसकी वजह से ठेकेदारों ने अपने-अपने राजनैतिक आकाओं के दरबार में डीएम को हटवाने की पेशकश कर दी है।

 

संबंधित समाचार

:
:
: